रेलवे स्टेशनों पर मिलेगी एयरपोर्ट जैसी सुविधा, नियम तोड़ने पर करनी पड़ेगी जेब ढीली

अब जल्द ही रेलवे स्टेशनों पर भी एयरपोर्ट की तरह एंट्री और एग्जिट रूल लागू होंगे. रेलवे स्टेशन के परिसर में 8 मिनट से ज्यादा गाड़ी रोकने पर आपको जेब ढीली करनी पड़ेगी.

News18Hindi
Updated: July 11, 2019, 12:27 PM IST
रेलवे स्टेशनों पर मिलेगी एयरपोर्ट जैसी सुविधा, नियम तोड़ने पर करनी पड़ेगी जेब ढीली
अब जल्द ही रेलवे स्टेशनों पर भी एयरपोर्ट की तरह एंट्री और एग्जिट रूल लागू होंगे. रेलवे स्टेशन के परिसर में 8 मिनट से ज्यादा गाड़ी रोकने पर आपको जेब ढीली करनी पड़ेगी.
News18Hindi
Updated: July 11, 2019, 12:27 PM IST
अब जल्द ही रेलवे स्टेशनों पर भी एयरपोर्ट की तरह एंट्री और एग्जिट रूल लागू होंगे. सूत्रों से मिली एक्सक्लूसिव जानकारी के मुताबिक रेलवे स्टेशन के परिसर में 8 मिनट से ज्यादा गाड़ी रोकने पर आपको जेब ढीली करनी पड़ेगी. नए नियम के मुताबिक 8 से 15 मिनट अगर आप की गाड़ी स्टेशन परिसर में रुकती है तो 50 रुपये और 15 से 30 मिनट रोकने पर 200 रुपये चार्ज देना पड़ सकता है. अगर आधे घंटे से ज्यादा वक़्त लगता है तो आपकी गाड़ी जब्त भी की जा सकती है और आप पर जुर्माना भी लगाया जा सकता है. नए नियम की शुरुआत नई दिल्ली रेलवे स्टेशन से होगी.

एंट्री के वक्त दी जाएगी पर्ची
एयरपोर्ट की तर्ज पर रेलवे स्टेशन पर एंट्री के वक्त आपको एक पर्ची मिलेगी जिसमें आपके आने का टाइम होगा. रेलवे स्टेशन पर जब आप एंट्री करेंगे तो आपको एक कम्प्यूटराइज्ड पर्ची दी जाएगी जिस पर एंट्री टाइम लिखा होगा, ये पर्ची आपको एग्जिट गेट पर जमा करानी पड़ेगी, जिसके आधार पर अगर आप 8 मिनट से ज़्यादा परिसर में रुकते है तो आपको शुल्क भरना पड़ेगा.



टैक्सी गाड़ियों के लिए लागू होगा नियम
टैक्सी गाड़ियों के लिए यह नियम लागू होगा. इस नए नियम की शुरुआत नई दिल्ली रेलवे स्टेशन से होने जा रही है. इस स्टेशन की एंट्री के लिए ठेका जल्द ही दे दिया जाएगा. रेलवे के मुताबिक इस नई व्यवस्था से स्टेशन परिसर में भीड़भाड़ कम होगी साथ ही सुरक्षा भी मजबूत होगी. ये भी पढ़ें: दिवाली पर आसानी से मिलेगी ट्रेन की कन्फर्म टिकट, जानें कैसे?

रोजाना बढ़ेंगी 4 लाख सीटें
रेलवे ऐसे उपाय करने जा रही है जिससे अक्टूबर से गाड़ियों में आरक्षित यात्रा के लिये रोजाना चार लाख से अधिक सीटें बढ़ेंगी. इसके लिये रेल विभाग ऐसी प्रौद्योगिकी अपनाने जा रहा है जिससे डिब्बों में रोशनी और एयर कंडीशनिंग के लिये बिजली को लेकर अलग से पावर कार लगाने की जरूरत नहीं होगी और यह जरूरत इंजन के माध्यम से ही पूरी हो जाएगी.

ट्रेन टिकट होगा महंगा
भारतीय रेलवे एक विकल्प पर विचार कर रही है, जिसके तहत पैसेंजर्स को अपनी इच्छा से ट्रेन टिकट पर मिलने वाली सब्सिडी या कंसेशन का कुछ हिस्सा या पूरी सब्सिडी छोड़ने की अनुमति दी जाएगी. यह पहल रेलवे बोर्ड के 100 डे रोडमैप का हिस्सा है. सब्सिडी ट्रेन टिकट के बेस फेयर के ऊपर दी जाती है.

(सोर्स- मनीकंट्रोल)

 
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...