Infosys के ढाई लाख कर्मचारियों को झटका, इस साल नहीं बढ़ेगी सैलरी, प्रोमोशन भी रुका

कोरोनाकाल में Infosys के 74 कर्मचारी बन गए करोड़पति, वहीं CEO ने नहीं ली सैलरी

कोरोनाकाल में Infosys के 74 कर्मचारी बन गए करोड़पति, वहीं CEO ने नहीं ली सैलरी

देश की दूसरे सबसे बड़ी आईटी कंपनी Infosys ने सोमवार को कहा कि वो इस साल अपने कर्मचारियों को प्रोमोशन और सैलरी हाइक नहीं देगी. हालांकि, कंपनी ने यह भी कहा कि कोविड-19 की वजह से कोई छंटनी भी नहीं करेगी.

  • News18Hindi
  • Last Updated: April 20, 2020, 8:49 PM IST
  • Share this:

नई दिल्ली. देश की दूसरी सबसे बड़ी IT कंपनी Infosys ने इस साल प्रोमोशन, नई हायरिंग और सैलरी हाइक को रोक दिया है. कोरोना वायरस की वजह से पैदा हुए संकट का असर अब इस दिग्गज IT कंपनी की रेवेन्यू मार्जिन पर भी दिखने लगा है. इन्फोसिस के CFO निलंजन रॉय ने कहा कि कंपनी ने कॉस्ट मैनेजमेंट को ध्यान में रखते हुए नई हायरिंग, प्रोमोशन और सैलरी हाइक को रोक दिया है.

क्लाउड सर्विस की मांग बढ़ी

हालांकि, इन्फोसिस के CEO सलिल पारेख (Salil Parekh) का कहना है कि क्लाउड सर्विस के क्षेत्र में ज्यादा क्लाइंट्स रुचि दिखा रहे हैं. कोरोना वायरस की वजह से कंपनी के रेवेन्यू पर निगेटिव असर देखने को मिला है. रॉय ने कहा कि अभी तक कंपनी ने जो भी हायरिंग को लेकर फैसले लिए हैं, उस पर प्रतिबद्ध रहेगी.

यह भी पढ़ें: यूरोप में कंपनियां खरीद रहा है चीन, यूरोप कैसे भांप रहा है साज़िश?
इन सेक्टर्स पर पड़ेगा कोविड-19 का असर



रॉय ने आगे कहा कि मौजूदा वातावरण में रिटेल, ट्रैवल एंड हॉस्पिटेबिलिटी, एनर्जी और तेल जैसे सेक्टर्स को सबसे अधिक झटका लगा है. उन्होंने कहा कि कार्ड्स और पेमेंट्स सेक्टर के लिए भी चुनौतीपूर्ण माहौल है.

चरणबद्ध तरीके से काम पर लौटेंगे कर्मचारी

इन्फोसिस के COO प्रवीन राव ने कहा कि कोविड-19 की वजह से कंपनी कोई छंटनी नहीं करेगी. खासकर, इस स्टेज पर कंपनी ने ऐसा कोई फैसला नहीं लिया है. उन्होंने कहा कि कर्मचारी चरणबद्ध तरीके से काम पर लौटेंगे. पहले चरण रमें कुल 2,40,000 कर्मचारियों में केवल 5 फीसदी कर्मचारी ही काम पर लौटेंगे. उन्होंने कहा कि वित्त वर्ष 2021 में कंपनी 35,000 नई नौकरियां देगी.

यह भी पढ़ें: भारत ने चीन को सबक सिखाने के लिए उठाया बड़ा कदम, करोड़ों के नुकसान से घबराया चीन

चौथी तिमाही में घटा इन्फोसिस का मुनाफा

बता दें कि आज चौथी तिमाही के नतीजे भी जारी किए हैं. 31 मार्च को खत्म हुई चौथी तिमाही में इन्फोसिस की रुपये में होने वाली आय पिछली तिमाही के 23,092 करोड़ रुपये से बढ़कर 23,267 करोड़ रुपये रही है. वहीं इसी अवधि में कंपनी की डॉलर आय पिछली तिमाही के 32.43 करोड़ डॉलर से घटकर 31.97 करोड़ डॉलर रही है. तीसरी तिमाही में कंपनी का मुनाफा पिछली तिमाही के 4,457 करोड़ रुपये से घटकर 4,321 करोड़ रुपये रहा है. चौथी तिमाही मे कंपनी को 165 करोड़ डॉलर की बड़ी डील्स मिली हैं.

यह भी पढ़ें: Coronavirus से लोगों को बचाने के लिए बना सबसे सस्ता N95 मास्क, कीमत ₹ 50 से कम

अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज