होम /न्यूज /व्यवसाय /RD में पैसा लगाना है फायदेमंद या फिर निवेश के लिए चुनें मयूचुअल फंड SIP? जानिए एक्‍सपर्ट की राय

RD में पैसा लगाना है फायदेमंद या फिर निवेश के लिए चुनें मयूचुअल फंड SIP? जानिए एक्‍सपर्ट की राय

निवेशक पैसा लगाने के लिए इन दोनों में से किसी एक का चुनाव करने में असमंजस में पड़ जाते हैं.

निवेशक पैसा लगाने के लिए इन दोनों में से किसी एक का चुनाव करने में असमंजस में पड़ जाते हैं.

निवेशक पैसा लगाने के लिए RD और MF SIP में से किसी एक का चुनाव करने में असमंजस में पड़ जाते हैं. म्‍यूचुअल फंड और आरडी, द ...अधिक पढ़ें

  • News18Hindi
  • Last Updated :

हाइलाइट्स

म्‍यूचुअल फंड और आरडी, दोनों में ही सिप से निवेश किया जा सकता है.
आरडी में लगाया पैसा पूरी तरह सुरक्षित रहती है और गारंटीड रिटर्न मिलता है.
म्‍यूचुअल फंड में निवेश ज्‍यादा जोखिम भरा है. यहां रिटर्न की गारंटी भी नहीं है.

नई दिल्‍ली. सिस्‍टैमेटिक इनवेस्‍टमेंट प्‍लान्‍स (SIP) के माध्‍यम से एक निवेशक म्‍यूचुअल फंड और रेकरिंग डिपॉजिट (RD) में निवेश कर सकता है. म्‍यूचुअल फंड में सिप के माध्‍यम से अगस्‍त 2022 में 12,693 करोड़ रुपये का निवेशकों ने किया है. इससे पता चलता है कि एमएफ सिप में निवेशकों को भरोसा लगातार बढ़ रहा है. आरडी में भी बहुत से निवेशक पैसा लगाते हैं. शॉर्ट टर्म के वित्‍तीय लक्ष्‍यों को हासिल करने का यह भी एक बढिया इनवेस्‍टमेंट टूल है.

आमतौर पर निवेशक पैसा लगाने के लिए इन दोनों में से किसी एक का चुनाव करने में असमंजस में पड़ जाते हैं. म्‍यूचुअल फंड और आरडी, दोनों में ही सिप से निवेश किया जा सकता है, लेकिन फिर भी इन दोनों निवेश योजनाओं में कुछ अंतर है. जहां आरडी में लगाया पैसा पूरी तरह सुरक्षित रहती है और गारंटिड रिटर्न मिलता है तो म्‍यूचुअल फंड में निवेश ज्‍यादा जोखिम भरा है. यहां रिटर्न की गारंटी भी नहीं है.

ये भी पढ़ें- ब्याज दरें बढ़ रही हैं और सोना सस्ता हो रहा है, इससे गोल्‍ड लोन लेने वालों को फायदा या नुकसान?

आरडी में पैसा सुरक्षित, गारंटीड रिटर्न
मनीकंट्रोल की एक रिपोर्ट के अनुसार, रेकरिंग डिपॉजिट एक डेट इंसट्रुमेंट है और यह निवेशकों को उनकी पूंजी की सुरक्षा की गारंटी देती है. बैंक एक साल से 10 साल की अवधि के लिए आरडी कराने की सुविधा देते हैं. यह शॉर्ट टर्म में फंड बनाने का अच्‍छा साधन है. आरडी में हर महीने आप थोड़े-थोड़े पैसे जमा करा सकते हैं. आरडी में निवेश पर कोई टैक्‍स छूट नहीं मिलती और न ही इससे मिला ब्‍याज टैक्‍स फ्री होता है. क्‍योंकि आरडी का लॉक-इन पीरियड होता है, इसलिए मैच्‍योरिटी पीरियड से पहले पैसा निकालना मुश्किल होता है और परिपक्‍वता अवधि से पहले पैसा निकालने पर पर बैंक शुल्‍क वसूलते हैं.

आमतौर पर आरडी का रिटर्न महंगाई दर से कम ही होता है. प्‍लान रुपी इनवेस्‍टमेंट सर्विसेज के फाउंडर अनमोल जोशी का कहना है कि आरडी में जमा 5 लाख रुपये तक पर डिपॉजिट इंश्‍योरेंस एंड गारंटी कॉर्पोरेशन की ओर से गारंटी मिलती है. यानि अगर किसी कारण बैंक डूब जाता है तो 5 लाख रुपये तक की राशि निवेशक को हर हाल में वापिस मिलेगी.

ये भी पढ़ें-  Post Office Scheme : इस बचत योजना में मिल रहा है एफडी से ज्यादा रिटर्न, टैक्स पर भी मिलेगी छूट

म्‍यूचुअल फंड में ज्‍यादा रिटर्न, ज्‍यादा जोखिम
म्‍यूचुअल फंड सिप काफी फ्लैक्सिबल होते हैं. निवेश के लिए आप दैनिक, साप्ताहिक, पाक्षिक, मासिक, त्रैमासिक या वार्षिक विकल्‍प का चुनाव कर सकते हैं. सिप के माध्‍यम से आप इक्विटी में निवेश कर सकते हैं. अमोल जोशी का कहना है कि इक्विटी मार्केट में निवेश के लिए सिप सबसे बेहतरीन साधन है. बैंक बाजार के सीईओ आदिल शेट्टी का कहना है कि अगर आप कम से कम 5 साल के लिए सिप करते हैं तो ही आपको बेहतरीन रिटर्न मिलेगा. एमएफ सिप में निवेश जोखिम भरा होता है तथा बाजार पर निर्भर करता है. इसमें रिटर्न की गारंटी नहीं होती है. सिप को बंद करना और पूंजी विदड्राल करना आसान है.

किसे चुनें?
माई मनी मंत्रा के राज खोसला का कहना है कि किसी भी निवेश योजना का चुनाव अपनी रिस्‍क जोखिम उठाने की क्षमता और निवेश समय को ध्‍यान में रखकर करना चाहिए. जोशी का कहना है कि जिन्‍हें वित्‍तीय बाजार के बारे में ज्‍यादा जानकारी नहीं है या कोई शॉर्ट टर्म गोल अचीव करना है, उन्‍हें आरडी में पैसा लगाना चाहिए. इसी तरह लॉन्‍ग टर्म के लिए निवेश करने के लिए म्‍यूचुअल फंड सिप का चुनाव करें. ऐसे निवेशक जो बाजार के बारे में अच्‍छी जानकारी रखते हैं और जोखिम उठा सकते हैं, उनके लिए भी म्‍यूचुअल फंड सिप सही है.

आदिल शेट्टी का कहना है कि एमएफ सिप में पूंजी की कोई गारंटी नहीं होती और रिटर्न भी निर्धारित नहीं होता है. इसलिए निवेशक को इसमें निवेश करने से पहले अपनी जोखिम क्षमता का मूल्‍यांकन जरूर कर लेना चाहिए. माई मनी मंत्रा के राज खोसला का कहना है कि जो निवेशक कम से कम 5 साल या इससे ज्‍यादा समय के लिए निवेश करना चाहते हैं, उनके लिए म्‍यूचुअल फंड सिप आरडी से बेहतर है. यही कारण है कि लॉन्‍ग टर्म इनवेस्‍टर इसे ज्‍यादा पसंद करते हैं.

Tags: Business news, Investment, Investment tips, Money Making Tips, Mutual fund, Personal finance

विज्ञापन

टॉप स्टोरीज

अधिक पढ़ें