70 दिन से बंद IRCTC की प्राइवेट ट्रेन इस वजह से नहीं हो पा रही शुरू!

70 दिन से बंद IRCTC की प्राइवेट ट्रेन इस वजह से नहीं हो पा रही शुरू!
IRCTC की प्राइवेट ट्रेन

IRCTC (Indian Railways Catering and Tourism Corporation) देश में तीन प्राइवेट ट्रेन चलाती है. ये ट्रेन दिल्ली से लखनऊ और अहमदाबाद से मुंबई के बीच चलती है. लेकिन लॉकडाउन के चलते इनका परिचालन 22 मार्च को रोक दिया गया.

  • Share this:
नई दिल्ली. भारतीय रेलवे (Indian Railway) की सब्सिडियरी कंपनी इंडियन रेलवे कैटरिंग एंड टूरिज्म कॉरपोरेशन (IRCTC-Indian Railways Catering and Tourism Corporation) की तीन प्राइवेट ट्रेनों का परिचालन पिछले 70 दिन से बंद है. सूत्रों से मिली जानकारी के मुताबिक, इनको फिलहाल नहीं चलाया जाएगा. ट्रेनों में अभी 50 फीसदी से ज्यादा ऑक्युपेंसी नहीं है. इसलिए इन ट्रेनों को चलाना अभी फायदेमंद नहीं है. आपको बता दें कि देश की पहली प्राइवेट ट्रेन तेजस एक्सप्रेस लखनऊ से दिल्ली रूट पर चली. इसके बाद दूसरी प्राइवेट ट्रेन अहमदाबाद-मुंबई रूट पर शुरू हुई. तीसरी प्राइवेट ट्रेन वाराणसी से इंदौर के लिए शुरू हुई.

इस वजह से प्राइवेट ट्रेनों को शुरू होने में लगेगा समय- IRCTC सूत्रों की मानें तो मौजूदा समय में चल रही 200 स्पेशल ट्रेनों में 50 फीसदी ही ऑक्युपेंसी (आधी सीटें ही बुक हो रही है) है. फिलहाल, लोग कोरोना के डर की वजह से घर में ही है. मौजूदा समय में वहीं लोग ट्रैवल कर रहे है जो लॉकडाउन के दौरान कहीं दूसरी जगह पर फंस गए थे.

200 नई ट्रेन हुई शुरू- 1 जून से देशभर में ट्रेन की पटरियों पर रेलगाड़ियों की आवाजाही (Train operation resume) भी बढ़ गई  है. 100 जोड़ी, यानी कुल 200 नई ट्रेनों का परिचानल शुरू हो गया है. ये ट्रेनें मेल, एक्सप्रेस, दूरंतो और जनशताब्दी कैटिगरी की है. इनमें एसी और नॉन-एसी, स्लीपर और जनरल, सभी तरह के कोच लगे है. इससे हर वर्ग के यात्री इन ट्रेनों में सफर कर सकते है.



ये ट्रेनें अभी दिल्ली समेत देश के 15 शहरों से चल रहीं 30 जोड़ी एसी स्पेशल ट्रेनों और श्रमिकों को लाने ले जाने के लिए चलाई जा रही सैकड़ों श्रमिक स्पेशल ट्रेनों से अलग है. इन ट्रेनों के परिचालन को देखते हुए दिल्ली के रेलवे स्टेशनों पर भी कई खास इंतजाम किए जा रहे हैं, ताकि यात्री सोशल डिस्टेंसिंग को मेंटेन रखते हुए यात्रा कर सकें.



रेलवे स्टेशनों पर आने-जाने वाली ट्रेनों की संख्या बढ़ने के साथ ही यात्रियों की तादाद भी बढ़ेगी. चूंकि जाने वाले यात्रियों को ट्रेन के प्रस्थान के समय से 45 मिनट पहले स्टेशन पहुंचने की सलाह दी गई है, ऐसे में एंट्री गेट की तरफ रश भी ज्यादा रहेगा.

इस बीच अगर कोई ट्रेन बाहर आती है और स्टेशन पर रुकती है, तो उससे उतरने वाले यात्री एग्जिट करते वक्त एंट्री कर रहे यात्रियों से अलग रहें, इसके लिए पांचों स्टेशनों पर विशेष इंतजाम किए जा रहे हैं.

(दिपाली नंदा, संवाददाता- CNBC आवाज़)
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज

corona virus btn
corona virus btn
Loading