लाइव टीवी

रेलवे के साथ मिलकर ये कंपनी करती है करोड़ों की कमाई, फ्री में देती है ये सेवाएं

News18Hindi
Updated: December 11, 2019, 11:31 AM IST

RailYatri ऐप को 2014 में लॉन्च किया गया और 2016 तक इसके निवेशकों में आईटी कंपनी इंफोसिस (Infosys) के चेयरमैन नंदन नीलकेणी भी शामिल हो गए.

  • News18Hindi
  • Last Updated: December 11, 2019, 11:31 AM IST
  • Share this:
नई दिल्ली. एक ऐसा ऐप जो आपकी रेलयात्रा से जुड़ी सारी जरूरतों को एक दोस्त की तरह पूरा करे. करोड़ो यूजर्स के साथ नोएडा की रेलयात्री ऐप मोबिलिटी के लिए सबसे सफल ऐप्स में अपना स्थान बना लिया है. पीएनआर स्टेटस (PNR Status) से लेकर रनिंग ट्रेन स्टेटस (Running Train Status), ट्रेन टिकट की बुकिंग (Train Ticket Booking) से लेकर आपका टिकट कंफर्म (Ticket Confirmation) होने का अनुमान और ट्रेन का रिकॉर्ड अच्छा है या बुरा, सब कुछ इस एक ऐप रेलयात्री (RailYatri) पर आपको मिल जाएंगे.

ट्रेन में अगर आपको हाइजिनिक क्वालिटी का खाना चाहिए वो भी आप इस ऐप से बुक करा सकते हैं . RailYatri ने चीजों को इतना आसान बना दिया है कि यह रेल से यात्रा करने वालों के बीच सबसे लोकप्रिय ऐप बन चुका है. रेलयात्री करीब 3 करोड़ से अधिक यात्रियों के भरोसे का साथी है. मनीष राठी और उनके साथियों को लगा कि जहां एक तरफ मास मोबिलिटी को आसान बनाने के लिए कई ऐप्स आ गए हैं, रेल यात्रा को आसान बनाने की संभावना काफी बची है.

ये भी पढ़ें: बड़ी खबर! 1 फरवरी से महंगा हो सकता है ट्रेन का सफर, 20 फीसदी तक बढ़ सकता है किराया

20 शहरों में स्मार्ट बस सर्विस मौजूद

RailYatri ऐप यात्रियों को कई ऐसी सुविधाएं देते हैं, जो उनका पैसा व समय बचाने और यात्रा के लिए सही फैसले लेने में मदद करती हैं. लेकिन फिर भी अगर आपकी टिकट बुक नहीं हो पाई है तो आप रेलयात्री के स्मार्ट बसों का भी इस्तमाल कर सकते हैं. फिलहाल करीब 20 शहरों में ये बस सेवा मौजूद है. ये बस काफी हाईएंड हैं और लंबी यात्रा के लिए बने हैं.

इंफोसिस के चेयरमैन ने RailYatri में किया निवेश
ऐप को 2014 में लॉन्च किया गया और 2016 तक इसके निवेशकों में आईटी कंपनी इंफोसिस (Infosys) के चेयरमैन नंदन नीलकेणी भी शामिल हो गए. अब तक इसे कई अवार्ड्स मिल चुके हैं जिसमें कंपनी की ग्रोथ हर साल 400% की रही है और करीब 2 करोड़ लोग इसे हर महीने इस्तमाल करते हैं.कंपनी की अधिकतर सेवाएं मुफ्त हैं लेकिन विशेष सेवाओं और कमिशन इसके रेवेन्यू का मुख्य स्रोत है. कंपनी का रेवेन्यू करीब 7 मिलियन डॉलर सालाना है. अगले साल तक यह 20 मिलियन डॉलर के लक्ष्य को पूरा करना चाहती है.

(रोहन सिंह, संवाददाता- CNBC आवाज़)

ये भी पढ़ें: 
2000 रुपये का नोट बंद करने को लेकर सरकार ने संसद में दिया बड़ा बयान!
GST रेट्स बढ़ाने की तैयारी में सरकार, महंगी हो जाएंगी ये चीजें

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए मनी से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: December 11, 2019, 7:03 AM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर