इरडा ने कंपनियों से नए इंश्योरेंस प्रोडक्ट लाने को कहा, घर पर होने वाले इलाज का भी होगा बीमा

कोविड 19 ने हेल्थ इंश्योरेंस का महत्व और डिमांड दोनों बढ़ा दी है.

Corona काल में ईलाज का तरीका भी काफी बदल गया है. लाखों लोगों ने कोरोना महामारी (Corona Pandemic) में घर पर ही अपना ईलाज करवाया. इसी जरूरत को देखते हुए भारतीय बीमा नियामक एवं विकास प्राधिकरण (IRDA) ने Insurance companies को नए तरह का प्रोडक्ट तैयार करने के लिए कहा है.

  • Share this:
    नई दिल्ली . Corona काल में इलाज का तरीका भी काफी बदल गया है. लाखों लोगों ने कोरोना महामारी (Corona Pandemic)  में घर पर ही अपना इलाज करवाया. इसी जरूरत को देखते हुए भारतीय बीमा नियामक एवं विकास प्राधिकरण (IRDA) ने Insurance companies को नए तरह का प्रोडक्ट तैयार करने के लिए कहा है. ताकि घर पर किसी बीमारी के इलाज के मामले में भी हेल्थ इंश्योरेंस कवर (Health Insurance Cover) मिल सके.

    कोरोना काल में घर पर इलाज के मामले में इंश्योरेंस कवरेज की सफलता को देखते हुए इरडा ने नए तरीके से घर पर होने वाले इलाज के लिए कंपनियों को यह सुविधा उपलब्ध कराने के लिए कहा है.
    पहले से चली आ रही पॉलिसी में जोड़ सकती हैं सुविधा
    इरडा की तरफ से इंश्योरेंस कंपनियों को भेजे गए सर्कुलर में कहा गया है कि कंपनियां चाहें तो अपने ग्राहकों से कुछ शुल्क लेकर पहले से चले आ रहे हेल्थ इंश्योरेंस में यह सुविधा जोड़ सकती हैं या होम केयर ट्रीटमेंट कवरेज के साथ नया उत्पाद ला सकती है.

    यह भी पढ़ें- अगर छुट्टियों पर निकलने की तैयारी कर रहे हैं, तो जानें क्यों जरूरी है ट्रैवेल इंश्योरेंस

    होम ट्रीटमेंट में यह सुविधा

    इरडा के मुताबिक होम ट्रीटमेंट इंश्योरेंस के तहत डाक्टर की सलाह पर किसी ऐसी बीमारी का इलाज अगर घर पर होता है जिसके लिए अस्पताल जाना जरूरी माना जाता है तो उसे कवर किया जाएगा. अभी आमतौर पर अस्पताल में भर्ती होकर इलाज कराने पर ही हेल्थ इंश्योरेंस का फायदा मिलता है.
    कंपनियों को भी होगा फायदा

    विडाल हेल्थ के संयुक्त प्रबंध निदेशक शंकर बाली ने बताया कि होम ट्रीटमेंट वाले हेल्थ इंश्योरेंस उत्पाद सीमित तरीके से अब भी उपलब्ध हैं, लेकिन इरडा के नए सर्कुलर से होम ट्रीटमेंट के नए तरह के प्रोडक्ट कंपनियां ला सकती हैं. इससे ग्राहकों के साथ कंपनियों को भी फायदा होगा.

    नर्स की मदद से हो सकता है इलाज

    बाली ने बताया, 'मान लीजिए कोई मरीज सर्जरी कराता है और बाद में उसकी ड्रेसिंग या फिजियोथेरेपी की जरूरत पड़ती है, तो यह अभी इंश्योरेंस में कवर नहीं होता है. नए उत्पाद में घर पर होने वाले इस प्रकार के इलाज को भी शामिल किया जा सकता है. डाक्टर वीडियो कांफ्रेंसिंग से मरीज को देख लेता है और घर पर नर्स की मदद से इलाज को अंजाम दिया जाता है तो इसे भी इंश्योरेंस के तहत कवर किया जा सकता है.'
    कंपनियों का खर्च भी बचेगा

    विशेषज्ञों के मुताबिक, इस प्रकार के उत्पाद से इंश्योरेंस कंपनियों का खर्च भी बचेगा क्योंकि घर पर होने वाले इलाज की लागत अस्पताल की तुलना में कम आएगी और ऐसे उत्पाद की बिक्री अधिक होने की भी संभावना रहेगी.

    पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.