पानी बेचने वाले शख्स ने जैक मा को पछाड़ा, नहीं रहे चीन के सबसे अमीर आदमी

जैक मा नहीं रहे चीन के सबसे अमीर आदमी

जैक मा नहीं रहे चीन के सबसे अमीर आदमी

अलीबाबा और एंट ग्रुप के संस्थापक जैक मा (Alibaba and Ant Group founder Jack Ma) को बड़ा झटका लगा है. बीजिंग जांच के दायरे में आने के बाद अब वह चीन के सबसे अमीर आदमी नहीं रहे हैं.

  • Share this:
नई दिल्ली: अलीबाबा और एंट ग्रुप के संस्थापक जैक मा (Alibaba and Ant Group founder Jack Ma) को बड़ा झटका लगा है. बीजिंग जांच के दायरे में आने के बाद अब वह चीन के सबसे अमीर आदमी नहीं रहे हैं. उन्होंने सबसे अमीर आदमी होने का खिताब गंवा दिया है. चीनी नियामकों द्वारा उनकी जांच के बाद उनकी संपत्ति में गिरावट का सिलसिला लगातार जारी है. मंगलवार को जारी की गई लिस्ट से जैक मा की संपत्ति के बारे में जानकारी मिली है.

जानें अब कौन है सबसे अमीर?
आपको बता दें जैक मा साल 2020 और साल 2019 में हुरुन ग्लोबल रिच लिस्ट (Hurun Global Rich List) में चीन के सबसे अमीर व्यक्ति थे, लेकिन अब ये जगह नोंगफू स्प्रिंग (Nongfu Spring) के झोंग शानशान (Zhong Shanshan), टेनसेंट होल्डिंग के पोनी मा और ई-कॉमर्स के स्टाइंड पिंडडियोडो (Pinduoduo's Collin Huang) ले ली है.

यह भी पढ़ें: Indian Railways: रेल यात्रियों की जेब पर बड़ा झटका! कई रेलवे स्टेशनों पर 5 गुना बढ़ा दिया गया है किराया
कैसे आए बिजनेस में?


इस दौड़ में झोंग शान्शान से आगे निकल गए हैं. झोंग शान्शान चीन के जेजियांग प्रांत के होंगजोऊ से हैं. पहले उन्होंने एक निर्माण कंपनी में वर्कर की तरह काम किया फिर एक न्यूजपेपर में रिपोर्टर रहे और उसके बाद उन्होंने बिजनेस में कदम रखा.

कितना हुआ संपत्ति में इजाफा?
इस समय चीन के सबसे अमीर व्यक्ति झोंग ने नोंगफू स्प्रिंग के शेयर्स में काफी तेजी देखी गई है. चीन के सबसे अमीर व्यक्ति बनने के बाद ही उनके शेयर्स में तेजी देखने को मिली है. बता दें टेनसेंट के पोनी मा की संपत्ति में एक साल में करीब 70 फीसदी का इजाफा देखने को मिला है. यानी 480 बिलियन युआन (74.16 बिलियन डॉलर) की बढ़त हुई है.

यह भी पढ़ें: घर खरीदने वालों के लिए खुशखबरी! देश के ये 10 बैंक दे रहे सबसे सस्ता होम लोन, 31 मार्च तक मिलेगा खास ऑफर

वहीं, हुआंग ने 283 फीसदी से 450 बिलियन युआन का इजाफा किया. इसकी तुलना में मा और उनके परिवार की संपत्ति 22 फीसदी बढ़कर 360 बिलियन युआन हो गई.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज