फ्रॉड रोकने के लिए IRDA की पहल, इंश्योरेंस पॉलिसी के लिए आएगी यूनिक आईडी

ऑनलाइन फ्रॉड करने वाले नए-नए पैंतरे अपनाकर लोगों को अपना शिकार बना रहे हैं.

ऑनलाइन फ्रॉड करने वाले नए-नए पैंतरे अपनाकर लोगों को अपना शिकार बना रहे हैं.

इंश्योरेंस रेगुलेटरी एंड डेवलपमेंट अथॉरिटी ऑफ इंडिया यानी इरडा (Insurance Regulatory and Development Authority of India) जालसाजी रोकने के लिए कमर कस रही है.

  • Share this:
नई दिल्ली. अब इंश्योरेंस पॉलिसी (Insurance Policy) का यूनिक आईडी जारी किया जाएगा, ताकि एक ही क्लिक पर पॉलिसी की पूरी डिटेल सामने आ जाए. दरअसल, इंश्योरेंस कंपनियों (Insurance Companies) के नाम पर फ्रॉड से ग्राहकों को बचाने के लिए कंपनियां तैयारी कर रही हैं. इसके लिए एक यूनिक हेडरवाली पहचान या आईडेंटिटी अलॉट की जाएगी.

इंश्योरेंस के नाम पर फेक मैसेज और कॉल पर लगाम की तैयारी

इंश्योरेंस रेगुलेटरी एंड डेवलपमेंट अथॉरिटी ऑफ इंडिया यानी इरडा (Insurance Regulatory and Development Authority of India) जालसाजी रोकने के लिए  कमर कस रही है. इरडा की इंश्योरेंस के नाम पर फेक मैसेज और कॉल पर लगाम की तैयारी है. अब स्पैम मैसेज या कॉल्स की पहचान करना आसान होगा. इसके लिए इंश्योरेंस कंपनियों के लिए यूनिक हेडर वाली आईडी अलॉट होगी.

ये भी पढ़ें- Uni Carbon Credit Card: यूनियन बैंक का हिंदुस्तान पेट्रोलियम के साथ नया क्रेडिट कार्ड, तेल भरवाने पर मिलेगा 4 फीसदी कैशबैक
यूनिक आईडी से ग्राहकों से संपर्क करेंगी इंश्योरेंस कंपनियां

इंश्योरेंस कंपनियां इस यूनिक आईडी से ग्राहकों से संपर्क करेंगी. ग्राहकों को फ्रॉड से बचाने के लिए इरडा ये पहल कर रही है. इस पहल के कहत कंपनियों को टेलीकॉम ऑपरेटर से यूनिक आईडी लेनी होगी. इसके लिए टेम्पलेट्स रजिस्ट्रेशन 5 अप्रैल तक पूरा करने का निर्देश दिया गया है. रजिस्ट्रेशन नहीं कराने पर मैसेज या कॉल में दिक्कत होगी.

ये भी पढ़ें: SBI, HDFC, ICICI ग्राहकों के लिए जरूरी खबर! 1 अप्रैल से बंद हो सकती है SMS सर्विस, बैंकों को मिली 31 मार्च तक की डेडलाइन



बता दें कि ऑनलाइन फ्रॉड करने वाले नए-नए पैंतरे अपनाकर लोगों को अपना शिकार बना रहे हैं. बदमाशों ने ठगी का नया तरीका ढूंढ़ लिया है. अब वे लोगों को इंश्योरेंस पॉलिसी पर बोनस का झांसा देकर शिकार बना रहे हैं. पॉलिसी पर लाखों का बोनस ऑफर बताकर वे बोनस लेने के लिए उनसे टैक्स के रूप में पैसे ऐंठ रहे हैं.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज