होम /न्यूज /व्यवसाय /

Insurance Policy: गहने चोरी होने पर नहीं होगा नुकसान, बैंक लॉकर से चोरी होने पर भी मिलेगा पैसा

Insurance Policy: गहने चोरी होने पर नहीं होगा नुकसान, बैंक लॉकर से चोरी होने पर भी मिलेगा पैसा

इंश्योरेंस पॉलिसी लेने से पहले गहनों का मार्केट वैल्युएशन के बारे में जानकारी हासिल कर लेनी चाहिए.

इंश्योरेंस पॉलिसी लेने से पहले गहनों का मार्केट वैल्युएशन के बारे में जानकारी हासिल कर लेनी चाहिए.

गहनों पर इंश्योरेंस कवर लेकर इनकी चोरी और गायब होने की टेंशन से छुटकारा पा सकते हैं. अगर आपको गहनों की पूरी सुरक्षा चाहिए तो कंपनी की स्‍टैंडअलोन ज्वेलरी इंश्योरेंस पॉलिसी ले सकते हैं.

  • News18Hindi
  • Last Updated :

नई दिल्ली. अगर आपके पास कीमती गहने होते हैं और हमेशा डर बना रहता है कि गहने सुरक्षित हैं या नहीं. ऐसे में बहुत सारे लोग बैंक के लॉकर में अपनी महंगे गहने रखते हैं. लोग बैंक लॉकर को घर के मुकाबले ज्यादा सुरक्षित मानते हैं. हालांकि लॉकर में से सामान चोरी हो जाने पर बैंक इसकी गारंटी नहीं देते हैं. बैंकों का कहना होता है कि उसे लॉकर में रखे सामान की जानकारी नहीं होने की वजह से गारंटी नहीं दे सकता है.

होम इंश्योरेंस पॉलिसी और स्‍टैंड-अलोन ज्वेलरी पॉलिसी
ऐसे में महंगे गहनों का आप इंश्योरेंस करा सकते हैं और बैंक लॉकर से गहनों के चोरी होने पर भी पॉलिसी के जरिए इसकी भरपाई हो जाती है. इंश्योरेंस कंपनियां ज्वेलरी की सुरक्षा को लेकर 2 तरह की स्कीम मुहैया कराती हैं. एक होम इंश्योरेंस पॉलिसी है और दूसरी स्‍टैंड-अलोन ज्वेलरी पॉलिसी है. होम इंश्योरेंस पॉलिसी में घर में रखे गहने पर सुरक्षा दी जाती है. वहीं गहने चोरी होने की स्थिति में पूरा पैसा नहीं मिल पाता है. अगर आपको गहनों की पूरी सुरक्षा चाहिए तो कंपनी की स्‍टैंडअलोन ज्वेलरी इंश्योरेंस पॉलिसी ले सकते हैं.

ये भी पढ़ें- Gold Price Today: 50 हजार के पार हुआ सोना, चांदी में ₹558 का उछाल, चेक करें लेटेस्ट रेट्स

10 लाख रुपये तक के गहनों पर करीब 1000 रुपये तक प्रीमियम
स्‍टैंडअलोन ज्वेलरी इंश्योरेंस पॉलिसी में 10 लाख रुपये तक के गहनों पर करीब 1000 रुपये तक हर महीने का प्रीमियम जमा करना होगा. इससे गहनों के चोरी या गायब होने की स्थिति में आपको गहनों के बराबर पूरे पैसे मिलेंगे.

गहनों का मार्केट वैल्युएशन के बारे में जानकारी जरूरी
इंश्योरेंस पॉलिसी लेने से पहले गहनों का मार्केट वैल्युएशन के बारे में जानकारी हासिल कर लेनी चाहिए. कभी-कभी ऐसा होता है कि इंश्योरेंस कंपनी बीमा क्लेम करते समय गहनों की कीमत कम लगा देती है. किसी पॉलिसी को लेने से पहले कंपनी के रिफंड नियमों को जान लेना चाहिए. स्‍टैंडअलोन ज्वेलरी इंश्योरेंस पॉलिसी लेते समय प्राकृतिक आपदा वाले सेक्शन पर खासा ध्यान रखना चाहिए.

Tags: Gold, Insurance

अगली ख़बर