Home /News /business /

investment expert told how long will foreign investors stay away from indian markets said inflation will increase jst

इन्वेस्टमेंट एक्सपर्ट ने बताया कब तक भारतीय बाजारों से दूर रहेंगे विदेशी निवेशक, कहा- और बढ़ेगी महंगाई

'विदेशी निवेशक 2024 तक भारतीय शेयर बाजारों से दूरी बनाए रहेंगे'

'विदेशी निवेशक 2024 तक भारतीय शेयर बाजारों से दूरी बनाए रहेंगे'

निवेश विशेषज्ञ ने कहा है कि विदेशी संस्थागत निवेशक निकट भविष्य में भारतीय बाजारों में निवेश नहीं करेंगे. साथ ही उन्होंने रुपये की गिरती वैल्यू को लेकर चिंता जताते हुए कहा है कि इससे इंपोर्ट महंगा और महंगाई बढ़ेगी.

नई दिल्ली. भारतीय बाजारों में विदेशी निवेशकों के निकट भविष्य में वापस लौटने की कोई संभावना नहीं नजर आ रही है. ये कहना है इन्वेस्टमेंट फर्म हेडोनोवा के सुमन बनर्जी का. उन्होंने कहा है कि 2023 में विदेशी संस्थागत निवेशकों (एफआईआई) द्वारा कुछ खरीदारी देखने को मिल सकती लेकिन 2024 के चुनावी साल तक वे भारतीय बाजारों से दूर ही रहेंगे.

मनीकंट्रोल से बातचीत करते हुए बनर्जी ने कहा कि 2024 का आम चुनाव एक भू-राजनैतिक जोखिम के नजरिए से बड़ी घटना है. इसके अलावा उन्होंने महंगाई को लेकर कहा है कि रुपये में गिरावट चिंता की बात है क्योंकि इससे इंपोर्ट महंगा होगा और महंगाई बढ़ेगी. बाजार को लेकर उन्होंने कहा कि अभी कही बॉटम बनता नहीं दिख रहा है और बाजार में काफी लिक्विडिटी है. उन्होंने कहा है कि विदेशी निवेशकों की बिकवाली के बावजूद लिक्विडिटी बनी हुई है.

ये भी पढ़ें- अगले हफ्ते 3 कंपनियां देने जा रही बोनस शेयर, देखें रिकॉर्ड डेट समेत अन्य डिटेल

बाजार की स्थिति मजबूत नहीं
सुमन बनर्जी ने कहा है कि भारतीय शेयर बाजार वैश्विक घटनाओं पर प्रतिक्रिया दे रहा है. इसके अलावा महंगाई बाजार के लिए चिंता का बड़ा विषय बनी हुई है. उन्होंने कहा कि बढ़ती लागत से कारण कंपनियों का प्रॉफिट मार्जिन घट रहा है और घरेलू मांग भी बहुत मजबूत नहीं दिख रही है. हालांकि, उन्हें विश्वास है कि सरकार की सही नीतियों के कारण ग्रोथ जारी रहेगी.

कहां करें निवेश
किस कंपनी के शेयरों में निवेश को लेकर उन्होंने कहा, “मेरा दांव उन कंपनियों पर होगा जो वैश्विक सप्लाई चेन पर निर्भर नहीं है या जिनके पास भारी डिमांड है लेकिन आपूर्ति श्रृंखला बाधित का उन पर कोई प्रतिकूल प्रभाव नहीं पड़ा है.” उन्होंने कहा कि वह सॉफ्टवेयर इंटरप्राइजेज और इंडस्ट्रीय मैन्युफैक्चरिंग कंपनियों को लेकर बुलिश हैं. क्योंकि इन कंपनियों के प्राइसिंग पावर और प्रॉफिट मार्जिन ज्यादा होता है.

ये भी पढ़ें- गोल्ड इन्वेस्टमेंट में क्या हैं जोखिम, विशेषज्ञ रिस्क के बावजूद क्यों देते हैं सोने में निवेश की सलाह?

मुद्रास्फीति
बनर्जी ने महंगाई को लेकर कहा है कि दक्षिण पश्चिम मानसून के कारण खाद्य महंगाई सितंबर तक काबू में आ सकती है लेकिन गैर-खाद्य महंगाई के साल के अंत तक भी काबू में आने की कोई संभावना नहीं है. उन्होंने कहा कि लेकिन सभी लोग मान चुके हैं कि महंगाई बढ़ेगी इसलिए यह लोगों के लिए बहुत सामान्य बात होगी.

Tags: Business news, Business news in hindi, Foreign investment, Share market, Stock market

विज्ञापन

राशिभविष्य

मेष

वृषभ

मिथुन

कर्क

सिंह

कन्या

तुला

वृश्चिक

धनु

मकर

कुंभ

मीन

प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
और भी पढ़ें
विज्ञापन

टॉप स्टोरीज

अधिक पढ़ें

अगली ख़बर