एक जुलाई से सभी इंश्‍योरेंस प्रीमियम के साथ बैकिंग सर्विस भी हो जाएगी और महंगी

एक जुलाई से सभी इंश्‍योरेंस प्रीमियम के साथ बैकिंग सर्विस भी हो जाएगी और महंगी

  • Last Updated: June 1, 2017, 9:34 AM IST
  • Share this:
एक जुलाई से जीएसटी लागू होने के साथ ही लाइफ, हेल्‍थ और जनरल इंश्‍योरेंस के साथ ही बैंकिंग सर्विसेज भी आपके लिए महंगी हो जाएंगी. जीएसटी के कारण फाइनेंशियल सर्विसेज पर सर्विस चार्ज 15 फीसदी से बढ़कर 18 फीसदी होने जा रहा है. चूंकि इन मामलों में इनपुट टैक्‍स क्रेडिट की पूरी तस्‍वीर साफ नहीं है, ऐसे में इन सेवाओं का महंगा होना लगभग तय माना जा रहा है. वैसे भी पिछले दिनों एसबीआई समेत अधिकांश बैंकों ने कैश विद्ड्रॉल समेत सभी तरह की सर्विस पर चार्जेंज बढ़ा दिए हैं. इस तरह आप पर दोहरी मार पड़ने जा रही है.

इंश्‍योरेंस पर इस तरह होगा असर
लाइफ इंश्‍योरेंस प्रोडक्‍ट्स मुख्‍य रूप से तीन तरह के होते हैं- टर्म इंश्‍योरेंस प्‍लान, यूलिप्‍स और एंडोमेंट्स (मनी बैक समेत). सभी के प्रीमियम पर सर्विस टैक्‍स एक जैसा नहीं है. लाइफ इंश्‍योरेंस पॉलिसी के दो हिस्‍से होते हैं- रिस्‍क कवरेज और सेविंग्‍स. सर्विस टैक्‍स प्रीमियम के सिर्फ रिस्‍क वाले हिस्‍से पर लगता है, न कि सेविंग वाले हिस्‍से पर.

यूलिप पर कम होगा असर
एक जुलाई के बाद यूलिप पर तो कम असर होगा, लेकिन बाकी सभी पॉलिसियां जैसे- टर्म इंश्‍योरेंस, हेल्‍थ इंश्‍योरेंस, राइडर प्रीमियम, कार इंश्‍योरेंस पर सर्विस टैक्‍स बढ़कर 15 से 18 फीसदी हो जाएगा. साफ तौर पर इनके लिए आपको तब अधिक प्रीमियम चुकाने होंगे. यूलिप में चूंकि इन्‍वेस्‍टमेंट का भी पार्ट होता है, इसलिए उस पर आपको टैक्‍स नहीं देना होता है. इसलिए असर इस पर असर कम होगा.



10 हजार के प्रीमियम पर 300 रुपए बढ़ जाएगा चार्ज
उदाहरण के लिए अगर इस समय अगर आपका प्रीमियम 10 हजार रुपए है तो आप सर्विस टैक्‍स मिलाकर 11,500 रुपए देते हैं. एक जुलाई के बाद यह बढ़कर 11,800 रुपए हो जाएगा. यानी 300 रुपए बढ़ जाएगा.

बैंकिंग सेवाओं पर दोहरी मार
बैंकिंग ट्रांजेक्‍शन की फीस भी 15 से बढ़कर 18 फीसदी हो जाएगी. यानी हर 100 रुपए पर आपको 3 रुपए अधिक देने होंगे. वैसे भी पिछले दिनों एसबीआई समेत अधिकांश बैंकों ने कैश विद्ड्रॉल समेत सभी तरह की सर्विस पर चार्जेंज बढ़ा दिए हैं. इससे बैंकिंग सेवाओं के मामले में आप पर दोहरी मार पड़ने जा रही है.

 

 

 
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज