Home /News /business /

अब ये डाटा एनालिटिक्‍स कंपनी IPO लाने की तैयारी में, जुटाएगी 600 करोड़ रुपये, जानें कहां इस्‍तेमाल होगा फंड

अब ये डाटा एनालिटिक्‍स कंपनी IPO लाने की तैयारी में, जुटाएगी 600 करोड़ रुपये, जानें कहां इस्‍तेमाल होगा फंड

अब एक डाटा एलालिटिक्‍स कंपनी आईपीओ लाने की तैयारी में जुट गई है.

अब एक डाटा एलालिटिक्‍स कंपनी आईपीओ लाने की तैयारी में जुट गई है.

लैटेंट व्‍यू एनालिटिक्‍स आईपीओ (Latent View Analytics IPO) से जुटने वाले फंड का इस्‍तेमाल कारोबार को विस्‍तार देने के साथ ही वर्किंग कैपिटल (Working Capital) की जरूरतों को पूरा करने में करेगी.

    नई दिल्‍ली. कोरोना संकट के मुश्किल हालात के बीच एक के बाद एक कई कंपनियों ने आईपीओ पेश कर तगड़ा फंड जुटाया है. इसी कड़ी में अब डाटा एनालिटिक्स सर्विसेज फर्म लैटेंट व्‍यू एलालिटिक्‍स ने आईपीओ (Latent View Analytics IPO) के जरिये 600 करोड़ रुपये जुटाने के लिए पूंजी बाजार नियामक सेबी (SEBI) के पास दस्‍तावेज जमा कर दिए हैं. इस आईपीओ में 474 करोड़ रुपये के नए इक्विटी शेयर्स (Fresh Equity Shares) जारी किए जाएंगे. इसके अलावा प्रमोटर और मौजूदा शेयरहोल्डर्स की ओर से 126 करोड़ रुपये का ऑफर फॉर सेल (OFS) होगा.

    प्रमोटर बेचेंगे 60 करोड़ से ज्‍यादा के शेयर्स
    ऑफर फॉर सेल के तहत प्रमोटर विश्वनाथन वेंकटरमण 60.14 करोड़ रुपये के शेयर्स (Promotors) बेचेंगे. इसके अलावा शेयरहोल्डर्स (Shareholders) रमेश हरिहरन 35 करोड़ रुपये और गोपीनाथ कोटीश्वरन 23.52 करोड़ रुपये के शेयर्स बेचेंगे. डाटा एनालिटिक्‍स कंपनी में वेंकटरमण के पास 69.63 फीसदी, कोटीश्वरन के पास 7.74 फीसदी और हरिहरन के पास 9.67 फीसदी हिस्सेदारी है. नए शेयर्स जारी करने से मिलने वाले फंड का इस्तेमाल कंपनी ग्रोथ (Company Growth) को बढ़ाने, वर्किंग कैपिटल (Working Capital) की जरूरत को पूरा करने के लिए किया जाएगा.

    ये भी पढ़ें- SBI के खास ऑफर्स! स्‍पेशल डिपॉजिट्स स्‍कीम्‍स पर आपको मिलेगा ज्‍यादा मुनाफा, चेक करें नई ब्‍याज दरें

    सहायक कंपनियों में निवेश भी की जाएगी रकम
    लैटेंट व्‍यू एनालिटिक्‍स आईपीओ के जरिये जुटाई जाने वाली रकम का इस्‍तेमाल सहायक कंपनियों में नया निवेश (New Investment) करने के लिए भी करेगी. कंपनी डाटा व एनालिटिक्स कंसल्टिंग, डाटा इंजीनियरिंग और डिजिटल सॉल्यूशंस के कारोबार से जुड़ी है. इसके पास अमेरिका, यूरोप और एशिया के कुछ देशों में क्लाइंट्स हैं. कंपनी की अमेरिका, नीदरलैंड्स, जर्मनी, ब्रिटेन और सिंगापुर में सहायक कंपनियां हैं.

    Tags: Business news in hindi, IPO, Share market, Stock market

    विज्ञापन

    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज

    अधिक पढ़ें

    अगली ख़बर