लाइव टीवी

कोरोना 'अटैक' ने निवेशकों को किया बर्बाद, आज अभी तक 12 लाख करोड़ रुपए से ज्यादा स्वाहा

News18Hindi
Updated: March 23, 2020, 2:20 PM IST
कोरोना 'अटैक' ने निवेशकों को किया बर्बाद, आज अभी तक 12 लाख करोड़ रुपए से ज्यादा स्वाहा
शेयर बाजार में सोमवार शुरुआती एक घंटे के कारोबार के दौरान निवेशकों की 10 लाख करोड़ रुपये से अधिक की संपत्ति डूब गई.

शेयर बाजार में सोमवार शुरुआती एक घंटे के कारोबार के दौरान निवेशकों की 10 लाख करोड़ रुपये से अधिक की संपत्ति डूब गई.

  • News18Hindi
  • Last Updated: March 23, 2020, 2:20 PM IST
  • Share this:
नई दिल्ली. शेयर बाजार में सोमवार शुरुआती एक घंटे के कारोबार के दौरान निवेशकों की 10 लाख करोड़ रुपये से अधिक की संपत्ति डूब गई. इस दौरान बाजार में भारी बिकवाली देखने को मिली और प्रमुख सूचकांक 10 प्रतिशत से अधिक टूट गए. आज निवेशकों को अब 12.74 लाख करोड़ का नुकसान हो चुका है. वहीं मार्च में अभी तक इन्वेस्टर्स का 42.46 लाख करोड़ रुपये डूबा है.

कोरोना वायरस (कोविड-19) के बढ़ते मामलों ने बाजार की धारणा को नकारात्मक रूप से प्रभावित किया है. इसके चलते इक्विटी बाजारों में सप्ताह की शुरुआत बड़े पैमाने पर बिकवाली के साथ हुई. बीएसई में सूचीबद्ध कंपनियों का बाजार पूंजीकरण कारोबार को 45 मिनट के लिए रोके जाने से ठीक पहले 10,29,847.17 करोड़ रुपये घटकर 1,05,79,296.12 करोड़ रुपये रह गया.

ये भी पढ़ें: SBI की नई पहल, कोरोना की वजह से कारोबारियों को कम ब्याज पर देगा Loan

बीएसई के प्रमुख सेंसेक्स सूचकांक में 2,991.85 अंक या 10 प्रतिशत की गिरावट हुई, जिसके बाद कारोबार को 45 मिनट के लिए रोक दिया गया. बीएसई सेंसेक्स के सभी शेयर घाटे में थे. एक्सिस बैंक, आईसीआईसीआई बैंक, इंडसइंड बैंक और बजाज फाइनेंस में जोरदार गिरावट हुई.



बैंक, रियल्टी और वित्त क्षेत्र के शेयरों में भारी नुकसान देखने को मिला. सूचकांक में बड़ी हिस्सेदारी रखने वाले आरआईएल में 11.57 फीसदी और टीसीएस में 5.84 फीसदी की गिरावट दर्ज की गई.

निवेशकों को क्या करना चाहिए?
>> एक्सपर्ट्स का मानना है कि इक्विटी से बाहर निकलने-रिडीम करने का यह सबसे बुरा समय है. दहशत में आकर बाहर निकलने से अब यह मध्यम अवधि के दृष्टिकोण से पछतावे वाला निर्णय साबित हो सकता है.

ये भी पढ़ें: कोरोना की वजह से अब बंद हुई नोटों की छपाई, नासिक करंसी प्रेस पर भी लगा ताला

>> यद्यपि कीमतें गिर चुकी हैं, लेकिन एक्सपर्ट्स चेतावनी देते हैं कि अपने निवेश योग्य सरप्लस को एक ही बार में निवेश कर देना भी जोखिम भरा कदम है.

>> सबसे सही, विवेकपूर्ण और तर्कसंगत कदम यह है कि मौजूदा कीमतों का फायदा उठाकर निवेश शुरू किया जाए (अगर जोखिम उठाने का कोई अच्छा लाभ मिलता हो) लेकिन यह निवेश एक अवधि के दौरान करें.)

(भाषा के इनपुट के साथ)

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए मनी से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: March 23, 2020, 2:16 PM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर