महीनों तक गायब थे जैक मा! अब एक चीनी द्वीप पर ‘नौसिखिए’ की तरह गोल्फ खेलते नज़र आए

जैक मा को ही चीन में टेक्नोलॉजी उन्नति का श्रेय दिया जाता है.

जैक मा को ही चीन में टेक्नोलॉजी उन्नति का श्रेय दिया जाता है.

जैक मा (Jack Ma) चीन के हैनान में गोल्फ खेलते देखे गए हैं. इसके पहले कई मीडिया रिपोर्ट्स में उनके लापता होने का दावा किया जा रहा था. हालांकि, जनवरी में उनका एक वीडियो भी वायरल हुआ था.

  • News18Hindi
  • Last Updated: February 11, 2021, 3:25 PM IST
  • Share this:
नई दिल्ली. कई महीनों तक पब्लिक डोमेन में नज़र नहीं आने वाले अलबीबा ग्रुप (Alibaba Group) के प्रमुख जैक मा (Jack Ma)) हाल ही में गोल्फ खेलते नज़र आए हैं. कभी चीन ही नहीं बल्कि एशिया के सबसे अमीर शख़्स रह चुके जैक मा चीन के हैनान में सन वैली गोल्फ रिज़ॉर्ट में गोल्फ खेलते देखे गए. बीते 20 जनवरी को चीनी मीडिया ने उन्हें एक वर्चुअल मीटिंग का वीडियो सर्कुलेट किया था, जिसमें जैक मा सैकड़ों ग्रामीण अध्यापकों को संबोधित कर रहे थे. ब्लूमबर्ग की रिपोर्ट में बताया गया कि जैक मा एक ‘नौसिखिए’ की तरह गोल्फ खेल रहे थे. हालांकि, अलीबाबा ग्रुप की तरफ से जैक मा के बारे में अभी तक कोई बयान नहीं आया है.

आमतौर पर लोगों के बीच कई बार दिख जाने वाले जैक मा कुछ समय से नज़र नहीं आए थे. उन्होंने एक टीवी इंटरव्यू को भी कैंसिल कर दिया था और सोशल मीडिया पर भी अपडेट नहीं रहते थे. इसके बाद कयास लगाये जाने लगे कि आखिर जैक मा लापता क्यों हैं. जैक मा को चीन में टेक्नोलॉजी की उन्नति का भी क्रेडिट दिया जाता है. पिछले कुछ दशक वो ग्लोबल बिज़नेस सेलिब्रिटी के तौर पर उभरे हैं.

चीन की सरकारी मीडिया कंपनी ग्लोबल टाइम्स ने 20 जनवरी को एक वीडियो शेयर किया था, जिसमें जैक मा वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिए 100 ग्रामीण अध्यापकों से बातचीत कर रहे थे. इस क्लिप में उन्होंने कहा, ‘महामारी के बाद एक बार फिर हम मिलेंगे.’ हालांकि, CNBC ने अपनी एक रिपोर्ट में इन कयासों के उलट कहा था कि जैक मा लापता नहीं बल्कि वो जानबूझकर अंडरग्राउंड हैं.



यह भी पढ़ेंः मास्टरकार्ड के नेटवर्क पर मिलेगा क्रिप्टोकरंसी में खरीदारी करने का मौका, इस साल शुरू हो सकती है सुविधा
क्या था CNBC का दावा?
CNBC के डेविड फेबर ने सूत्रों के हवाले से लिखा था, ‘अनुमान है कि वो हैंगझू में हैं, जहां CNBC का हेडक्वॉर्टर है. हम भूल जाते हैं कि अब वो अलीबाबा मैनेजमेंट में शामिल नहीं है. वो जानबूझकर कम नज़र आ रहे हैं. आप उम्मीद कर सकते हैं कि यह कुछ समय के लिए चलता रहेगा. उन्होंने चीन सरकार के बारे में टिप्पणी की है. इसके पहले भी उन्होंने कई बार ऐसा किया है.’

हाल ही में चीन की सरकारी मीडिया ने अग्रणी टेक दिग्गजों की एक लिस्ट जारी की थी, जिसमें जैक मा का नाम नहीं था. इसके अलावा भी मा के प्रतिद्वंदी माने जाने वाले पोनी एम (Pony M) पर बयान था. शंघाई सिक्योरिटीज न्यूज उन्हें ‘मोबाइल युग को दोबारा लिखने’ का श्रेय दिया था.

यह भी पढ़ेंः केरल के इस कपल के हाथ लगा 3.3 करोड़ रुपये का जैकपॉट, बताया कैसे खर्च करेंगे यह पैसा

भारी पड़ा चीनी सरकार पर एक बयान
अंग्रेजी के अध्यापक से बिज़नेसमैन बने जैक मा ने 1999 में अलीबाबा ग्रुप की स्थापना की थी. उस दौरान चीन में इंटरेनट यूजर्स की संख्या बहुत कम थी. इसके पांच साल बाद उन्होंने ऑनलाइन पेमेंट्स सर्विस अलीपे (Alipay) भी लॉन्च किया था. आगे आने वाले समय में इन दोनों कंपनियां तेजी से आगे बढ़ीं. हालांकि, चीनी रेगुलेटर्स पर 24 अक्टूबर को उनके एक बयान ने आखिरी दांव को फेल कर दिया. चीनी रेगुलेटर्स ने इसके बाद ऐन्ट ग्रुप (Ant Group) के स्टॉक मार्केट लिस्टिंग को रोक दिया. यह एक ऑनलाइन फाइनेंस प्लेटफॉर्म था. इसके बाद अलीबाबा के शेयरों में भारी गिरावट देखने को मिली, जिसके बाद जैक मा से चीन के सबसे अमीर व्यक्ति की कुर्सी भी छिन गई.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज