इन्फोसिस फाउंडर के दामाद समेत इन तीन भारतीयों को मिली यूके पीएम की टीम में जगह

ब्रिटेन के नए प्रधानमंत्री ने ब्रेक्जिट की समर्थक प्रीति पटेल को अपनी सरकार में गृह मंत्री का पद दिया है. वहीं, इन्फोसिस के फाउंडर नारायण मूर्ति के दामाद ऋषि सुनक को ट्रेजरी मुख्य सचिव बनाया गया है

News18Hindi
Updated: July 25, 2019, 12:07 PM IST
इन्फोसिस फाउंडर के दामाद समेत इन तीन भारतीयों को मिली यूके पीएम की टीम में जगह
इन्फोसिस फाउंडर नारायण मूर्ति के दामाद ऋषि सुनक को ट्रेजरी मुख्य सचिव बनाया गया है
News18Hindi
Updated: July 25, 2019, 12:07 PM IST
बोरिस जॉनसन बुधवार को औपचारिक तौर पर ब्रिटेन के नए प्रधानमंत्री बन गए है. उनकी टीम में भारतीय मूल के कई सांसदों को बड़ी जिम्मेदारियां मिली है. खासकर ब्रेक्जिट की समर्थक प्रीति पटेल को सरकार में गृह मंत्री का पद मिला है. वहीं, इन्फोसिस फाउंडर नारायण मूर्ति के दामाद ऋषि सुनक को ट्रेजरी मुख्य सचिव बनाया गया है. फिलहाल वो सरकार में जूनियर मंत्री हैं. उनके पास सोशल केयर समेत कई जिम्मेदारियां हैं. ऋषि ऑक्सफोर्ड से पढ़ें हैं. उनके पिता डॉक्टर थे और मां एक दवाइयों की दुकान चलाती थीं. ऋषि सुनक रिचमंड से सांसद हैं. आपको बता दें कि वित्त मंत्री के पद पर एक पाकिस्तानी को जगह मिली है.

आलोक शर्मा- बोरिस जॉनसन की टीम में भारतीय मूल के सांसद आलोक शर्मा को भी जगह मिली है. उन्हें अंतरराष्ट्रीय विकास राज्य मंत्री बनाया गया है. मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक, आलोक शर्मा का जन्म उत्तर प्रदेश के आगरा शहर में हुआ था, लेकिन वो पांच साल की उम्र में अपने माता-पिता के साथ ब्रिटेन आ गए थे.

ये भी पढ़ें-टैक्स नहीं भरने वालों पर होगी सख्त कार्रवाई: FM

यूके पीएम ने आलोक शर्मा को अंतरराष्ट्रीय विकास राज्य मंत्री बनाया है.


वह एक चार्टर्ड अकाउंटेंट हैं और राजनीति में आने से पहले 16 साल तक बैंकिंग सेक्टर में काम कर चुके हैं. आलोक शर्मा 2010 से रीडिंग वेस्ट के सांसद हैं. जून 2017 में शर्मा को हाउसिंग मिनिस्टर बनाया गया था और उनके कार्यकाल के दौरान ग्रीनफेल टावर में आग लगने की दुर्घटना हुई थी.

एक पाकिस्तानी बने वित्त मंत्री- साजिद जाविद को वित्त मंत्री बनाया गया है. इससे पहली सरकार में ये अल्पसंख्यक समुदाय से आने वाले गृहमंत्री थे. साल 2010 से ब्रूम्सग्रोव से सांसद हैं. उनका जन्म रॉकडेल में एक पाकिस्तानी परिवार में हुआ.

साजिद जाविद को वित्त मंत्री बनाया गया है.

Loading...

उन्होंने स्कूली पढ़ाई ब्रिस्टल से की जहां उनके परिवार ने महिलाओं के कपड़ों की एक दुकान ख़रीदी थी. इसी दुकान के ऊपर बने दो कमरों के फ्लैट में उनका परिवार रहता था. स्कूली पढ़ाई के दौरान ही उनकी रुचि बैंक और निवेश में हो गई थी.

उन्होंने 14 साल की उम्र में ही अपने पिता की बैंक के मैनेजर से मुलाक़ात की और पांच सौ पाउंड उधार ले लिए. ये रकम उन्होंने शेयरों में निवेश कर दी. आगे चलकर कम उम्र में ही उन्होंने बैंकिंग क्षेत्र में बड़ी कामयाबियां हासिल कीं.

ये भी पढ़ें-प्राइवेट कंपनी में लोगों की सैलरी इस साल डबल-डिजिट में बढ़ेगी

 
First published: July 25, 2019, 11:12 AM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...