बैंक या शेयर बाजार में नहीं बल्कि ऐसे करें बचत, पूरा हो जाएगा करोड़पति बनने का सपना

पीपीएफ में निवेश पर सरकारी गारंटी मिलती है.

पीपीएफ में निवेश पर सरकारी गारंटी मिलती है.

आज के समय में शेयर बाजार (Share Market) में निवेश करना एक ​जोखिम विकल्प है. वहीं कम ब्याज दर के दौर में बैंकों में बचत योजनाओं पर अधिक रिटर्न नहीं मिल रहा है. ऐसे में सरकारी गारंटी वाले स्मॉल सेविंग स्कीम में भी निवेश कर मोटी बचत की जा सकती है.

  • News18Hindi
  • Last Updated: April 19, 2020, 5:36 AM IST
  • Share this:
नई दिल्ली. कोरोना वायरस आउटब्रेक की वजह से शेयर मार्केट में निवेश करना सबसे जोखिम हो गया है. दूसरी तरफ सोना की कीमतें भी तेजी से बढ़ रही है. ऐसे में अधिकतर निवेशक एक ऐसे विकल्प की तलाश में हैं, जहां उन्हें कम जोखिम के साथ बेहतर रिटर्न मिल सके. ऐसे में सरकारी गारंटी वाले स्मॉल सेविंग्स स्कीम्स (Small Savings Schemes) निवेशकों के लिए एक बेहतर विकल्प बन सकता है.



कम जोखिम में मोटी बचत

इन्हीं स्मॉल सेविंग्स विकल्प में से एक पब्लिक प्रोविडेंट फंड (PPF - Public Provident Fund). PPF की खास बात है कि बैंकों के एफडी की तुलना में यहां अधिक ब्याज मिल रहा है. वहीं शेयर बाजार और गोल्ड जैस अन्य निवेश विकल्प की तुलना में इसमें कोई जोखिम नहीं है. यह एक सरकारी गारंटी वाला स्कीम है. ऐसे में PPF में निवेश कर आप ​बिना जोखिम के आसानी से मोटी बचत कर सकते हैं.



यह भी पढ़ें: 110 महीने में आपका पैसा हो जाएगा डबल, जानें क्या है मोदी सरकार की ये स्कीम
टैक्स की भी नहीं होगी कोई चिंता 



PPF में निवेश की एक खास बात यह भी है कि इसमें निवेश के दौरान आपको इनकम टैक्स एक्ट के सेक्शन 80C के तहत टैक्स छूट का भी लाभ मिलेगा. ऐसे में PPF में निवेश करने से न​ सिर्फ आप अपने भविष्य के लिए बचत करेंगे, बल्कि टैक्स बचत का भी लाभ ले सकेंगे. आाइए जानते हैं कि कैसे इस स्कीम के तहत आप 1 करोड़ रुपये तक की बड़ी रकम की बचत कर सकते हैं.



कैसे होगी 1 करोड़ रुपये की बचत?

हाल ही में केंद्र सरकार द्वारा दी गई जानकारी के अनुसार, PPF पर 7.1 फीसदी की दर से ब्याज मिल रहा है. अब पता करते हैं कि 7.1 फीसदी की ब्याज के साथ एक करोड़ रुपये बनान में कितना समय लगता है और कैसे ​इन्वेस्टमेंट करना होगा. PPF कैलकुलेटर (PPF Calculator) के मुताबिक, अगर कोई व्यक्ति 15 साल की उम्र से हर महीने 6 हजार रुपये का निवेश करता है तो 35 साल बाद उनके रिटायरमेंट की उम्र में यह रकम करोड़ रुपये के पार हो जाएगी. इसका मतलब है कि अगर कोई 35 साल तक हर महीने 6-6 हजार रुपये का निवेश किया जाता है तो 60 साल की उम्र में यह 1,08,94,988 रुपये हो जाएगी.



सोर्स: पीपीएफ कैलकुलेटर, पैसा बाजार




यह भी पढ़ें: अगर कराई है FD तो आपके मुनाफे पर RBI के फैसले का होगा सीधा असर, जानें यहां



मैच्योरिटी के बाद क्या करें?

नियमों के मुताबिक, PPF अकाउंट की मैच्योरिटी का समय केवल 15 साल का ही होता है. ऐसे में अगर आप इसे 35 साल तक बढ़ाना चाहते हैं तो मैच्योरिटी के बाद आप इसे 5-5 साल के लिए बढ़ा सकेंगे. इसके लिए आपको मैच्योरिटी के बाद हर 5 साल पर Form H भरना होगा. इस बात की कोई लिमिट नहीं है कि मैच्योरिटी के बाद इसे कितनी बार बढ़ाया जाए.



यह भी पढ़ें: इनकम टैक्स: एक सप्ताह के अंदर आपको मिल सकता है रिफंड! बस पूरा कर लें ये काम
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज