होम /न्यूज /व्यवसाय /वित्तीय अस्थिरता और ग्लोबल समस्याओं के बीच आईटी स्टॉक्स पर क्या है विश्लेषक की राय, पढ़िए डिटेल रिपोर्ट 

वित्तीय अस्थिरता और ग्लोबल समस्याओं के बीच आईटी स्टॉक्स पर क्या है विश्लेषक की राय, पढ़िए डिटेल रिपोर्ट 

बीएसई आईटी सूचकांक इस साल अबतक लगभग 24 प्रतिशत गिर गया है.

बीएसई आईटी सूचकांक इस साल अबतक लगभग 24 प्रतिशत गिर गया है.

बाजार के मौजूदा हालात में आईटी शेयरों में गिरावट हो रही है और बीएसई आईटी सूचकांक इस साल अबतक लगभग 24 प्रतिशत गिर गया है ...अधिक पढ़ें

नई दिल्ली . सूचना प्रौद्योगिकी (आईटी) कंपनियों के शेयरों पर अभी दबाव बने रहने का अनुमान है. विश्लेषकों ने यह राय जताते हुए कहा कि प्रमुख वैश्विक बाजारों में बिगड़ती आर्थिक स्थिति और वित्तीय बाजार में उतार-चढ़ाव के चलते ऐसा होने की आशंका है. देश की सबसे बड़ी सॉफ्टवेयर निर्यातक टाटा कंसल्टेंसी सर्विसेज (टीसीएस) का जून तिमाही का शुद्ध लाभ 5.2 प्रतिशत बढ़ा है. कंपनी के तिमाही नतीजे शुक्रवार को कारोबार बंद होने के बाद आए थे.

इस बीच, आईटी शेयरों में गिरावट हो रही है और बीएसई आईटी सूचकांक इस साल अबतक लगभग 24 प्रतिशत गिर गया है. विश्लेषकों का मानना ​​है कि विनिमय दर में उतार-चढ़ाव और बड़े पैमाने पर प्रतिभा की कमी के चलते वेतन बढ़ाने की चुनौतियों से मार्जिन पर असर पड़ रहा है.

यह भी पढ़ें– TCS shares: रिजल्ट के बाद टीसीएस के स्टॉक पर क्या है ब्रोकरेज और एक्सपर्ट्स की राय, बाई या सेल?

ब्रिटेन पर बारिक नजर
हालांकि, कोई भी निष्कर्ष निकालना अभी जल्दबाजी होगी, लेकिन ब्रिटेन में चल रहे घटनाक्रम पर भी सभी की बारिक नजर है. वहां तेजी से बदले राजनीतिक घटनाक्रम में भारतीय मूल के ऋषि सुनक प्रधानमंत्री बनने के प्रबल दावेदार माने जा रहे हैं. सुनक इन्फोसिस के सह-संस्थापक एन आर नारायण मूर्ति के दामाद हैं.

आईटी शेयरों के दबाव में रहने की आशंका 
ब्रोकरेज फर्म प्रभुदास लीलाधर में रिसर्च एसोसिएट अदिति पाटिल ने कहा कि अमेरिका और यूरोप में व्यापक आर्थिक वातावरण खराब होने के संकेत हैं. इसका असर आईटी क्षेत्र पर पड़ेगा. आईटी शेयरों के दबाव में रहने की आशंका है. यही वजह है कि 30 शेयरों वाले सेंसेक्स के पांच आईटी शेयर इस साल 43 फीसदी तक लुढ़क गए हैं.

यह भी पढ़ें- Mutual Funds और विदेशी निवेशक इन 5 स्मॉलकैप स्टॉक में लगातार पैसा लगा रहे, पढ़िए आपको क्या करना चाहिए?

आईटी शेयर गिरे
वर्ष 2022 में अब तक टेक महिंद्रा 42.68 फीसदी, विप्रो 41.38 फीसदी और एचसीएल टेक्नोलॉजीज 25.38 फीसदी तक गिर चुका है. टीसीएस और इन्फोसिस में क्रमशः 12.63 प्रतिशत और 19.87 प्रतिशत गिरावट आई है. इस साल अबतक सेंसेक्स 3,771.98 अंक या 6.47 प्रतिशत टूटा है.

मार्जिन दबाव
इक्विटीमास्टर में शोध की सह-प्रमुख तनुश्री बनर्जी ने कहा कि निकट भविष्य में विनिमय दर में उतार-चढ़ाव के कारण आईटी कंपनियों को कुछ हद तक मार्जिन दबाव का सामना करना पड़ सकता है. बनर्जी ने कहा, ‘‘लंबी अवधि के लिए संभावनाएं अच्छी बनी हुई हैं, कंपनियों के पास आने वाले वक्त में काम मजबूत बना हुआ है.’’

एचडीएफसी सिक्योरिटीज के उपाध्यक्ष (संस्थागत शोध – आईटी) अपूर्व प्रसाद ने कहा कि मध्यम अवधि में आईटी क्षेत्र के लिए दो अंक में वृद्धि की काफी संभावनाएं हैं. जियोजित फाइनेंशियल सर्विसेज के मुख्य निवेश रणनीतिकार वी के विजयकुमार ने कहा कि हालिया तेज गिरावट के बाद आईटी शेयर काफी अच्छे हैं.

Tags: Infosys, IT sector, Stock Markets, TCS

टॉप स्टोरीज
अधिक पढ़ें