टिकट बुकिंग के साथ अब IRCTC कराएगा कमाई, SEBI को सौंपे IPO के पेपर

News18Hindi
Updated: August 22, 2019, 6:34 PM IST
टिकट बुकिंग के साथ अब IRCTC कराएगा कमाई, SEBI को सौंपे IPO के पेपर
अब टिकट बुकिंग के साथ IRCTC कराएगा कमाई, जानें कैसे?

IRCTC रेलवे की पर्यटन एवं खानपान इकाई है. सरकार IPO में बिक्री पेशकश के जरिये 10 रुपये अंकित मूल्य के 2 करोड़ शेयर बिक्री के लिए पेश करेगी.

  • News18Hindi
  • Last Updated: August 22, 2019, 6:34 PM IST
  • Share this:
इंडियन रेलवे कैटरिंग एंड टूरिज्म कॉरपोरेशन (IRCTC) ने इनिशियल पब्लिक ऑफर (IPO) लाने के लिए दस्तावेज भारतीय प्रतिभूति एवं विनिमय बोर्ड (SEBI) के पास जमा कराए हैं. IRCTC रेलवे की पर्यटन एवं खानपान इकाई है. सरकार IPO में बिक्री पेशकश के जरिये 10 रुपये अंकित मूल्य के 2 करोड़ शेयर बिक्री के लिए पेश करेगी.

500 से 600 करोड़ रु का होगा IPO
बाजार सूत्रों का कहना है कि यह आईपीओ 500 से 600 करोड़ रुपये का होगा. आईडीबीआई कैपिटल मार्केट्स एंड सिक्योरिटीज (IDBI Capital Markets & Securities), एसबीआई कैपिटल मार्केट्स (SBI Capital Markets) और यस सिक्योरिटीज (इंडिया) (YES Securities (India) इस निर्गम का प्रबंधन करेंगी.

आईआरसीटीसी देती है ये सर्विस

दस्तावेजों के अनुसार आईआरसीटीसी भारतीय रेलवे द्वारा अधिकृत एकमात्र इकाई है जो खानपान सेवाओं के साथ ऑनलाइन रेल टिक बुक कराने की सुविधा तथा स्टेशनों और ट्रेनों में पेयजल उपलब्ध कराती है. कंपनी के शेयरों को बंबई शेयर बाजार (BSE) और नेशनल स्टॉक एक्सचेंज (NSE) में लिस्ट किया जाएगा. ये भी पढ़ें: रेलवे ने बताया तेजस एक्सप्रेस से कमाई का फॉर्मूला!



अब तक रेलवे की तीन कंपनियां लिस्ट
Loading...

मंत्रिमंडल की आर्थिक मामलों की समिति ने अप्रैल 2017 में रेलवे की 5 कंपनियों को लिस्ट कराने को मंजूरी दी थी. इनमें इरकॉन इंटरनेशनल, राइट्स, रेल विकास निगम (RVNL), आईआरएफसी और आईआरसीटीसी शामिल हैं. इनमें से इरकॉन इंटरनेशनल, राइट्स और RVNL को 2018-19 में लिस्ट कर लिया गया है.

क्या होता है आईपीओ?
जब कोई कंपनी पहली बार आम लोगों के सामने कंपनी का कुछ हिस्सा बेचने का प्रस्ताव रखती है तो इस प्रक्रिया को इनीशियल पब्लिक ऑफर (IPO) कहा जाता है. इसके लिए कंपनियां खुद को शेयर बाजार में लिस्ट कराकर अपने शेयर निवेशकों को बेचने का प्रस्ताव लाती हैं. लिस्टेड होने के बाद कंपनी के शेयर्स की खरीद और बिक्री शेयर बाजार में संभव होती है. सरकार ने चालू वित्त वर्ष के दौरान केंद्रीय सार्वजनिक क्षेत्र उपक्रमों के विनिवेश से 90,000 करोड़ रुपए का बजट लक्ष्य रखा है. पिछले वित्त वर्ष में विनिवेश से 85,000 करोड़ रुपए जुटाने का लक्ष्य रखा गया था.



IPO में कैसे करें निवेश?
IPO में आप अपने स्तर पर सीधे निवेश कर सकते हैं, जिसके लिए आपके पास डीमैट अकाउंट होना जरूरी है. इसमें ब्रोकर के जरिए निवेश किया जा सकता है. हर ब्रोकरेज हाउस आईपीओ में निवेश के लिए अपनी वेबसाइट पर एक अलग सेक्शन रखता है. जहां जाकर आप कुछ सूचनाएं भरने के बाद आईपीओ के लिए आवेदन कर सकते हैं. इन सूचनाओं में प्रमुख है कि आप कितने स्टॉक के लिए किस कीमत पर अप्लाई करना चाहते हैं. आपके आवेदन के हिसाब से उतनी रकम आईपीओ बंद होने से लिस्टिंग तक ब्लॉक कर दी जाती है.

किन बातों का ध्‍यान रखें ध्यान
अच्छा आईपीओ चुनने के लिए सबसे पहले तो उस कंपनी की साख देखें जो अपना आईपीओ ले आ रही है. कई रेटिंग एजेंसियां उस आईपीओ को अपना रेटिंग भी देती हैं, जिसपर नजर रखना जरूरी है. अगर 2 या 2 से अधिक एजेंसियों की रेटिंग आईपीओ पर पॉजिटिव है तो उसमें निवेश किया जा सकता है. कंपनी के अच्छे बिजनेस के साथ साथ आईपीओ की कीमत भी देखें. ब्रोकर्स की रिपोर्ट को भी देखना चाहिए. बाजार प्रमोटर्स के अलावा दूसरे निवेशकों के बारे में भी जानकारी जुटाएं.

ये भी पढ़ें: अयोध्‍या से श्रीलंका तक दर्शन कराएगी रामायण एक्सप्रेस ट्रेन, ये है रूट

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए मनी से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: August 22, 2019, 6:23 PM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...