अपना शहर चुनें

States

IRFC IPO: इंडियन रेलवे फाइनेंस कॉरपोरेशन के IPO में निवेश का आज है आखिरी मौका, ऐसे करें सब्सक्रिप्शन- जानें सबकुछ

इंडियन रेलवे फाइनेंस कॉरपोरेशन
इंडियन रेलवे फाइनेंस कॉरपोरेशन

IRFC IPO: अगर आप भी शेयर बाजार में निवेश करने की सोच रहे हैं तो इंडियन रेलवे फाइनेंस कॉरपोरेशन (IRFC) के आईपीओ में निवेश का आज आखिरी दिन है. फटाफट करें ऐसे करें सब्सक्रिप्शन.

  • News18Hindi
  • Last Updated: January 20, 2021, 8:41 AM IST
  • Share this:
नई दिल्ली. आईपीओ में निवेश कर मुनाफा कमाने के इच्छुक लोगों के लिए आज अच्छा मौका है। भारतीय रेलवे (Indian Railway) की सहयोगी इंडियन रेलवे फाइनेंस कॉरपोरेशन (IRFC) के आईपीओ में निवेश का आज आखिरी दिन हैं. इस आईपीओ के जरिए कंपनी की 4,600 करोड़ रुपये जुटाने की योजना है. बता दें कि IRFC के आईपीओ 18 जनवरी को खुले थे. बोली के पहले ही दिन रिटेल निवेशकों के लिए रिजर्व सेक्शन का 80 फीसदी हिस्सा सब्सक्राइब हो चुका था. वहीं निवेश के दूसरे दिन 95 फीसदी सब्सक्राइब हुआ है. इसमें रिटेल निवेशकों की हिस्सेदारी ज्यादा है.

कंपनी ने 118.7 करोड़ इक्विटी शेयर जारी किए हैं जबकि 124.75 करोड़ इक्विटी शेयरों के लिए बोली लगाई गई है. शेयरों की इन संख्या में एंकर बुक शामिल हैं. कंपनी के एंकर बुक को पहले ही निवेशकों की अच्छी प्रतिक्रिया मिल चुकी है.

रिटेल इनवेस्टर्स ने दिखाई खासी दिलचस्पी
रिटेल इनवेस्टर्स भी आईपीओ में काफी दिलचस्पी ले रहे हैं. IRFC ने रिटेल निवेशकों के लिए जो पोर्शन अलग रखा है वह 1.8 गुना सब्सक्राइब हो चुका है. जबकि कर्मचारियों के लिए अलग रखा गया हिस्सा 17.61 गुना भर चुका है. गैर-संस्थागत निवेशकों का पोर्शन 14.7 फीसदी भर चुका है जबकि संस्थागत निवेशकों का हिस्सा 0.02 फीसदी भरा है.
प्राइस बैंड 25-26 रुपये


कंपनी के इश्यू का प्राइस बैंड 25-26 रुपये प्रति शेयर है. कंपनी को इससे 46,00 करोड़ रुपये जुटाने की उम्मीद है. आईपीओ के बाद कंपनी में सरकार की हिस्सेदारी घटकर 86.4 फीसदी रह जाएगी. फिलहाल, आईआरएफसी एंकर इंवेस्‍टर्स (Anchor Investors) से 1,390 करोड़ रुपये जुटा चुकी है.

ये भी पढ़ें: Indigo Paints IPO: आज से शुरू होगा सब्सक्रिप्शन, पैसे लगाने से पहले यहां पढ़ें पूरी जानकारी

आईआरएफसी के आईपीओ के तहत 178.20 करोड़ शेयर जारी किए गए हैं. इनमें से 118.80 इक्विटी शेयर फ्रेश इश्यू हैं, जबकि 59.40 करोड़ इक्विटी शेयर प्रेसिडेंट ऑफ इंडिया की तरफ से बेचे जा रहे हैं. इसमें से 50 लाख रुपये के शेयर कर्मचारियों के लिए रिजर्व हैं.

कितना करना होगा निवेश
इस इश्यू में कम से कम 575 इक्विटी शेयरों के लिए बिड करना जरूरी होगा. यानी 575 शेयरों का एक लॉट होगा. अधिकतम 13 लॉट के लिए आईपीओ में पैसा लगाया जा सकता है. आईआरएफसी के आईपीओ में 50 फीसदी इश्यू क्वालिफाइड इंस्टीट्यूशनल बॉयर्स (QIB) के लिए रिजर्व है. जबकि 15 फीसदी हिस्सा नॉन इंस्टीट्यूशनल बॉयर्स के लिए. 35 फीसदी हिस्सा रिटेल निेवशकों के लिए रिजर्व है.

ऐसे करें आवेदन
किसी भी दूसरे आईपीओ की तरह, अपने बैंक में उपलब्ध ब्लॉक्ड एमाउंट द्वारा समर्थित अनुप्रयोगों के माध्यम से कोई भी आवेदन कर सकता है. इसके अलावा आईपीओ फॉर्म द्वारा भी आवेदन किया जा सकता है.

ये भी पढ़ें: Exclusive: केंद्रीय मंत्री हरदीप सिंह पुरी ने कहा, सरकार का एविएशन सेक्‍टर में पब्लिक-प्राइवेट पार्टनरशिप पर है जोर

12 दिसंबर 1986 को हुई थी IRFC की स्थापना
भारतीय रेलवे वित्त निगम (IRFC) की स्थापना 12 दिसंबर 1986 को भारतीय रेलवे की समर्पित वित्तपोषण शाखा के रूप में की गई थी ताकि घरेलू और साथ ही विदेशी पूंजी बाजार से फंड जुटाया जा सके. अमिताभ ने कहा कि आईपीओ कंपनी के मूल्य को और बढ़ाएगा और बेहतर कॉरपोरेट गवर्नेंस नॉर्म्स में लाएगा. इससे कंपनी के कामकाज में और अधिक पारदर्शिता आएगी.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज