होम /न्यूज /व्यवसाय /काम की बात: ब्याज दरें बढ़ रही हैं और सोना सस्ता हो रहा है, इससे गोल्‍ड लोन लेने वालों को फायदा या नुकसान?

काम की बात: ब्याज दरें बढ़ रही हैं और सोना सस्ता हो रहा है, इससे गोल्‍ड लोन लेने वालों को फायदा या नुकसान?

सोने के भाव में गिरावट और ब्याज दरों में बढ़ोतरी से बढ़ी गोल्ड लोन लेने वाले ग्राहकों की चिंता

सोने के भाव में गिरावट और ब्याज दरों में बढ़ोतरी से बढ़ी गोल्ड लोन लेने वाले ग्राहकों की चिंता

Gold Loan & Interest Rate: ब्याज दरों में बढ़ोतरी और सोने के भाव में गिरावट से गोल्ड लोन लेने वाले ग्राहकों को दो मोर्च ...अधिक पढ़ें

  • News18Hindi
  • Last Updated :

हाइलाइट्स

सोने के भाव में गिरावट से गोल्ड लोन लेने वाले मौजूदा ग्राहकों पर असर होगा.
ब्याज दरों में बढ़ोतरी के बाद गोल्ड और महंगा होने की संभावना है.
कमजोर वैश्विक संकेतों के कारण गोल्ड के प्राइस में गिरावट जारी है.

मुंबई. डॉलर की मजबूती और दुनियाभर में ब्याज दरों में बढ़ोतरी के कारण सोने का भाव गिर रहा है. येलो मेटल के प्राइस में इस गिरावट के कारण गोल्ड लोन ले चुके ग्राहकों और लेने वाले लोगों पर बड़ा असर पड़ सकता है. दरसअल ब्याज दरों में बढ़ोतरी और सोने के भाव में गिरावट से ग्राहकों को दो मोर्चों पर नुकसान उठाना पड़ सकता है. इंटरेस्ट रेट बढ़ा तो गोल्ड लोन महंगा होगा, वहीं सोने का भाव गिरने से बैंक मौजूदा ग्राहकों से कॉलेटरल मांगेंगे.

भारतीय बाजार में भी सोने और चांदी की कीमतों में गिरावट देखने को मिली. मल्‍टी कमोडिटी एक्‍सचेंज (MCX)पर सोने का भाव (Gold Rate Today) शुरुआती कारोबार में 0.24 फीसदी तक गिर गया. वहीं चांदी (Silver Rate Today) का रेट भी आज 0.73 प्रतिशत तक टूटा. इस गिरावट के साथ ही सोने का भाव अब दो साल के निचले स्‍तर पर है.

RBI के ऐलान से महंगा होगा लोन?
30 सितंबर को आरबीआई मॉनेटरी पॉलिसी का ऐलान करेगा. उम्मीद लगाई जा रही है कि अपने चौथे रेट हाइक में रिजर्व बैंक 35-50 बेसिस प्वाइंट की बढ़ोतरी कर सकता है. आम तौर पर जब आरबीआई रेपो दर में बढ़ोतरी करता है तो बैंक और एनबीएफसी महंगी दर पर कर्ज मिलता है इसलिए ये वित्तीय संस्थाएं लोन महंगा कर देती हैं. मई के बाद से इन वित्तीय संस्थानों ने रेपो दर वृद्धि के अनुसार ब्याज दरों में बढ़ोतरी की है.

Gold Price Today- ग्‍लोबल मार्केट के दबाव से सोना दो साल में सबसे सस्‍ता, चांदी भी टूटी, चेक करें लेटेस्‍ट रेट

अगर आरबीआई रेपो रेट फिर बढ़ाता है तो बैंक भी इंटरेस्ट रेट बढ़ाएंगे और इसका असर व्यापक रूप से गोल्ड लोन पर पड़ने की संभावना है. पिछली तीन पॉलिसी में आरबीआई ने रेपो दर में 140 बेसिस प्वाइंट या 1.4% की बढ़ोतरी की है. फिलहाल रेपो रेट की दर 5.4 फीसदी है.

LAV घटने से बैंक मांगेंगे अतिरिक्त गोल्ड

गोल्ड लोन देने वाले बैंक और एनबीएफसी हमेशा गोल्ड की कुल कीमत पर 60-70 फीसदी तक लोन देते हैं. यानी आपके द्वारा गिरवी रखे गोल्ड की कीमत 1 लाख रुपए है तो बैंक आपको 60 से 70 हजार तक का लोन देता है. दरअसल 30 से 40 प्रतिशत की रकम वित्तीय संस्थाएं सिक्योरिटी के तौर पर रखती हैं. इसलिए अगर आप गोल्ड लोन के मौजूदा ग्राहक हैं और सोने की कीमत घट रही है तो बैंक आपसे  तिरिक्त गोल्ड की मांग कर सकता है.

मान लीजिये आपने जब गोल्ड लोन लिया था उस वक्त सोने का भाव 55 हजार था लेकिन अब यह भाव 50000 के आसपास है यानी आपके गोल्ड की कीमत कम हुई है. इस अंतर की पूर्ति के लिए बैंक आपसे अतिरिक्त रकम गिरवी रखने को कह सकता है.

Gold Price- सोने का भाव घटेगा या बढ़ेगा? त्यौहारी मौसम से पहले खरीदारी का है अच्छा मौका, एडवांस बुकिंग शुरू

वहीं कमोडिटी मार्केट से जुड़े जानकारों का कहना है कि दुनियाभर के सेंट्रल बैंक द्वारा ब्याज दरों में बढ़ोतरी और डॉलर की मजबूती की वजह से कम अवधि में सोने के भाव में गिरावट देखने को मिल सकती है.

Tags: 24 carat gold price, Gold Loan, Gold Rate Today, Rbi policy

टॉप स्टोरीज
अधिक पढ़ें