अपना शहर चुनें

States

65000 नए पेट्रोल पंप खोलने का लोकसभा चुनाव से कोई लेना-देना नहीं: धर्मेंद्र प्रधान

धर्मेंद्र प्रधान (फ़ाइल फोटो)
धर्मेंद्र प्रधान (फ़ाइल फोटो)

धर्मेंद्र प्रधान ने कहा कि जब हम आए थे सिर्फ 13 हज़ार एलपीजी डिस्ट्रीब्यूटर थे जो अब बढ़कर 22 हज़ार से भी ज्यादा हो गए हैं.

  • News18Hindi
  • Last Updated: December 8, 2018, 3:05 PM IST
  • Share this:
जागरण फोरम के दूसरे दिन शनिवार को पेट्रोलियम मिनिस्टर धर्मेंद्र प्रधान ने दावा किया कि पिछले 60 साल में देश में मौजूद 27 करोड़ घरो में से सिर्फ 13 करोड़ घरों में ही एलपीजी पहुंची थी लेकिन साढ़े चार में हमने इसे 25 करोड़ तक पहुंचा दिया है. प्रधान ने ये भी स्पष्ट किया कि देश भर में 65000 नए पेट्रोल पंप खोलने का लोकसभा चुनावों से कुछ लेना-देना नहीं है, इसकी योजना पहले से थी बस घोषणा अभी की जा रही है.

बता दें कि बीते दिनों जारी एक रिपोर्ट के मुताबिक 27 लाख लोगों ने उज्ज्वला योजना के तहत लिए कएलपीजी कनेक्शन के तहत अभी तक दूसरा सिलिंडर नहीं लिया है. इसके जवाब में प्रधान ने कहा कि देश में एलपीजी का नेशनल रीफिलिंग एवरेज सात है और अब उज्ज्वला का एवरेज भी 4 तक पहुंच गया है. उज्ज्वला एलपीजी सिलेंडरो का रीफिल न होना बिहेवियर जुड़ा विषय है लोग ग्रामीण इलाकों में लोग अब भी दूसरे साधनों की आदत नहीं छोड़ पाए हैं.

ये भी पढ़ें: रोज सिर्फ 7 रुपए जमा कर मोदी सरकार की इस स्कीम से पाएं पेंशन की गारंटी



पेट्रोल-डीजल के बढ़ते दामों पर प्रधान ने कहा कि अन्तरराष्ट्रीय बाज़ारों में आए उछाल के चलते भारत में भी इसका प्रभाव देखने को मिल रहा है. हालांकि उन्होंने कहा कि अब इससे काफी राहत मिल गई हैं. क्रूड पर निर्भरता कम करने के सवाल पर प्रधान ने कहा कि भारत दुनिया में तीसरे नंबर का एनर्जी इस्तेमाल करने वाला देश है. इसके आलावा ग्रामीण इलाकों तक मोटरसाइकिल पहुंच गई है और मध्य वर्ग कार खरीद रहा है.
इसके चलते एनर्जी इस्तेमाल बढ़ रहा है और क्रूड पर निर्भरता भी बढ़ी है. हालांकि हमने दूसरे एनर्जी विकल्पों से 175 गीगावाट का लक्ष्य रखा था और 100 गीगावाट हासिल भी कर लिया है. हमने एथनोल को बढ़ावा दिया है और उसका इस्तेमाल 7% तक पहुंच गया है.

ये भी पढ़ें: सावधान रहें! माचिस की तीली से हो रहा ATM फ्रॉड

नए पेट्रोल पंप से जुड़े सवाल पर प्रधान ने कहा कि हम जल्द ही देश भर में 65 हज़ार नए पेट्रोल पंप खोलने जा रहे हैं लेकिन इसे लोकसभा चुनाव से जोड़कर नहीं देखा जाना चाहिए. जब हम आए थे सिर्फ 13 हज़ार एलपीजी डिस्ट्रीब्यूटर थे जो अब बढ़कर 22 हज़ार से भी ज्यादा हो गए हैं.

उड़ीसा का सीएम बनने के सवाल पर प्रधान ने कहा कि ऐसा कहना जल्दबाज़ी होगी लेकिन हमारी प्रमुखता वहां जीतना और विकास के लिए काम करना है. सीएम का नाम तो पार्टी का संसदीय बोर्ड तय करेगा. जीएसटी के अंतर्गत पेट्रोल-डीजल को लाने के सवाल पर प्रधान ने कहा कि जीएसटी काउंसिल चाहेगी और राज्य तैयार हो जाएंगे हम ये कर देंगे.

 
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज