होम /न्यूज /व्यवसाय /निवेश का मौका! सरकार ने लांच किया भारत बांड ETF की चौथी किस्त, आप कैसे लगा सकते हैं पैसा?

निवेश का मौका! सरकार ने लांच किया भारत बांड ETF की चौथी किस्त, आप कैसे लगा सकते हैं पैसा?

ईटीएफ की नयी पेशकश 2 दिसंबर को खुलेगी और 8 दिसंबर को बंद होगी.

ईटीएफ की नयी पेशकश 2 दिसंबर को खुलेगी और 8 दिसंबर को बंद होगी.

सरकार ने शुक्रवार को भारत बांड ईटीएफ की चौथी किस्त (4th tranche of Bharat Bond ETF) पेश कर दी है. यह भारत का पहला कॉरपो ...अधिक पढ़ें

हाइलाइट्स

यह पेशकश 2 दिसंबर को खुलकर 8 दिसंबर को बंद होगी.
इसकी रकम का इस्‍तेमाल पूंजीगत कार्यों में किया जाएगा.
पिछली 3 किस्‍तों का रिटर्न अभी तक 2 से 4 फीसदी रहा है.

नई दिल्ली. सरकार ने शुक्रवार को भारत बांड ईटीएफ की चौथी किस्त (4th tranche of Bharat Bond ETF) पेश कर दी है. यह भारत का पहला कॉरपोरेट बांड है, जिसकी खरीद-फरोख्त एक्सचेंज में की जाती है. यह पेशकश 2 दिसंबर को खुलकर 8 दिसंबर को बंद होगी. इसके जरिए जुटाई गई धनराशि का इस्तेमाल केंद्रीय सार्वजनिक क्षेत्र के उद्यमों (सीपीएसई) द्वारा पूंजीगत व्यय के लिए किया जाएगा.

यह नया भारत बांड ईटीएफ और भारत ‘बांड फंड ऑफ फंड’ (एफओएफ) श्रृंखला अप्रैल 2033 में मेच्‍योर होगी. ‘फंड ऑफ फंड’ ऐसा निवेश कोष है, जिसके जरिये निवेश दूसरे कोष में किया जाता है.

ये भी पढ़ें: Digital Rupee : RBI ने लॉन्च किया डिजिटल रुपया, जानिए कहां से और कैसे मिलेगा, क्या होगा फायदा

मिलेगा ग्रीन शू विकल्प
चौथी किस्त के तहत सरकार ने 4,000 करोड़ रुपये के ग्रीन शू विकल्प यानी अधिक बोली आने पर उसे रखने के विकल्प के साथ 1,000 करोड़ रुपये की प्रारंभिक राशि जुटाने का प्रस्ताव रखा है. पिछले साल दिसंबर में सरकार ने 1,000 करोड़ रुपये की प्रारंभिक निर्गम राशि के साथ तीसरी किस्त जारी की थी. इस निर्गम को 6.2 गुना अभिदान मिला था.

निवेशकों से मिला अच्छा रिस्पॉन्स
वित्त मंत्रालय के तहत आने वाले निवेश एवं लोक संपत्ति प्रबंधन विभाग (दीपम) के सचिव तुहिन कांत पांडेय ने कहा कि भारत बांड ईटीएफ की शुरुआत के बाद से इसे सभी श्रेणियों के निवेशकों से उत्साहजनक प्रतिक्रिया मिली है. भारत बांड ईटीएफ केवल सार्वजनिक क्षेत्र की कंपनियों के ‘एएए’ रेटिंग वाले बांड में निवेश करता है.

ये भी पढ़ें: GST Collection: नवंबर में 11 फीसदी बढ़ा जीएसटी कलेक्शन, खजाने में आए 1.45 लाख करोड़ रुपये

2019 में आया था पहला बॉन्ड ईटीएफ
वर्ष 2019 में बॉन्ड ईटीएफ की पहली पेशकश की गई थी. सीपीएसई को इसके जरिये 12,400 करोड़ रुपये जुटाने में मदद मिली. इसने दूसरे और तीसरे चरण में क्रमश: 11,000 करोड़ रुपये और 6,200 करोड़ रुपये जुटाए थे. ईटीएफ ने अबतक अपनी तीन पेशकशों में 29,600 करोड़ रुपये जुटाए हैं. अभी तक जारी 3 ईटीएफ का रिटर्न 2 से 4 फीसदी ही रहा है.

कैसे करें निवेश   
भारत बॉन्ड ईटीएफ में निवेश करने के लिए आपके पास डीमैट अकाउंट होना जरूरी है. इसके लिए आपको अपने broker के जरिये अप्‍लाई करना होगा. आप चाहें तो एडलवीज के जरिये भी निवेश कर सकते हैं. खुदरा निवेशकों को यह बांड खरीदने के लिए कम से कम 1,001 रुपये का निवेश करना होगा, जबकि संस्‍थागत निवेशकों को 2,00,001 रुपये का न्‍यूनतम निवेश करना जरूरी होगा.

Tags: Business news in hindi, ETF, Gold ETF, Mutual fund, Sovereign gold bond

विज्ञापन

टॉप स्टोरीज

अधिक पढ़ें