राणा कपूर को लेकर CBI और ED ने किया बड़ा खुलासा, ऐसे खपाया दलाली का पैसा

राणा कपूर को लेकर CBI और ED ने किया बड़ा खुलासा, ऐसे खपाया दलाली का पैसा
यस बैंक के सह-संस्थापक राणा कपूर (File Photo)

राणा कपूर (Rana Kapoor) और उनकी पारिवार के सदस्यों द्वारा कई कंपनियां खोलकर जमकर निवेश किया गया है. इन कंपनियों में निवेश की गई अधिकतर रकम दलाली और घूस से आई थीं.

  • News18Hindi
  • Last Updated: March 15, 2020, 2:05 PM IST
  • Share this:
नई दिल्ली. केंद्रीय अन्वेषण ब्यूरो (CBI) ने यस बैंक के सह-संस्थापक राणा कपूर (Rana Kapoor) के खिलाफ कई बड़े खुलास किए हैं. न्यूज एजेंसी PTI के मुताबिक, राणा कपूर ने एक ग्रुप कंपनी की 1,900 करोड़ रुपये के फंसे कर्ज पर नरमी बरतने के लिए कथित तौर पर 307 करोड़ रुपये घूस का लिया है. इस रकम की मदद से राजधानी दिल्ली के लुटियन जोन जैसे वीवीआई इलके में आलीशान बंगला खरीदा गया.

CBI ने राणा कपूर के अलावा उनकी पत्नी बिंदु कपूर और उनकी अवंथा रियल्टी लिमिटेड नाम की एक कंपनी के प्रोमोटर गौतम थापर पर भी केस दर्ज किया है. बताया जा रहा है इसी रियल्टी कंपनी ने राणा कपूर को यह बंगला बेचा है.​ बिंदु कपूर की एक और कंपनी ब्लिस अबोड प्राइवेट लिमिटेड भी इसमें शामिल है.

यह भी पढ़ें: सावधान: अगर अब की मास्क और सेनिटाइजर की कालाबाजारी तो जाना होगा जेल



शुक्रवार को कई ठिकानों पर CBI का छापा
बीते शुक्रवार को CBI ने राणा कपूर और उनकी पत्नी बिंदु की मुंबई स्थित घरों में छापा मारा है. इस जांच का दायरा ब्लिस अबोड प्राइवेट लिमिटेड, थापर और अवंथा ग्रुप की ऑफिस तक भी था. वहीं, दिल्ली एनसीआर में इंडियाबुल्स हाउसिंग फाइनेंस लिमिटेड के ठिकानों पर तलाशी ली गई है. हालांकि, इंडियाबुल्स हाउिसंग ने अपनी तरफ से जारी एक बयान में कहा है कि उसके किसी भी ठिकाने पर CBI की रेड नहीं पड़ी है.

इंडियाबुल्स और CBI के बयानों में अंतर
कंपनी के सेक्रेटरी अमित जैन के मुताबिक, 'CBI की रेड राणा कपूरा और यस बैंक के ठिकानों पर हुई है. इनमें से कुछ जगहें पर इंडियाबुल्स हाउसिंग की जरूर हैं, लेकिन इसे राणा कपूर या यस बैंक ने किराये पर ले रखा है.' CBI से इस बारे में सवाल पूछने पर पता चला कि इंडियाबुल्स हाउसिंग के ठिकानों पर ही छापा मारा गया है.

यह भी पढ़ें: सरकार का बड़ा ऐलान- लाखों कर्मचारियों को राहत देने के लिए आसान किए नियम

78 कंपनियां खोलकर 40 कंपनियों में खपाया लूट का पैसा
मीडिया रिपोर्ट्स में यह भी कहा जा रहा है क राणा कपूर और उनके परिवार ने 'दलाली' का पैसा खपाने के लिए करीब 78 कंपनियां खोली है. इस पूंजी को खपाने के लिए देश-विदेश में कुल 40 से अधिक संपत्तियों में निवेश किया है. यह जानकारी प्रवर्तन निदेशालय की एक जांच के बाद पता चला है. सूत्रों के हवाले से इन रिपोर्ट में कहा गया है ईडी ने इन संपत्तियों से संबंधित दस्तावेजों का पता लगाया है और इनका सत्यापन किया जा रहा है. इन 40 में 28 संपत्तियां भारत में. इनमें से अधिकतर दिल्ली एनसीआर और लुटियन जोन जैसे वीवीआईपी स्थानों पर है.

कैसे किया फर्जीवाड़ा?
कपूर परिवार ने ब्रिटेन और अमेरिकी होटल और क्लबों में जमकर निवेश किया है. कपूर परिवार की स्वामित्व वाली ​अधिकतर कंपनियां रियल एस्टेट और हॉस्पिटेलिटी की सहायक कंपनियां हैं. ईडी ने अरोप लगाया है कि कंपनियों को यस बैंक ने हजारों करोड़ रुपये का कर्ज दिया है. कर्ज लेने वाले इन अधिकतर कंपनियां गैर-बैंकिंग वित्तीय संस्थान (NBFC) हैं. इन NBFC द्वारा लिए गए कर्ज का एक बड़ा हिस्सा एनपीए बनने के कगार पर है. कथित तौर पर राणा कपूर ने इन कंपनियों के साथ साजिश रची और उन्हें अपनी पत्नी और बेटियों द्वारा संचालित फर्म्स में निवेश कराया.

यह भी पढ़ें: SBI के 40 करोड़ ग्राहकों को लगा झटका, अब बैंक ने कम की सेविंग खाते पर ब्याज दर
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज

corona virus btn
corona virus btn
Loading