लाइव टीवी

बाजार का बुरा हाल, 6 दिन में निवेशकों के डूबे 6 लाख करोड़ रुपये

News18Hindi
Updated: October 7, 2019, 11:40 PM IST
बाजार का बुरा हाल, 6 दिन में निवेशकों के डूबे 6 लाख करोड़ रुपये
6 दिन में डूबे 6 लाख करोड़ रुपये

घरेलू शेयर बाजार (Share Market) में गिरावट का दौर लगातार जारी रहा. इस वजह से लगातार 6 कारोबारी सत्र में निवेशकों के 6.21 लाख करोड़ रुपये डूब चुके हैं.

  • News18Hindi
  • Last Updated: October 7, 2019, 11:40 PM IST
  • Share this:
नई दिल्ली. सोमवार को सप्ताह के पहले कारोबारी दिन भी घरेलू शेयर बाजार (Share Market) में ​बिकवाली का दौर जारी रहा. दिनभर के कारोबार के बाद प्रमुख इंडेक्स सेंसेक्स (BSE Sensex) और निफ्टी 50 (Nifty 50) एक बार फिर लाल निशान पर बंद हुए. आज लगातार 6वां सत्र रहा जब घरेलू शेयर बाजार गिरावट के साथ बंद हुआ. इस दौरान सेंसेक्स और निफ्टी में करीब 4 फीसदी की गिरावट रही.

6.21 लाख करोड़ रुपये घटा मार्केट कैप
इसके साथ ही बॉम्बे स्टॉक एक्सचेंज (Bombay Stock Exchange) का कुल मार्केट कैपिटलाइजेशन (Market Cap) भी घटकर 1,42,24,897.46 करोड़ रुपये हो गया है. 26 सितंबर को BSE का मार्केट कैप 1,48,45,854.70 करोड़ रुपये रहा था. इस पक्रार लगातार 6 करोबारी सत्र के दौरान ​घरेलू बाजार से निवेशकों को करीब 6.21 लाख करोड़ रुपये का झटका लग चुका है. सोमवार को बाजार की शुरुआत भी भी गिरावट के साथ हुई थी, लेकिन कारोबार के दौरान इसमें हल्की तेजी रही. हालांकि, सत्र के अंतिम घंटे में एक बार फिर बिकवाली हावी रही और बाजार लाल निशान पर बंद हुआ.

ये भी पढ़ें: बैंक डूबने के बाद आपको मिल सकती है ज्यादा रकम, SBI ने नियम बदलने के ​सुझाव दिए



6 दिन में डूबे 6 लाख करोड़ रुपये



Loading...

सोमवार को क्या रहा बाजार का हाल
बता दें कि सोमवार को दिनभर के कारोबार के बाद बीएसई का प्रमुख इंडेक्स सेंसेक्स 141 अंक यानी 0.38 फीसदी की गिरावट के साथ 37,531.98 के स्तर पर बंद हुआ. सेंसेक्स की 30 में 22 कंपनियों के स्टॉक्स लाल निशान पर बंद हुए. वहीं, केवल 8 स्टॉक्स ही मामूली बढ़त के साथ हरे निशान पर बंद हुए. ​NSE का निफ्टी 50 भी 48 अंक यानी 0.43 फीसदी लुढ़ककर 11,126.40 के स्तर पर बंद हुआ. निफ्टी 50 से 32 स्टॉक्स लाल निशान पर बंद हुए. सबसे अधिक गिरावट फार्मा, ऑटो और आईटी स्टॉक्स में ​दर्ज की गई.

क्या है जानकारों का कहना
मनीकंट्रोल ने अपनी एक रिपोर्ट में एनलिस्ट के हवाले से लिखा है कि बाजार में गिरावट का दौर इसलिए जारी रहा कि क्योंकि कोई फ्रेश ट्रिगर नहीं रहा जिससे निवेशकों में जोश दिखे. चालू वित्त वर्ष की दूसरी तिमाही के नतीजे ही मार्केट के मूड बता सकेंगे. रेलीगेयर ब्रोकिंग के वाइस प्रेसिडेंट अजय मिश्रा के हवाले से इस रिपोर्ट में कहा गया है कि वैश्विक बाजार में मिलेजुले कारोबार की वजह से बाजार की ऐसी शुरुआत रही. आने वाले दिनों में बाजार बाउंसबैक करेगा. हालांकि, उनका यह भी कहना है कि इसके बावजूद भी बाजार में कुछ खास उत्साह देखने को नहीं मिलेगा.

ये भी पढ़ें: अलर्ट! क्रेडिट कार्ड यूजर्स को आ रहा ये मैसेज, ध्यान नहीं दिया तो हो सकता है भारी नुकसान

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए मनी से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: October 7, 2019, 11:37 PM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...