Home /News /business /

बेटी के ​लिए हर महीने यहां बचाएंगे पैसे तो नहीं होगी इनकम टैक्स की चिंता! जानिए कैसे

बेटी के ​लिए हर महीने यहां बचाएंगे पैसे तो नहीं होगी इनकम टैक्स की चिंता! जानिए कैसे

सुकन्या समृ​द्धि योजना

सुकन्या समृ​द्धि योजना

सुकन्या समृ​द्धि योजना (Sukanya Samriddhi Yojna) में निवेश कर टैक्स बचत किया जा सकता है.

    नई दिल्ली. बेटियों का भविष्य वित्तीय रूप से सुरक्षित करने के लिए सुकन्या समृ​द्धि योजना सबसे बेहतर निवेश योजना माना जाता है. इसका सबसे बड़ा कारण है कि यह एक सरकारी स्कीम है और इसमें बेहतर रिटर्न भी मिलता है. हालांकि, पब्लिक प्रोविडेंट फंड की तुलना में देखें तो इस स्कीम में कैपिटल इन्वेस्टमेंट पर अधिक रिटर्न मिलेगा.

    सुकन्या समृद्धि योजना के ​तहत निवेश किए गए रकम पर इनकम टैक्स एक्ट के सेक्शन 80सी के तहत टैक्स छूट की सुविधा मिलती है. इसमें न सिर्फ ब्याज पर ही टैक्स छूट मिलता है, बल्कि मैच्योरिटी के रकम पर भी कोई टैक्स नहीं देना होता है. इसमें निवेश करना ईईई कैटेगरी के टैक्स छूट के दायरे में आता है. लेकिन, बड़ा सवाल है कि बेटियों के लिए इस स्कीम में निवेश करने पर माता/पिता को टैक्स में क्या राहत मिलती है.

    ये भी पढ़ें: GST स्लैब की दरों में होने जा रहा बड़ा बदलाव! महंगी हो जाएंगी ये चीजें

    निवेश पर टैक्स फायदा
    सुकन्या समृद्धि योजना के निवेश करने पर इनकम टैक्स एक्ट के सेक्शन में 80 सी के तहत जो टैक्स छूट मिलता है, वो टैक्स छूट आपको ईपीएफ/जीपीएफ,सीपीएफ/एनपीएस से लेकर पीपीएफ/ईएलएसएस/एनएससी, लाइफ इंंश्योरेंस के प्रीमियम, 5 साल के एफडी, बच्चों के लिए ट्यूशन फीस, होम लोने के रिपेमेंट, स्टैम्प ड्यूटी आदि पर भी​ मिलता है. मौजूदा समय में टैक्स छूट नियमों के ​तहत एक वित्तीय वर्ष में 1.5 लाख रुपये से अधिक की टैक्स छूट नहीं मिलती है. ऐसे में इस योजना के लिए अतिरिक्त टैक्स छूट की कोई गुंजाइश नहीं बचती है.
    ब्याज पर टैक्स छूट का लाभ
    हालांकि, सुकन्या समृ​द्धि योजना बच्ची के माता/पिता द्वारा खोला जाता है, लेकिन इसमें अकाउंट पर हक बेटी का ही होता है, जो 10 साल की उम्र के बाद से ही इस अकाउंट का संचालन कर सकती है. ऐसे में इस योजना के तहत ब्याज पर मिलने वाला टैक्स छूट बेटी के लिए ही होता है. आमतौर पर बेटियों को इस उम्र तक कोई टैक्स देयता नहीं बनती है.

    ये भी पढ़ें: तंगी से गुजर रहे पाकिस्तान ने अपना खाली खजाना भरने के लिए बनाया नया प्लान, जानिए कहां से जुटाएगा अब फंड

    मैच्योरिटी पर टैक्स छूट का फायदा
    18 साल की उम्र के बाद बेटी की उच्च शिक्षा के लिए 50 फीसदी तक रकम को इस अकाउंट से निकाला जा सकता है. मान लीजिए कि इस योजना में माता/पिता ने हर साल अधिकतम 1.5 लाख रुपये का निवेश किया है तो जब बेटी की उम्र 18 साल होगी तब तक कुल रकम 58,01,751 रुपये होगा. इस समय उच्च शिक्षा के लिए बेटी के नाम पर कुल 29,00,875 रुपये ​यानी 50 फीसदी हिस्सा निकाला जा सकता है.

    अगर 15 साल तक किए गए इस निवेश में 50 फीसदी हिस्सा निकाल लिया जाता है तो रिटर्न की रकम 17,75,875 रुपये होगी. अब ये मान लेते हैं कि बेटी के लिए कमाई का कोई और जरिया नहीं है तो मौजूदा इनकम टैक्स रेट के हिसाब से कुल 3,45,263 रुपये टैक्स देय होगा. लेकिन, इस योजना के तहत मैच्योरिटी के समय निकासी पर कोई टैक्स नहीं देय होता है.

    इसके बाद अगर 21 साल की उम्र में मैच्योरिटी पूरा होने पर कुल रकम निकाल लिया जाता है तो यह मैच्योरिटी वैल्यू 36,95,023 रुपये होगी. इसके लिए हमने मौजूदा 8.4 फीसदी के ही ब्याज दर के हिसाब से कैलकुलेट किया है. पहले के 50 फीसदी निवेश को निकालने के बाद कुल रकम 11,25,000 रुपये बनती है.

    इसपर रिटर्न की रकम 25,70,023 रुपये बनती है. अगर इस समय पर बच्ची की कोई इनकम टैक्स देयता नहीं है तो कुल देय टैक्स 5,83,507 रुपये बनेगा. लेकिन, इस योजना के तहत मैच्योरिटी के समय निकासी पर कोई टैक्स नहीं देय होता है.

    इन दोनों ही मामलों में यानी जब 18 साल की उम्र में 50 फीसदी हिस्सा निकाला जाता है और बाकी का रकम 21 साल की उम्र में निकाला जाता है तो कुल 9,28,770 रुपये के टैक्स की बचत होती है. आप सुकन्या समृद्धि योजना में निवेश की वजह से यह टैक्स बचा सकेंगे.

    ये भी पढ़ें: Vodafone-Idea को नहीं मिला सरकारी फंड तो बंद हो जाएगी कंपनी: बिड़ला

    ऐसे बच सकता है 13.5 लाख रुपये का टैक्स
    इसी प्रकार अगर बेटी के 18 साल की उम्र के बाद अगर कोई भी रकम नहीं निकाला जाता है तो तो 21 साल की उम्र में मैच्योरिटी के समय कुल रकम 73,80,043 रुपये बनता है. इसपर कुल रिटर्न 51,40,043 रुपये बनेगा. आपके द्वारा निवेश किया गया रकम 22,50,000 रुपये होगा. इस हिसाब से कुल 13,54,514 रुपये का टैक्स बचत हो सकता है.

    ऐसे में मैच्योरिटी की रकम पर टैक्स छूट की सुविधा से आपकी बेटी को अधिक फायदा होगा. लेकिन, आपको इसका लाभ लेने के लिए जरूरी है कि सही समय पर सही रकम का निवेश करें.

    ये भी पढ़ें: अब ट्रेन में होगी 'खुशियों की डिलीवरी', रेलवे शुरू करने जा रहा ये खास सुविधा

    Tags: Business news in hindi, Investing, Investment tips, Sukanya samriddhi scheme, Tax benefit

    विज्ञापन

    राशिभविष्य

    मेष

    वृषभ

    मिथुन

    कर्क

    सिंह

    कन्या

    तुला

    वृश्चिक

    धनु

    मकर

    कुंभ

    मीन

    प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
    और भी पढ़ें
    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज

    अधिक पढ़ें

    अगली ख़बर