होम /न्यूज /व्यवसाय /

Investment Tips: बैंक एफडी के अलावा ये दूसरे निवेश विकल्प हो सकते हैं आपके लिए फायदेमंद

Investment Tips: बैंक एफडी के अलावा ये दूसरे निवेश विकल्प हो सकते हैं आपके लिए फायदेमंद

 बैंक एफडी पर लगातार कम होती ब्याज दर की वजह से नए निवेशक दूसरे निवेश विकल्पों की तलाश कर रहे हैं. आपके पास 5 से 10 लाख रुपए हैं तो हम आपको यहां ऐसे ही पांच निवेश विकल्पों के बारे में जानकारी दे रहे हैं, जो बेहतर रिटर्न देंगे.

बैंक एफडी पर लगातार कम होती ब्याज दर की वजह से नए निवेशक दूसरे निवेश विकल्पों की तलाश कर रहे हैं. आपके पास 5 से 10 लाख रुपए हैं तो हम आपको यहां ऐसे ही पांच निवेश विकल्पों के बारे में जानकारी दे रहे हैं, जो बेहतर रिटर्न देंगे.

बैंक एफडी पर लगातार कम होती ब्याज दर की वजह से नए निवेशक दूसरे निवेश विकल्पों की तलाश कर रहे हैं. आपके पास 5 से 10 लाख रुपए हैं तो हम आपको यहां ऐसे ही पांच निवेश विकल्पों के बारे में जानकारी दे रहे हैं, जो बेहतर रिटर्न देंगे.

Investment Tips: देश में लंबे समय से बैंक एफडी निवेश का सबसे लोकप्रिय विकल्प रहा है. इसे सुरक्षित और सुनिश्चित रिटर्न देने वाला माना जाता रहा है. लेकिन धीरे धीरे नई पीढ़ी निवेश की भी तलाश कर रही है. चाहे वो शेयर मार्केट या म्यूचुअल फंड. इसकी वजह है बैंक एफडी पर लगातार कम होती ब्याज दर. आपके पास 5 से 10 लाख रुपए हैं तो हम आपको यहां ऐसे ही पांच निवेश विकल्पों के बारे में जानकारी दे रहे हैं.

गोल्ड बॉन्ड
गोल्ड खरीदने का सबसे बेहतर तरीका अब सोवरेन गोल्ड बॉन्ड्स है. यह एक तरह से 999 शुद्धता वाले गोल्ड को डिजिटल तरीके से खरीदने जैसा है. इस पर जो कैपिटल गेन होगा, उस पर टैक्स भी नहीं चुकाना होगा. इसके अलावा 2.5 फीसदी निश्चित ब्याज भी मिलेगा. केंद्रीय बैंक आरबीआई केंद्र सरकार के बिहाफ पर गोल्ड बॉन्ड को कई किश्तों में जारी करती है और इसके जरिए गोल्ड में आप निवेश कर सकते हैं. 2.5 फीसदी का सालाना ब्याज हर छह महीने पर मिलेगा. इसमें सिर्फ एक ही दिक्कत है कि एसजीबी में निवेश पर 8 साल का लॉक इन है लेकिन अगर पैसों की आपको जरूरत है तो इसे सेकंडरी मार्केट में बेचने का भी विकल्प है.

यह भी पढ़ें- LIC IPO: आम निवेशकों को इस मेगा इश्यू में निवेश करना चाहिए या नहीं, क्या कहते हैं एक्सपर्ट्स, पढ़ें पूरी डिटेल

शेयर बाजार का इंडेक्स फंड
अगर आपने स्टॉक्स में निवेश अभी शुरू ही किया है और अपने लिए बेहतर शेयर का चयन करने में कठिनाई महसूस कर रहे हैं तो इंडेक्स फंड्स निवेश का बेहतर विकल्प है. यह उस समय भी बेहतर विकल्प के रूप में है, अगर आप अपने लिए बेहतर म्यूचुअल फंड का चयन नहीं कर पा रहे हैं. इंडेक्स फंड किसी इंडेक्स को ट्रैक करता है. जैसे कि निफ्टी इंडेक्स 50 बड़ी कंपनियों का इंडेक्स है और निफ्टी इंडेक्स को खरीदने का मतलब है कि निफ्टी के बराबर आपको रिटर्न मिल सकता है.

REITs
अगर 5-10 लाख में कोई घर नहीं खरीद सकते हैं लेकिन रीयल एस्टेट से जरूर कमा सकते हैं. रीयल एस्टेट इंवेस्टमेंट ट्रस्ट (REIT) एक म्यूचुअल फंड की तरह है जिसमें निवेशकों के पैसों का पूल बनाकर पार्क, मॉल जैसी कॉमर्शियल संपत्तियां खरीदी जाती है. यह ऐसी कंपनियां द्वारा लॉन्च किया जाता है जिनके पास कॉमर्शियल संपत्तियां होती हैं या ऑपरेट करती हैं या फाइनेंस करती हैं. इसमें अंडरलाइंग प्रोजेक्ट्स की कीमतों में बढ़ोत्तरी और किराए के जरिए पैसे बढ़ते हैं.

यह भी पढ़ें- Imvestment Tips : गोल्ड ETF में निवेश करने के क्या होते हैं फायदे, कैसे करते हैं इसमें निवेश

एक यूनिट होल्डर के तौर पर आपको डिविडेंड और REIT की बढ़े भाव के रूप में कमाई होगी. इस विकल्प के जरिए बिना कोई संपत्ति खरीदे एक तरह से आप किसी प्रॉपर्टी के मालिक बनते हैं. हालांकि इसे खरीदते समय सावधानी बरतें क्योंकि अंडरलाइंग एसेट्स अच्छे हैं, तभी आपको फायदा मिलेगा.

सरकारी बचत योजनाएं
सरकारी छोटी बचत योजनाएं भी निवेश के लिए बेहतर विकल्प हैं. जैसे कि पीपीएफ (पब्लिक प्रोविडेंट फंड), पोस्ट ऑफिस सेविंग्स स्कीम, किसान विकास पत्र (केवीपी) इत्यादि. इसमें निवेश का सबसे बड़ा फायदा यह होता है कि इस पर सरकार की गारंटी रहती है, बेहतर दरों पर ब्याज मिलता है और निवेश/मेच्योरिटी पर टैक्स बेनेफिट्स भी मिलता है. इसमें बस लॉक इन पीरियड की दिक्कत आपको दिख सकती है जैसे कि पीपीएफ में 15 साल का लॉक इन है. हालांकि अगर आप अपने पैसे को डेट में लगाना चाहते हैं तो छोटी बचत योजनाएं शुरुआत के लिए बेहतर है.

म्यूचुअल फंड
पिछले कुछ सालों से म्यूचुअल फंड तेजी से लोकप्रिय हो रहा है. नए जेनरेशन के लोग इसमें तेजी से निवेश कर रहे हैं. इसमें एसआईपी के जरिए 500 रुपए से भी निवेश शुरू किया जा सकता है. यह अक्सर बैंक एफडी से ज्यादा ही रिटर्न देता है लेकिन रिस्क भी होता है.

Tags: Investment and return, Investment scheme, Investment tips, Most trusted investment options

अगली ख़बर