बदल चुके हैं रेलवे के ट्रेन टिकट बुकिंग नियम: सफर से पहले जानना है बेहद जरूरी, नहीं तो...

Indian Railways ने ट्रेन टिकट बुकिंग और रिजर्वेशन चार्ट को लेकर कई बड़े बदलाव किए हैं.
Indian Railways ने ट्रेन टिकट बुकिंग और रिजर्वेशन चार्ट को लेकर कई बड़े बदलाव किए हैं.

इंडियन रेलवे (Indian Railways) ने ट्रेन टिकट बुकिंग और रिजर्वेशन चार्ट को लेकर कई बड़े बदलाव किए हैं. अब से यात्रियों को अचानक ट्रेन टिकट बुकिंग के लिए पहले की तुलना में ज्यादा समय मिलेगा.

  • News18Hindi
  • Last Updated: October 21, 2020, 7:43 AM IST
  • Share this:
नई दिल्ली: इंडियन रेलवे (Indian Railways) ने ट्रेन टिकट बुकिंग और रिजर्वेशन चार्ट को लेकर कई बड़े बदलाव किए हैं. नियमों में हुए बदलाव के बाद से यात्रियों को अचानक ट्रेन टिकट बुकिंग के लिए पहले की तुलना में ज्यादा समय मिलेगा. यानी अब ट्रेन के स्टेशन से निकलने से पहले यात्री 30 मिनट तक टिकट बुकिंग कर सकेंगे. आपको बता दें कि त्‍योहारी सीजन (Festive Season) में बढ़ी मांग को देखते हुए भारतीय रेलवे (Indian Railways) कल यानी 20 अक्‍टूबर 2020 से 392 स्‍पेशल ट्रेनें (Special Trains) शुरू कर रहा है. ये फेस्टिवल स्पेशल ट्रेनें (Festival Special Trains) कोलकाता, पटना, वाराणसी, लखनऊ दिल्‍ली से चलेंगी ताकि दुर्गा पूजा, दशहरा, दिवाली, छठ पूजा पर यात्रियों की जबरदत मांग को पूरा किया जा सके. फेस्टिवल स्‍पेशल ट्रेनों के साथ ही लॉकडाउन के बाद अब तक शुरू की जा चुकीं ट्रेनों के लिए आरपीएफ (RPF) ने सख्‍त नियम जारी किए हैं.

पहले क्या था नियम?
रेलवे द्वारा जारी बयान में कहा गया है कि कोरोना काल से पहले के नियम के तहत, पहला रिजर्वेशन चार्ट ट्रेन खुलने के 4 घंटे पहले तैयार होता है. इसके बाद इंटरनेट या PRS सिस्टम के जरिए उपलब्ध बुकिंग पहले-आओ-पहले-पाओ आधार पर होती थी. यह बुकिंग दूसरे रिजर्वेशन चार्ज बनने से पहले तक होता था.


यह भी पढ़ें: Amazon पर ग्रेट इंडियन फेस्टिवल सेल की ग्रैंड शुरुआत, जानिए अब कौन-कौन से सामान खरीद रहे हैं लोग



किन यात्रियों को मिलेगा फायदा?
बता दें रेलवे के इस नए नियम का फायदा उन यात्रियों को होगा जो अचानक कहीं जाने के लिए निकलते हैं. ऐसे यात्रियों के लिए ट्रेन के खुलने से 30 मिनट पहले तक ऑनलाइन और पीआरएस टिकट काउंटरों से टिकट बुकिंग की सुविधा होगी.

कोरोना काल में विभाग ने बदला था समय
बता दें रिजर्वेशन चार्ज ट्रेन खुलने के 30 ​से 5 मिनट पहले तक तैयार किया जाता था. इस दौरान रिफंड नियमों के तहत पहले से बुक किए गए टिकटों को कैंसिल कराने की भी अनुमति होती थी. कोरोना वायरस महामारी की वजह से दूसरे रिजर्वेशन चार्ट के नियमों में बदलाव गया था. लेकिन दोबारा से नियम में बदलाव करते हुए, अब फिर से दूसरा रिजर्वेशन चार्ट ट्रेन छूटने के समय से 30 मिनट पहले बनेगा.

इसके अलावा दूसरा चार्ट तैयार होने से पहले टिकट बुकिंग की सुविधा ऑनलाइन और पीआरएस टिकट काउंटरों पर उपलब्ध रहेगी. ट्रेन छूटने से 30 मिनट पहले चार्ट बनाने की तकनीक को बहाल करने के लिए रेल सूचना प्रणाली केंद्र (क्रिस-CRIS) सॉफ्टवेयर में आवश्यक संशोधन कर दिया है.

यह भी पढ़ें: रेलवे के साथ कमाई करने का शानदार मौका: शुरू की नई स्कीम, ऐसे कमाएं लाखों!

रेलवे ने दी जानकारी
रेलवे ने कहा, 'रेल यात्रियों के लिए सुविधा सुनिश्चित करने के वास्ते जोनल रेलवे द्वारा किए गए अनुरोध के हिसाब से इस मामले पर विचार किया गया. इसके बाद तय किया गया कि दूसरा रिजर्वेशन चार्ट ट्रेनों के निर्धारित प्रस्थान समय से कम से कम 30 घंटा पहले तैयार कर लिया जाए.'
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज