होम /न्यूज /व्यवसाय /

Janmashtami Special : महाराष्ट्र के इन 5 दही हांडी उत्सव में मिलता है एक करोड़ तक इनाम, इस बार कितने का लगा है दांव

Janmashtami Special : महाराष्ट्र के इन 5 दही हांडी उत्सव में मिलता है एक करोड़ तक इनाम, इस बार कितने का लगा है दांव

गोविंदाओं की टोली दही हांडी उत्‍सव मनाने के लिए अभ्‍यास में जुटी है.

गोविंदाओं की टोली दही हांडी उत्‍सव मनाने के लिए अभ्‍यास में जुटी है.

दही हांडी का उत्सव आने में अब महज 2 दिनों का वक़्त बचा हुआ है और इसको देखते हुए मुम्बई सहित पूरे महाराष्ट्र में जोर-शोर से तैयारियां शुरू हैं. एक तरफ जहां गोविंदाओं की टोली दही हांडी को श्रृंखला बनाकर तोड़ने के लिए जी तोड़ अभ्यास करने में जुटी हुई हैं, वहीं दूसरी तरफ 19 अगस्त को होने वाले इस उत्‍सव को देखने वालों में अभी से उत्‍साह नजर आ रहा है.

अधिक पढ़ें ...

हाइलाइट्स

कोरोना के चलते 2 सालों तक इसका आयोजन नही हो सका था.
गोविंदाओं की टोली एक श्रृंखला बनाकर हांडी तोड़ने का प्रयास करती है.
2012 में जय जवान गोविंदा मंडल ने यहां 43.79 फुट ऊंची हांडी तोड़ी थी.

मुंबई. दही हांडी का उत्सव आने में अब महज 2 दिनों का वक़्त बचा हुआ है और इसको देखते हुए मुम्बई सहित पूरे महाराष्ट्र में जोर-शोर से तैयारियां शुरू हैं. एक तरफ जहां गोविंदाओं की टोली दही हांडी को श्रृंखला बनाकर तोड़ने के लिए जी तोड़ अभ्यास करने में जुटी हुई हैं, वहीं दूसरी तरफ 19 अगस्त को दही हांडी के उत्सव को देखते हुए बड़े-बड़े दही हांडी मंडलों के आयोजक भी इसे 2 साल पहले वाले रंग में उसका आयोजन करने के लिए तमाम तैयारियां करने में लगे हुए हैं, ताकि महाराष्ट्र में प्रमुख त्योहारों में से एक दही हांडी का उत्सव फिर से लोगों को अपनी तरफ आकर्षित कर सके. दरअसल, कोरोना के चलते 2 सालों तक इसका आयोजन नही हो सका था.

महाराष्‍ट्र का दही हांडी उत्‍सव इसलिए भी काफी लोकप्रिय है, क्‍योंकि इसमें मटकी फोड़ने वाली टीम को लाखों का इनाम दिया जाता है. दही हांडी का यह उत्सव जन्माष्टमी के दूसरे दिन मनाया जाता है. इस दिन एक ऊंचे से तार पर एक हांडी मक्खन से भरकर ऊंचाई पर टांग दी जाती है. जिसके बाद गोविंदाओं की टोली एक श्रृंखला बनाकर उस हांडी को तोड़ने का प्रयास करती है. इस अवसर पर बड़े-बड़े मंडल लाखों-करोड़ों के इनाम रखते हैं और जो टोली हांडी को फोड़ने में कामयाब होती है, उसे विजेता घोषित करके इनाम की राशि दी जाती है. आपको बताते हैं मुम्बई की 5 बड़ी दही हांडी के बारे में, जिसमें न सिर्फ आमजन बल्कि बड़ी-बड़ी हस्तियां भी शिरकत करती हैं.

ये भी पढ़ें – क्रेडिट कार्ड से भी दे सकते हैं घर का किराया, जानिए PhonePe ऐप के जरिए रेंट पेमेंट प्रोसेस

1. संस्कृति युवा प्रतिष्ठान दही हांडी, ठाणे

शिवसेना ( शिंदे गुट) के विधायक प्रताप सरनाइक द्वारा आयोजित संस्कृति युवा प्रतिष्ठान दही हांडी ने पिछले कुछ वर्षों में एक प्रभावशाली प्रतिष्ठा बनाई है. 2012 में जय जवान गोविंदा मंडल ने यहां 43.79 फुट और 9 परत मानव पिरामिड बनाकर गिनीज वर्ल्ड रिकॉर्ड में प्रवेश किया था. उसके बाद से यहां हर साल होने वाले दही हांडी उत्सव को देखने के लिए बॉलीवुड और राजनीति जगत की तमाम हस्तियां पहुंचती हैं. इसका आयोजन ठाणे जिले के वर्तक नगर इलाके में एक म्युनिसिपल स्कूल में किया जाता है. बीते कुछ वर्षों में यहां इनाम की राशि एक करोड़ रुपये तक पहुंच गई थी. इस बार प्रताप सरनाइक ने 21 लाख रुपये का इनाम रखा है.

मनसे के नेता अविनाश जाधव की ओर से ठाणे में ही मनाए जाने वाले एक और दही हांडी उत्‍सव में भी इस बार 21 लाख रुपये का इनाम रखा गया है.

ये भी पढ़ें — बाजार के लिए पिछला एक साल रहा चुनौतीपूर्ण, फिर भी 13 स्टॉक और 1 इंडेक्स ने दिया मल्टीबैगर रिटर्न

2. मगाथाने दही हांडी, मलाड 

यहां पर हर साल दही हांडी उत्सव का आयोजन शिवसेना (शिंदे गुट) के विधायक प्रकाश सुर्वे करते हैं. राजनीतिक दही हांडी होने की वजह से यहां की मटकी को फोड़ने के लिए पूरी मुम्बई से गोविंदाओं की टोलियां पहुंचती हैं. यहां पर हर साल लाखों के इनाम भी रखे जाते हैं. बीते उत्‍सव में यहां 11 लाख रुपये का इनाम दिया गया था. यहां पर भी हर साल टीवी और बॉलीवुड जगत की हस्तियां शामिल होती हैं.

3. राम कदम दही हांडी, घाटकोपर

भाजपा विधायक राम कदम के नाम पर दही हांडी कार्यक्रम में हर साल पूरे मुंबई से गोविंदा टोली आती है. घाटकोपर के सेनिटोरियम लेन में आयोजित होने वाली इस दही हांडी में जबरदस्त भीड़ देखने को मिलती है, क्योंकि इस आयोजन में बड़ी संख्या में मशहूर हस्तियां शामिल होती हैं. पिछले सालों में इस दही हांडी में शाहरुख खान, आशा पारेख, अमीषा पटेल और युक्ता मुखी सहित कई हस्तियां शिरकत कर चुकी हैं. यहां इनाम की राशि अब 11 लाख से 51 लाख रुपये तक पहुंच चुकी है. इस बार यहांं 21 लाख रुपये का इनाम रखा गया है.

4. श्रमिक सार्वजनिक उत्सव मंडल, खारघर 

श्रमिक सार्वजनिक उत्सव मंडल द्वारा आयोजित कार्यक्रम मुंबई में लोकप्रिय दही हांडी कार्यक्रमों में से एक है, जिसे तोड़ना भी मुश्किल है. कई बार तो कई पंडाल बिना हांडी तोड़े खाली हाथ लौट जाते हैं. यहां भी इनाम की राशि 11 लाख रुपये पहुंच चुकी है.

5. दादर छबीलदास लेन हांडी, दादर

मुंबई के दादर इलाके में मनाया जाने वाला यह दही हांडी उत्सव सबसे बड़े दही हांडी उत्सव में से एक है. यहां न सिर्फ लड़कों की गोविंदा टोलियां मटकी फोड़ती हैं, बल्कि लड़कियों की टोलियां भी मटकी को फोड़ने के लिए पुरजोर कोशिश करती हैं. इस आकर्षण को देखने के लिए हजारों की भीड़ इकट्ठा होती है. यहां अब तक 11 लाख रुपये इनाम मिलता रहा है.

दही हांडी पर्व को मनाने का उद्देश्य कान्हा की बाल लीलाओं को दर्शाना है. बाल गोपाल को माखन और दही बहुत प्रिय था. कृष्ण अक्सर अपने सखाओं के साथ घर से मक्खन चुराया करते थे, जिससे परेशान होकर गोपियाँ उसे ऊंचाई पर टांग देती थी. इसके बाद अपनी टोली संग शृंखला बनाकर बाल गोपाल माखन चुराया करते थे, तभी से दहीं हांडी उत्सव मनाया जाता है. मान्यता यह भी है कि इसे मनाने से घर में सुख-समृद्धि आती है.

Tags: Business news, Business news in hindi, Sri Krishna Janmashtami

विज्ञापन

विज्ञापन

टॉप स्टोरीज

अधिक पढ़ें

अगली ख़बर