Home /News /business /

इंफोसिस को राष्ट्रविरोधी कहना सही नहीं था, पांचजन्य के लेख पर बोलीं वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण

इंफोसिस को राष्ट्रविरोधी कहना सही नहीं था, पांचजन्य के लेख पर बोलीं वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण

 finance-minister ने कहा - Infosys को 'राष्ट्र-विरोधी' कहना, 'सही नहीं' था.

finance-minister ने कहा - Infosys को 'राष्ट्र-विरोधी' कहना, 'सही नहीं' था.

वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने एक साक्षात्कार में कहा है कि Infosys को 'राष्ट्र-विरोधी' कहना, 'सही नहीं' था. आरएसएस से जुड़ी पत्रिका में पांचजन्य में प्रकाशित एक लेख में नए आईटी पोर्टल में आ रही समस्याओं को लेकर इंफोसिस को 'राष्ट्र-विरोधी' कहा गया था.

अधिक पढ़ें ...
  • News18Hindi
  • Last Updated :

    नई दिल्ली . वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण (Finance Minister Nirmala Sitharaman) ने सीएनएन-न्यूज 18 के साथ एक विशेष साक्षात्कार में कहा कि शीर्ष IT कंपनी Infosys को ‘राष्ट्र-विरोधी’ कहना, सही नहीं था. आरएसएस के मुखपत्र पांचजन्य में प्रकाशित एक लेख में नए आईटी पोर्टल में आ रही समस्याओं को लेकर इंफोसिस को ‘राष्ट्र-विरोधी’ कहा गया था.

    वित्त मंत्री ने कहा, ‘यह सही नहीं था.  इस तरह के कमेंट की आवश्यकता नहीं थी और यह अच्छा ही रहा कि उन लोगों ने इस कमेंट से खुद को अलग कर लिया. यह कमेंट बिलकुल सही नहीं था.’

    मुझे विश्वास है कि इंफोसिस इसे ठीक कर लेगी 
    वित्त मंत्री के रूप में, सीतारमण व्यक्तिगत रूप से इंफोसिस के साथ इस आपरेशन में शामिल रही थीं. उन्होंने कहा कि सरकार और इंफोसिस एक साथ काम कर रहे हैं. मैंने खुद दो बार उन्हें फोन किया है और नंदन नीलेकणी (इन्फोसिस के सह-संस्थापक और गैर-कार्यकारी अध्यक्ष) का ध्यान आकर्षित किया है.

    यह भी पढ़ें- EPFO सब्सक्राइबर्स के लिए राहत, UAN-आधार लिंक करने की आखिरी तारीख 31 दिसंबर तक बढ़ी

    ‘मुझे उम्मीद है कि इंफोसिस अपने वादे के मुताबिक प्रोडक्ट देगी . हां, इसमें देरी हुई है. इसने हमें आहत किया. हम यह नया पोर्ट बहुत सारी उम्मीदों के साथ लाए हैं. इसमें कुछ गड़बड़िया हैं और हम साथ मिलकर इसे सही करने की कोशिश कर रहे हैं. मुझे विश्वास है कि इंफोसिस इसे ठीक कर लेगी.’

     RSS ने खुद को इस लेख से दूर कर लिया था 
    राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ ( RSS) ने पिछले रविवार को इंफोसिस की आलोचना करने वाले एक लेख से खुद को दूर कर लिया था, जो उससे जुड़ी पत्रिका पांचजन्य में प्रकाशित हुआ था. आरएसएस के अखिल भारतीय प्रचार प्रमुख सुनील आंबेकर ने कहा कि पांचजन्य आरएसएस का मुखपत्र नहीं है. यह लेख लेखक की राय को दर्शाता है और इसे संगठन से नहीं जोड़ा जाना चाहिए.

    यह भी पढ़ें- ‘आधार शिला’: महिलाओं के लिए LIC की विशेष बीमा योजना, रोजाना 29 रुपए जमा करने पर कितने लाख मिलेंगे 

    इस लेख में इंफोसिस पर हमला करते हुए, कंपनी को ‘ऊंची दुकान, फिका पकवान’  करार दिया है. लेख में इंफोसिस को “राष्ट्र-विरोधी” ताकतों के साथ जोड़ते हुए गंभीर आरोप लगाए गए हैं. कहा गया है कि इसी के परिणामस्वरूप सरकार के आयकर पोर्टल को गड़बड़ कर दिया गया है.

    हालांकि, आंबेकर ने संघ के रुख को स्पष्ट करने के लिए ट्विटर का सहारा लिया. उन्होंने लिखा, एक भारतीय कंपनी के रूप में, इंफोसिस ने देश की प्रगति में महत्वपूर्ण योगदान दिया है. इंफोसिस द्वारा संचालित एक पोर्टल के साथ कुछ समस्याएं हो सकती हैं, लेकिन इस संदर्भ में पांचजन्य द्वारा प्रकाशित लेख केवल लेखक की व्यक्तिगत राय को दर्शाता है.

    Tags: Finance minister Nirmala Sitharaman, FM Nirmala Sitharaman, Infosys, Nirmala sitharaman, Nirmala sitharaman news, Nirmala sitharaman news today in hindi

    विज्ञापन

    राशिभविष्य

    मेष

    वृषभ

    मिथुन

    कर्क

    सिंह

    कन्या

    तुला

    वृश्चिक

    धनु

    मकर

    कुंभ

    मीन

    प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
    और भी पढ़ें
    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज

    अधिक पढ़ें

    अगली ख़बर