लाइव टीवी

चीन के सबसे अमीर शख्स की कंपनी में नौकरी के लिए नहीं चाहिए डिग्री!

News18Hindi
Updated: May 8, 2019, 2:33 PM IST
चीन के सबसे अमीर शख्स की कंपनी में नौकरी के लिए नहीं चाहिए डिग्री!
चीन की बड़ी ई-कॉमर्स कंपनी अलीबाबा के फाउंडर जैक मा कहते हैं कि मैं कभी किसी की डिग्री-डिप्लोमा या ये नहीं पूछता कि वे किस यूनिवर्सिटी से हैं, यह बिल्कुल जरूरी नहीं है.

चीन की बड़ी ई-कॉमर्स कंपनी अलीबाबा के फाउंडर जैक मा कहते हैं कि मैं कभी किसी की डिग्री-डिप्लोमा या ये नहीं पूछता कि वे किस यूनिवर्सिटी से हैं, यह बिल्कुल जरूरी नहीं है.'

  • Share this:
चीन की सबसे बड़ी ई-कॉमर्स कंपनी अलीबाबा मा युन 'जैक मा' के नाम से भी जाने जाते हैं. वह किसी बने बनाए नियमों के आधार पर काम नहीं करते, बस यह तय करते हैं कि जो भी करें उससे मुनाफा हो. वो अक्सर कहते है कि मैं गणित में अच्छा नहीं हूं, कभी प्रबंधन की पढ़ाई नहीं की और आज भी अकाउंट्स की रिपोर्ट नहीं पढ़ सकता हूं. उन्होंने हाल में बताया कि इन तमाम दिक्कतों के बावजूद वह अलीबाबा को अपने कमरे से शुरू करके चीन की एक कामयाब ईकॉमर्स कंपनी बनाने में कैसे कामयाब रहे. आपको बता दें कि हाल में ग्लोबल इकॉनामिक फोरम में उन्होंने कहा, जब आप खुद से ज्यादा स्मार्ट लोगों को नौकरी पर रखते हैं, तो आपका कारोबार सफल होगा और आप खुश रहेंगे.

आपको बता दें कि पिछले दिनों ओवरटाइम वर्क कल्चर की वकालत करने के बाद जैक मा को लोगों ने काफी ट्रोल किया था. उनकी काफी आलोचना भी हुई थी.

फोर्ब्स के मुताबिक, जैक मा चीन के सबसे अमीर शख्स है. उनकी कुल नेटवर्थ 2.85 लाख करोड़ रुपये है.

अलीबाबा में नौकरी के लिए नहीं चाहिए डिग्री, जैक मा ने बताई ये चीजें

(1) जैक मा कहते हैं, 'सबसे पहले तो आपके कैंडिडेट को स्मार्ट होना चाहिए. अगर वह बेवकूफ है तो इसका कोई इलाज नहीं. कैंडिडेट को मुझसे ज्यादा स्मार्ट होना चाहिए.

चीन के सबसे अमीर शख्स की कंपनी में नौकरी के लिए नहीं चाहिए डिग्री!


(2) जब मैं किसी को नौकरी पर रखता हूं तो ये सोचकर रखता हूं कि कैंडिडेट को मुझसे ज्यादा स्मार्ट होना चाहिए ताकि 4-5 साल में वह व्यक्ति मेरा बॉस बन सके और मैं उसके लिए काम करना पसंद करूं.'
Loading...

(3) जैक मा के हिसाब से एक और क्वॉलिटी है जो स्मार्ट होने के साथ-साथ जरूरी है. 'आपके कैंडिडेट की पर्सनालिटी अच्छी होनी चाहिए.

(4) कोई ऐसा जो हमेशा सकारात्मक रहे और हार न माने. मैं कभी किसी की डिग्री-डिप्लोमा या ये नहीं पूछता कि वे किस यूनिवर्सिटी से हैं, यह बिल्कुल जरूरी नहीं है.'



(5) अलीबाबा के संस्थापक को किसी एम्पलाई का पास्ट रेकॉर्ड इम्प्रेस नहीं करता. 'सही लोगों को जॉब पर रखिए, साथ काम कीजिए, ट्रेन कीजिए और एक दूसरे के साथ विकास कीजिए.

(6) ये मत सोचिए कि फलाने ने गूगल में, अलीबाबा में या फेसबुक में काम किया है तो वो बेहतरीन होगा' जैक मा ने कहा.

 

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए देश से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: May 8, 2019, 2:14 PM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...