IRDA ने दिए इंश्योरेंस कंपनियों को निर्देश, पॉलिसी होल्डर्स के लिए टीकाकरण को बनाएं सुगम

देश में 1 मार्च से कोरोना वैक्सीनेशन का दूसरा चरण शुरू हो चुका है.

देश में 1 मार्च से कोरोना वैक्सीनेशन का दूसरा चरण शुरू हो चुका है.

इरडा (IRDA) ने इंश्योरेंस कंपनियों को पात्र लोगों के लिए सरकारी या निजी अस्पतालों में टीकाकरण को सुगम बनाने के लिए विशेष व्यवस्था करने का भी निर्देश दिया.

  • Share this:
नई दिल्ली. इंश्योरेंस रेगुलेटरी एंड डेवलपमेंट अथॉरिटी ऑफ इंडिया यानी इरडा (IRDA) ने शुक्रवार को इंश्योरेंस कंपनियों से कोविड-19 टीकाकरण (COVID-19 Vaccination) अभियान में शामिल होने और पॉलिसी होल्डर्स के बीच इस बारे में जागरूकता पैदा करने को कहा. इरडा ने इंश्योरेंस कंपनियों को पात्र लोगों के लिए सरकारी या निजी अस्पतालों में टीकाकरण को सुगम बनाने के लिए विशेष व्यवस्था करने का भी निर्देश दिया.

इरडा ने 3 मार्च को दिशानिर्देश भेजा था. हालांकि, उसने अपनी वेबसाइट पर प्रेस विज्ञप्ति के जरिए इस बारे में शुक्रवार (19 मार्च) को फिर से बताया. इरडा ने इंश्योरेंस कंपनियों को जारी निर्देश में कहा कि सभी इंश्योरेंस कंपनियों से आग्रह है कि वे इस राष्ट्रीय प्रयास में शामिल हों.

ये भी पढ़ें- UP, बिहार, झारखंड और पं. बंगाल जाने वाली इन 48 स्पेशल ट्रेनों के परिचालन में हुआ विस्तार, यहां देखें पूरी लिस्ट

इरडा ने पत्र में कहा था कि बीमा कंपनियां पॉलिसी होल्डर्स के बीच पात्र लोगों के लिए सरकारी या निजी अस्पतालों में पॉलिसी होल्डर्स के विकल्प के तहत टीकाकरण को सुगम बनाने की विशेष व्यवस्था करें. पत्र के मुताबिक, ''पहले बीमा कंपनियां पॉलिसी होल्डर्स के बीच एसएमएस या ई-मेल के जरिये टीकाकरण को लेकर जागरूकता पैदा करें. दूसरा, वे पॉलिसी होल्डर्स को समूह के रूप में टीकाकरण के लिए सहायता कर सकते हैं. इसके लिए वे पहले से बुकिंग के जरिए उनके लिए टीकाकरण की व्यवस्था कर सकते हैं.''
ये भी पढ़ें- खुशखबरी: प्रधानमंत्री जन औषधि केंद्र खोलने वालों को अब 7 लाख रुपये देगी मोदी सरकार, ऐसे करें अप्लाई

देश में शुरू हो चुका है 2.O Vaccination अभियान

गौरतलब है कि देश में 1 मार्च से कोरोना वैक्सीनेशन का दूसरा चरण शुरू हो चुका है. वैक्सीनेशन में 60 साल से ऊपर की उम्र वालों के साथ-साथ 45 से 60 साल तक की उम्र के उन लोगों को भी वैक्सीन की डोज दी जा रही है, जो गंभीर बीमारियों से ग्रसित हैं. लोग सरकारी अस्पतालों के साथ-साथ निजी अस्पतालों में भी कोरोना लगवा रहे हैं. 1 मार्च को पीएम मोदी ने कोरोना का पहला डोज लगवाया वहीं पीएम मोदी ने सभी से बेफिक्र होकर कोरोना का टीका लगाने की बात कही.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज