कमाई के लिए हो जाएं तैयार, FY22 में आएंगे एक दर्जन से ज्यादा फाइनेंशियल सर्विस कंपनियों के IPO

आईपीओ मार्केट फिर से गुलजार होने वाला है.

एक दर्जन से ज्यादा इंश्योरेंस, एसेट मैनेजमेंट, कॉमर्शियल बैंकिंग, नॉन-बैंक, माइक्रो फाइनेंस, हाउसिंग फाइनेंस और पेमेंट्स बैंक कंपनियों ने सेबी (SEBI) के पास आईपीओ के लिए दस्तावेज जमा कराए हैं.

  • Share this:
    मुंबई. देश की सबसे बड़ी ई-वॉलेट कंपनी पेटीएम (Paytm) के बोर्ड ने 22,000 करोड़ रुपये की शेयर बिक्री योजना को मंजूरी दे दी है. ऐसे में आने वाले दिनों में इनिशियल पब्लिक ऑफर यानी आईपीओ (IPO) का बाजार काफी बड़ा रहने की उम्मीद है. फिनटेक सहित करीब एक दर्जन फाइनेंशियल सर्विस कंपनियां चालू वित्त वर्ष के दौरान 55 हजार करोड़ रुपये से अधिक के आईपीओ लाने की तैयारी कर रही हैं. निवेश बैंकरों ने यह जानकारी दी.

    एक दर्जन से ज्यादा इंश्योरेंस, एसेट मैनेजमेंट, कॉमर्शियल बैंकिंग, नॉन-बैंक, माइक्रो फाइनेंस, हाउसिंग फाइनेंस और पेमेंट्स बैंक कंपनियों ने सेबी (SEBI) के पास आईपीओ के लिए दस्तावेज जमा कराए हैं. ऐसे में आगामी महीनों में आईपीओ बाजार में फाइनेंशियल सर्विस क्षेत्र का दबदबा रहने की उम्मीद है.

    इन कंपनियों ने सेबी के पास जमा कराए दस्तावेज
    जिन कंपनियों ने सेबी के पास आईपीओ के लिए दस्तावेज जमा कराए हैं उनमें आधार हाउसिंग फाइनेंस ( 7,500 करोड़ रुपये), पॉलिसी बाजार (4,000 करोड़ रुपये), एप्टस हाउसिंग फाइनेंस (3,000 करोड़ रुपये), स्टार हेल्थ इंश्योरेंस (2,000 करोड़ रुपये), आदित्य बिड़ला सन लाइफ एएमसी (1,500 से 2,000 करोड़ रुपये), आरोहण फाइनेंशियल सर्विसेज (1,800 करोड़ रुपये), फ्यूजन माइक्रोफाइनेंस (1,700 करोड़ रुपये), फिनकेयर स्मॉल फाइनेंस बैंक (1,330 करोड़ रुपये), तमिलनाड मर्केंटाइल बैंक (1,000-1,300 करोड़ रुपये), मेदी एसिस्ट (840 करोड़ रुपये) ओर जन स्मॉल फाइनेंस बैंक (700 करोड़ रुपये) शामिल हैं.

    ये भी पढ़ें- जेफ बेजोस के साथ अंतरिक्ष की सैर करेगा गुमनाम शख्स, 205 करोड़ की बोली लगाई

    देश का सबसे बड़ा आईपीओ होगा पेटीएम का आईपीओ
    इसके अलावा पेटीएम के बोर्ड ने 22,000 करोड़ रुपये के आईपीओ को मंजूरी दे दी है. यदि पेटीएम का आईपीओ आता है तो यह देश का सबसे बड़ा आईपीओ होगा.

    जियोजीत फाइनेंशियल सर्विसेज के मुख्य निवेश रणनीतिकार वी के विजय कुमार ने आईपीओ बाजार का प्रदर्शन काफी हद तक द्वितीयक बाजार के प्रदर्शन से जुड़ा होता है. उन्होंने कहा, ''यदि शेयर बाजार में तेजी है तो इससे बड़ी संख्या में निवेशक आईपीओ बाजार के प्रति आकर्षित होते हैं. विशेषरूप से नए निवेशक ऊंचे संभावित लाभ के लिए आईपीओ बाजार का रुख करते हैं.''

    पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.