कंपनियों का सरकार से सवाल सैलरी देने के लिए पैसे कहां से लाएं, जब ठप पड़ा है कारोबार

कंपनियों का सरकार से सवाल सैलरी देने के लिए पैसे कहां से लाएं, जब ठप पड़ा है कारोबार
बड़ी इंडस्ट्रीज हो या छोटे कारोबारी, फिलहाल इनके हालात लगभग एक जैसे हैं. सरकार ने कहा है कि लॉकडाउन के कारण अगर काम बंद है तो भी किसी की सैलरी नहीं रोकी जाएगी.

बड़ी इंडस्ट्रीज हो या छोटे कारोबारी, फिलहाल इनके हालात लगभग एक जैसे हैं. सरकार ने कहा है कि लॉकडाउन के कारण अगर काम बंद है तो भी किसी की सैलरी नहीं रोकी जाएगी.

  • Share this:
नई दिल्ली. बड़ी इंडस्ट्रीज हो या छोटे कारोबारी, फिलहाल इनके हालात लगभग एक जैसे हैं. सरकार ने कहा है कि लॉकडाउन के कारण अगर काम बंद है तो भी किसी की सैलरी नहीं रोकी जाएगी. लेकिन कंपनियों की मुश्किल है कि वो सैलरी के लिए पैसे कहां से ला पाएंगी. कोरोनावायरस के बढ़ते संक्रमण और लॉकडाउन के कारण पिछले कुछ समय से कंपनियों की आमदनी ज़ीरो हो गई है.

इंडस्ट्री लगातार यह कह रही है कि उन्हें आर्थिक मदद की जरूरत है. इकोनॉमिक टाइम्स के मुताबिक इंडस्ट्री की जानकारी रखने वाले लोगों का कहना है कि लेबर मिनिस्ट्री अनएंप्लॉयमेंट बेनेफिट बढ़ाने की तैयारी में है. साथ ही इंडस्ट्री यह भी पूछ रही है कि सरकार ने सैलरी को लेकर जो निर्देश दिए हैं क्या उसके पीछे कोई कानूनी वैधता है. उदाहरण के तौर पर डिजास्टर मैनेजमेंट एक्ट के तहत ऐसी कोई कानूनी वैधता नहीं है.

ये भी पढ़ें: इस कोरोना के संकट में आप कितना पैसा निकाल सकते हैं अपने PF खाते से, यहां जानें



लॉकडाउन के कारण मजदूरों की कमी है. ऐसे में सरकार का कहना है कि कोई काम नहीं चल रहा है तो भी मजदूरों का वेतन रोका ना जाए. कुछ प्रोडक्ट कैटेगरी में लेबर की कमी होने के कारण सप्लाई भी डिस्टर्ब हो गई है. सरकार के इस निर्देश पर ज्यादातर कंपनियों का कहना है कि इस संकट में उनपर दोहरी मार पड़ रही है. एकतरफ उनका काम बंद है दूसरी तरफ मजदूरों की सैलरी देने का बोझ. ऐसे में कंपनियां यह पूछ रही है कि उन्हें सैलरी देने के लिए पैसे कहां से आएंगे.



ये भी पढ़ें: ICICI बैंक ग्राहकों के लिए बुरी खबर! इस खाते में रखे पैसों पर कम मिलेगा ब्याज
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज

corona virus btn
corona virus btn
Loading