Home /News /business /

invest in these schemes you will get help in tax exemption with strong returns jst

इन योजनाओं में करें निवेश, तगड़े रिटर्न के साथ मिलेगी टैक्स छूट में मदद

प्रतीकात्मक तस्वीर.

प्रतीकात्मक तस्वीर.

क्या आप भी किसी ऐसी योजना के बारे में सोच रहे हैं जो आपको अच्छे रिटर्न के साथ टैक्स छूट में मदद करे? अगर हां, तो हम आपके लिए ऐसी 4 योजनाएं लाए हैं जिनसे आपको 1.50 लाख रुपये तक का टैक्स बचाने में मदद मिलेगी. साथ ही आपको अच्छा रिटर्न भी प्राप्त होगा.

अधिक पढ़ें ...

नई दिल्ली. करदाता आयकर अधिनियम 80 सीसी के तहत 1.50 लाख रुपये तक की टैक्स छूट क्लेम कर सकते हैं. करदाताओं के पास निवेश के कई विकल्प होते हैं जिससे वह अपना टैक्स बचा सकते हैं. हालांकि, इनमें आपको रिटर्न बहुत कम या बिलकुल नहीं मिलता. यह करदाता के लिए एक कठिन स्थिति बन जाती है.

ऐसी ही परिस्थिति के लिए हम आपको ऐसी 4 योजनाओं के बारे में बताने जा रहे हैं जो आपको टैक्स बचत में तो मदद करेंगी ही साथ में आपको अच्छा रिटर्न भी देंगी. यह योजनाएं हैं सुकन्या समृद्धि योजना, पब्लिक प्रोविडेंट फंड, सीनियर सिटीजन सेविंग स्कीम और 5 साल के लिए बैंक फिक्स्ड डिपॉजिट. आइए इन योजनाओं के बारे में आपको विस्तार से बताते हैं.

ये भी पढ़ें- कंपनी की सुविधाओं से संतुष्ट नहीं हैं तो पोर्ट करा सकते हैं हेल्थ इंश्योरेंस पॉलिसी, देखें पूरी प्रोसेस

सुकन्या समृद्धि योजना
माता-पिता यह योजना अपनी 10 साल से कम उम्र की बेटी के नाम पर खोल सकते हैं. इस अकाउंट के जरिए निवेशक 1.50 लाख रुपये तक टैक्स बचा सकते हैं. वर्तमान में सरकार इस योजना पर 7.60 फीसदी का ब्याज दे रही है. गौरतलब है कि इस योजना में निवेश की शुरुआत मात्र 250 रुपये के साथ की जा सकती है. बेटी की उम्र 18 साल से अधिक या फिर 10वीं पास करने पर 50 फीसदी तक की जमा राशि निकाली जा सकती है. बेटी की 21 साल की उम्र में यह खाता मैच्योर हो जाता है और तब पूरी रकम निकाली जा सकती है. इस खाते में मिलने वाला ब्याज टैक्स फ्री होता है.

पब्लिक प्रोविडेंट फंड
यह एक चर्चित टैक्स सेविंग स्कीम है. सरकार इस योजना पर फिलहाल 7.1 फीसदी का सालाना ब्याज दे रही है. यह अकाउंट 15 साल में मैच्योर होता है. हालांकि, इस योजना में निवेश करने वाले इंवेस्टर्स 5 साल बाद पैसा निकाल सकते हैं. इस योजना में आपको न्यूनतम 500 रुपये का निवेश करना होगा. पीपीएफ निवेशक भी 80 सीसी के तहत 1.50 लाख रुपये तक की टैक्स छूट क्लेम कर सकते हैं.

ये भी पढ़ें- अचानक पैसों की जरूरत को पूरा करता है ‘इमरजेंसी फंड’, जानें कैसे करें तैयार

सीनियर सीटिजन सेविंग स्कीम
यह भी एक टैक्स सेविंग स्कीम है लेकिन इस स्कीम को सिर्फ 60 साल से अधिक उम्र के लोग ही खुलवा सकते हैं. इसे 1000 रुपये के निवेश के साथ शुरु किया जा सकता है. सरकार इस सीनियर सीटिजन सेविंग स्कीम पर फिलहाल 7.4 की दर से ब्याज दे रही है. अगर ब्याज की रकम 1 साल में 50,000 रुपये से अधिक हो जाती है तो टीडीएस की कटौती की जाएगी. इसके अलावा अगर निवेशक समय से पहले इस स्कीम से पैसा निकालना चाहते हैं तो उन्हें जुर्माना देना होगा.

5 साल के लिए बैंक फिक्सड डिपॉजिट
बैंक एफडी के जरिए भी टैक्स में बचत की जा सकती है. इसमें अच्छे रिटर्न की गारंटी होती है. यही वजह है कि निवेशक बैंक एफडी में खूब पैसा लगाते हैं. अलग-अलग बैंक एफडी पर विभिन्न ब्याज दरें ऑफर करते हैं. वहीं, रिटर्न के साथ एफडी निवेशक उपरोक्त योजनाओं की तरह टैक्स छूट क्लेम कर सकता है. बैंकों की तरफ से सीनियर सिटीजन को एफडी पर अतिरिक्त ब्याज दिया जाता है. 5 साल वाली बैंक एफडी को सबसे अच्छा माना जाता है.

Tags: PPF, Senior citizen savings scheme, Tax saving

विज्ञापन

राशिभविष्य

मेष

वृषभ

मिथुन

कर्क

सिंह

कन्या

तुला

वृश्चिक

धनु

मकर

कुंभ

मीन

प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
और भी पढ़ें
विज्ञापन

टॉप स्टोरीज

अधिक पढ़ें

अगली ख़बर