शेयर मार्केट में करते हैं Intraday Trading तो हो जाएं सावधान! SEBI के आज से लागू हुए नियमों से पड़ेगा ये असर

SEBI ने फिक्स की इंवेस्मेंट की लिमिट

SEBI ने फिक्स की इंवेस्मेंट की लिमिट

SEBI new peak margin: आज से सिक्योरिटी एंड एक्सजेंस बोर्ड ऑफ इंडिया (SEBI) के पीक मार्जिन के नियम (Peak Margin rules) बदल गए हैं. आज से नया पीक मार्जिन दोगुना बढ़कर 50 प्रतिशत हो गया. यह पहले 25 प्रतिशत था.

  • Share this:
नई दिल्ली. अगर आप शेयर मार्केट (Share Market) में पैसा लगाते हैं तो आपके लिए बेहद जरूरी खबर है. बता दें कि आज से सिक्योरिटी एंड एक्सजेंस बोर्ड ऑफ इंडिया (SEBI) के पीक मार्जिन के नियम (Peak Margin rules) बदल गए हैं. आज से नया पीक मार्जिन दोगुना बढ़कर 50 प्रतिशत हो गया. इससे पहले 25 प्रतिशत पीक मार्जिन लगाए गए थे. पीक मार्जिन के आज से बदले नियम इंट्राडे, डिलीवरी और डेरिवेटिव जैसे सभी सेगमेंट में लागू होंगे. चार में से सबसे ज्यादा मार्जिन को पीक मार्जिन माना जाएगा.

1 मार्च से सेबी का नया नियम लागू
यानी की अब दिनभर (IntraDay trading) में जो ट्रेड्स होंगे उस पर ज्यादा मार्जिन होगा. क्लीयरिगं कॉर्पोरेशन उसके चार स्क्रीन शॉर्ट लेगा. यानी कि चार बार यह देखेगा कि दिन में जो ट्रेड हुए उसमें मार्जिन कितने हैं. उसके आधार पर दो सबसे ज्यादा मार्जिन होगा, उसका कैलकुलेशन करेगा और निवेशकों को उसका कम से कम 50 प्रतिशत मार्जिन रखना होगा. अगर आपने नहीं रखा तो आपको इसके एवज में पेनाल्टी लगेगी. इससे पहले 25 प्रतिशत मार्जिन नहीं रखने पर पैनाल्टी लगती थी. अब 1 मार्च से नए नियम लागू हो गए हैं.

Youtube Video

ये भी पढें- New Tour Package: मार्च में है घूमने की प्लानिंग! तो जान लें IRCTC के इस सस्ते टूर पैकेज के बारे में? रहेंगे फायदे में 



अगला पीक मार्जिन जून में आएगा
यह पीक मार्जिन दूसरा फेज है. पहला फेज दिसंबर 2020 में आया था. अब मीडिया रिपोर्ट के मुताबिक, पीक मार्जिन का तीसरा फेज इस साल जून में आएगा. जिसमें निवेशकों को कम से कम 75 प्रतिशत मार्जिन कम से कम रखना होगा. इसके बाद फिर सितंबर से पूरा 100 प्रतिशत रखना होगा.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज