लाइव टीवी

निवेशकों ने 1 मिनट में कमाए 70 हजार करोड़!

News18Hindi
Updated: October 25, 2017, 1:55 PM IST
निवेशकों ने 1 मिनट में कमाए 70 हजार करोड़!
PSU बैंक्स में लगा सकते हैं पैसा: शेयर मार्केट में पैसा लगाना चाहते हैं तो PSU बैंक के स्टॉक्स में पैसा लगाना अच्छा ऑप्शन है.

बैंकिंग शेयरों में निवेशित निवेशकों की वेल्थ में 70 हजार करोड़ रुपए का इजाफा हुआ है.

  • News18Hindi
  • Last Updated: October 25, 2017, 1:55 PM IST
  • Share this:
मोदी सरकार के बैंकिंग सेक्टर को लेकर किए गए बड़े ऐलान से घरेलू निवेशकों को आज बड़ा फायदा हुआ. बुधवार को शेयर बाजार खुलते ही बैंकिंग शेयरों में जोरदार उछाल देखने को मिला. एसबीआई, पीएनबी, बैंक ऑफ बड़ौदा समेत 12 सरकारी बैंकों के शेयर 15-38 फीसदी तक चढ़ गए. ऐसे में सिर्फ एक मिनट के दौरान ही बैंकिंग शेयरों के निवेशकों की वेल्थ में 70 हजार करोड़ रुपए का इजाफा हो गया.

कैसे हुआ 70 हजार करोड़ का फायदा
शेयर बाजार खुलते ही देश के 5 बड़े बैंकों (एसबीआई, पीएनबी, बैंक ऑफ बड़ौदा, केनरा बैंक, बैंक ऑफ इंडिया) के शेयर 20 फीसदी से ज्यादा चढ़ गए हैं. इससे इन 5 बैंकों की मार्केट कैप 3,17,640 करोड़ रुपए से बढ़कर 3,86,520 करोड़ रुपए हो गई. मतलब साफ है कि इस दौरान बैंकिंग शेयरों में निवेशित निवेशकों की वेल्थ 68880 करोड़ रुपए बढ़ गई.

बैंकिंग शेयरों में बड़ा उछाल



सरकार के बैंकिंग सेक्टर में 2.11 लाख करोड़ रुपए की रकम डालने के ऐलान से बुधवार को पीएनबी का शेयर 38 फीसदी, कैनरा बैंक 32 फीसदी, बैंक ऑफ बड़ौदा 30 फीसदी, बैंक ऑफ इंडिया 28 फीसदी, ओरिएंट बैंक 23 फीसदी, एसबीआई 24 फीसदी, आईडीबीआई बैंक 18 फीसदी, आंध्रा बैंक 19 फीसदी, इलाहाबाद बैंक 17 फीसदी, सिंडिकेट बैंक 146 फीसदी और इंडियन बैंक 15 फीसदी तक बढ़ गए हैं.

आखिर ऐसा क्या हुआ
वित्त मंत्री ने पब्लिक सेक्टर बैंकों की सेहत सुधारने के लिए मंगलवार को 2.11 लाख करोड़ रुपए के रिकैपिटलाइजेशन प्लान का ऐलान किया. सरकार की इस घोषणा के बाद कारोबार में सरकारी बैंकों के शेयरों में जोरदार तेजी देखने को मिली. सरकारी बैंकों के शेयरों में खरीदारी से निफ्टी पीएसयू बैंक इंडेक्स 25 फीसदी तक चढ़ गए.

क्या है सरकार का प्लान
सरकार की नई योजना के तहत करीब 65 फीसदी राशि बॉन्ड के जरिए जुटाने का प्लान है. जबकि,  बाकी की रकम मार्केट और बजट के जरिए जुटाने का खाका वित्त मंत्री ने पेश किया है.

सरकार के लिए ये चुनौतियां भी
बैंकर्स के अनुसार सरकार के लिए सबसे बड़ा चैलेंज यही कि वह रिकैपिटलाइजेशन से कैसे अपने फिस्कल डेफिसिट को कंट्रोल करती है और साथ ही बैंकों की लागत बढ़ने से बचाती है.

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए मनी से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: October 25, 2017, 12:15 PM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर