होम /न्यूज /व्यवसाय /Gold: सोने में निवेश करने का क्या है सही समय? जानिए क्या कहते हैं एक्सपर्ट?

Gold: सोने में निवेश करने का क्या है सही समय? जानिए क्या कहते हैं एक्सपर्ट?

भारतीय वायदा बाजार में सोने और चांदी के भाव लाल निशान में ही ट्रेड कर रहे हैं.

भारतीय वायदा बाजार में सोने और चांदी के भाव लाल निशान में ही ट्रेड कर रहे हैं.

वर्तमान में ग्लोबल करेंसी मार्केट में भारी उतार-चढ़ाव का दौर जारी है. डॉलर अपने दो दशकों सबसे ऊंचे स्तर पर है. क्या यह ...अधिक पढ़ें

  • News18Hindi
  • Last Updated :

हाइलाइट्स

ज्यादातर इमर्जिंग मार्केट्स के बॉन्ड्स की कीमत भी घट रही है.
वर्तमान में ग्लोबल करेंसी मार्केट में भारी उतार-चढ़ाव का दौर जारी है.
डॉलर अपने दो दशकों सबसे ऊंचे स्तर पर है. दूसरी करेंसी निचले स्तर पर हैं.

नई दिल्ली. बीते एक महीने में ज्यादातर विकसित देशों की बॉन्ड यील्ड्स जुड़े पोर्टफोलियो को बड़ा झटका लगा है. यहां तक कि ज्यादातर इमर्जिंग मार्केट्स के बॉन्ड्स की कीमत भी घट रही है. वर्तमान में ग्लोबल करेंसी मार्केट में भारी उतार-चढ़ाव का दौर जारी है. डॉलर अपने दो दशकों सबसे ऊंचे स्तर पर है. दूसरी तरफ जापान की येन, यूरो और पाउंड दशकों के निचले स्तर पर चली गई हैं. ब्याज दरें आसमान छू रही हैं. कमोडिटी मार्केट का डिमांड आउटलुक कमजोर बना हुआ है.

ऐसे हालात में सवाल खड़ा होता है कि क्या यह सोने में इन्वेस्ट करने का सही वक्त है? ऐसे समय में गोल्ड में इन्वेस्ट के लिए सही स्ट्रेटजी क्या होनी चाहिए. इक्वल इंडिया फाउंडेशन के डायरेक्टर विजय कुमार गाबा ने मनीकंट्रोल को बताया कि बीते समय में महंगाई, जियोपॉलिटिकल अस्थिरता और युद्ध जैसी आशंकाओं के बीच सोने और चांदी एक सुरक्षित इन्वेस्टमेंट रहा है. हालांकि, ताजा संकट में वास्तव में कीमती धातुओं ने अपना सेफ हैवन का दर्जा खो दिया है.

ये भी पढ़ें-  लाल निशान में ही खुले सोने और चांदी के भाव, अंतरराष्‍ट्रीय बाजार में जोरदार तेजी

10 फीसदी सस्ता हुआ सोना
गाबा ने बताया कि महंगाई के चार दशक के सबसे ऊंचे स्तर पर पहुंचने, चाइना सी में टेंशन, रूस-यूक्रेन युद्ध, मनी डिबेसमेंट यानी बड़े स्तर पर करेंसी की प्रिंटिंग के चलते अंतर्राष्ट्रीय बाजार में सोने की कीमत जनवरी 2021 से अभी तक 10 फीसदी नीचे आ चुकी हैं. डिमांड में कमी, डिजिटल करेंसी से मिल रही चुनौती, ज्यादा सुरक्षा जोखिम और प्रोडक्शन की कॉस्ट में बढ़ोतरी जैसे फैक्टर सोने की कीमत को प्रभावित कर रहे हैं.

ये भी पढ़ें- क्या आप भी लगाते हैं Stock Market में पैसा? जानें टैक्स से जुड़े इन नियमों को

कब निवेश करना होगा सही?
गाबा ने बताया कि कुछ महीने पहले आशंका जाहिर की थी कि पीली धातु अपना आकर्षण गंवा सकती है. अब हालिया ट्रेंड से इस आशंका को काफी मजबूती मिली है. ऐसा कहा जा सकता है कि महामारी के बाद उभरे ग्लोबल बाजार में सोना एक मुख्य कंपोनेंट नहीं हो सकता. उन्होंने आगे बताया कि फिर अगले 12 महीने सोने में निवेश के अच्छे अवसर मिल सकते हैं. अगर सोने में 10 फीसदी की गिरावट आती है तो इसमें निवेश किया जा सकता है.

क्या है आज का भाव?
कुछ दिन से लगातार गिरावट के बाद  इंटरनेशनल मार्केट में गोल्ड और सिल्वर के भाव में आज जोरदार उछाल आया है. हालांकि, भारतीय वायदा बाजार में सोने और चांदी के भाव लाल निशान में ही ट्रेड कर रहे हैं. मल्‍टी कमोडिटी एक्‍सचेंज (MCX) पर सोने का भाव शुरुआती कारोबार में आज 0.20 फीसदी गिर गया है. वहीं, चांदी का रेट भी आज कल के बंद भाव से 0.64 फीसदी नीचे आ गए हैं.

Tags: Business news, Business news in hindi, Gold price, Money Making Tips

विज्ञापन

टॉप स्टोरीज

अधिक पढ़ें