Home /News /business /

गोल्ड ईटीएफ में सितंबर में 446 करोड़ रुपये का निवेश आया, आगे कैसा रहेगा गोल्ड मार्केट, जानिए डिटेल

गोल्ड ईटीएफ में सितंबर में 446 करोड़ रुपये का निवेश आया, आगे कैसा रहेगा गोल्ड मार्केट, जानिए डिटेल

दिल्‍ली सर्राफा बाजार में आज सोने की कीमतों में उछाल दर्ज किया गया.

दिल्‍ली सर्राफा बाजार में आज सोने की कीमतों में उछाल दर्ज किया गया.

गोल्ड ईटीएफ श्रेणी में अब तक शुद्ध रूप से 3,515 करोड़ रुपये का निवेश मिला है. सिर्फ जुलाई ऐसा महीना रहा जबकि इससे निकासी हुई है. ताजा प्रवाह से इस श्रेणी में फोलियो की संख्या सितंबर में 14 प्रतिशत बढ़कर 24.6 लाख पर पहुंच गई, जो अगस्त में 21.46 लाख थी.

अधिक पढ़ें ...

    नई दिल्ली . गोल्ड एक्सचेंज ट्रेडेड कोषों (ईटीएफ) में सितंबर में 446 करोड़ रुपये का निवेश आया. देश में त्योहारी सीजन के मद्देनजर मजबूत मांग के चलते निवेश का यह प्रवाह अभी जारी रहने की उम्मीद है. इससे पिछले महीने गोल्ड ईटीएफ में 24 करोड़ रुपये का शुद्ध निवेश आया था. एसोसिएशन ऑफ म्यूचुअल फंड्स इन इंडिया (एम्फी) के आंकड़ों के अनुसार, जुलाई में गोल्ड ईटीएफ से निवेशकों ने शुद्ध रूप से 61.5 करोड़ रुपये की निकासी की थी.

    गोल्ड ईटीएफ श्रेणी में अब तक शुद्ध रूप से 3,515 करोड़ रुपये का निवेश मिला है. सिर्फ जुलाई ऐसा महीना रहा जबकि इससे निकासी हुई है. ताजा प्रवाह से इस श्रेणी में फोलियो की संख्या सितंबर में 14 प्रतिशत बढ़कर 24.6 लाख पर पहुंच गई, जो अगस्त में 21.46 लाख थी. इस साल अभी तक फोलियो की संख्या में 56 प्रतिशत की बढ़ोतरी हुई है.

    ‘करेक्शन’ से गोल्ड ईटीएफ में निवेश बढ़ा

    बाजार विशेषज्ञों का कहना है कि त्योहारी सीजन से पहले पीली धातु की कीमतों में ‘करेक्शन’ से गोल्ड ईटीएफ में निवेश का प्रवाह बढ़ा है.

    एलएक्सएमई की संस्थापक प्रीति राठी गुप्ता ने कहा, ‘‘पिछले महीने गोल्ड ईटीएफ में काफी अच्छा प्रवाह रहा. उतार-चढ़ाव वाले बाजार में निवेशकों के लिए इसमें निवेश करना सुरक्षित विकल्प है जिसकी वजह से इसमें निवेश बढ़ा है. इसके अलावा सोने की बढ़ती कीमतों की वजह से भी निवेशक इसकी ओर आकर्षित हो रहे हैं.’’

    शेयर बाजार में एफपीआई का निवेश घटा
    विदेशी पोर्टफोलियो निवेशक (एफपीआई) अक्टूबर में अबतक भारतीय पूंजी बाजारों में शुद्ध बिकवाल बने हुए हैं. इससे पिछले दो माह के दौरान एफपीआई ने भारतीय बाजारों में निवेश किया था. विशेषज्ञों का कहना है कि रुपये में गिरावट तथा वैश्विक कारकों की वजह से एफपीआई बिकवाली कर रहे हैं.

    डिपॉजिटरी के आंकड़ों के अनुसार, चालू महीने में विदेशी निवेशकों ने अब तक भारतीय पूंजी बाजारों से शुद्ध रूप से 1,472 करोड़ रुपये की निकासी की है.

    एफपीआई का रुख बदला
    ऋण या बांड बाजार को लेकर एफपीआई के रुख पूरी तरह पलट गया है. इससे पहले सितंबर में एफपीआई ने बांड बाजार में 13,363 करोड़ रुपये और अगस्त में 14,376.2 करोड़ रुपये का निवेश किया था. अक्टूबर में वे बांड बाजार से 1,698 करोड़ रुपये की निकासी कर चुके हैं.

    Tags: Gold, Gold business, Gold ETF, Gold investment, Gold price, Gold price News, Gold Rate

    विज्ञापन

    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज

    अधिक पढ़ें

    अगली ख़बर