ये डॉक्युमेंट नहीं जमा करने पर रुक सकती है आपकी पेंशन! जानिए इससे जुड़े सभी सवालों के जवाब

पेंशनभोगी 1 नवंबर 2020 से लेकर 31 दिसंबर, 2020 तक अपना लाइफ सर्टिफिकेट जमा करा सकते हैं.
पेंशनभोगी 1 नवंबर 2020 से लेकर 31 दिसंबर, 2020 तक अपना लाइफ सर्टिफिकेट जमा करा सकते हैं.

इस साल पेंशनभोगी 1 नवंबर 2020 से लेकर 31 दिसंबर, 2020 तक अपना लाइफ सर्टिफिकेट जमा करा सकते हैं. अगर आपने नवंबर में अपने लाइफ सर्टिफिकेट को जमा नहीं कराया तो आपकी पेंशन रुक सकती है.

  • News18Hindi
  • Last Updated: October 20, 2020, 5:58 AM IST
  • Share this:
नई दिल्ली: देशभर में चल रहे कोरोना संकट को देखते हुए सरकार ने साल 2020 के लिए लाइफ सर्टिफिकेट (Life Certificate) को जमा करने की आखिरी तारीख को बढ़ा दिया है. इस साल पेंशनभोगी 1 नवंबर 2020 से लेकर 31 दिसंबर, 2020 तक अपना लाइफ सर्टिफिकेट जमा करा सकते हैं. केंद्र सरकार ने बताया कि अगर आपने नवंबर में अपने लाइफ सर्टिफिकेट को जमा नहीं कराया तो आपकी पेंशन रुक सकती है. बता दें लाइफ सर्टिफिकेट पेंशनर के जीवित होने का सबूत होता है. ऐसा नहीं करने पर पेंशन मिलना बंद हो सकती है. आइए आपको इस पेंशन सर्टिफिकेट के बारे में डिटेल में बताते हैं-

ये लोग 1 अक्टूबर से जमा करा सकते हैं सर्टिफिकेट
बता दें वरिष्ठ पेंशनरों के अलावा 80 साल या उससे ज्यादा आयु वर्ग के पेंशनर्स, 1 अक्टूबर, 2020 से 31 दिसंबर, 2020 तक जीवन प्रमाण पत्र प्रस्तुत कर सकते हैं.

यह भी पढ़ें: लखनऊ-जयपुर और मुंबई जैसे रूट पर हवाई सफर करने वालों के लिए खुशखबरी, सस्ती होगी टिकट और बचेगा समय
बैंक ब्रांच में सोशल डिस्टैंसिंग को किया जाए फॉलो


कोरोना महामारी को देखते हुए इस साल ब्रांच में ज्यादा भीड़भाड़ और सोशल डिस्टेंसिंग को फॉलो करने के लिए सरकार ने पेंशन सर्टिफिकेट की समय सीमा को बढ़ा दिया है. इसके अलावा PDAs इस बात का खास ध्यान रखेंगे कि बैंक ब्रांच में नियमों की अनदेखी न हो और भीड़ पर काबू रहे.

सर्टिफिकेट जमा न कराने पर रुक जाती है पेंशन
प्रत्येक पेंशनभोगी, पारिवारिक पेंशनभोगी हर साल पेंशनर्स को अपना पेंशन जारी रखने के लिए 30 नवंबर तक अपना लाइफ सर्टिफिकेट बैंक में जमा करना होता था. जिन पेंशभोगियों का नवंबर के अंत तक जीवन प्रमाण पत्र / घोषणा पत्र नहीं पहुंचता था उनकी पेंशन को रोक दिया जाता है और पेंशनरों से जीवन प्रमाण पत्र प्राप्त होने के बाद ही पेंशन का भुगतान फिर से शुरू होता है.

क्या होता है लाइफ सर्टिफिकेट?
लाइफ सर्टिफिकेट यानी जीवन प्रमाण पत्र पेंशनर के जीवित होने का सबूत होता है. इसके जमा नहीं किए जाने पर पेंशन मिलना बंद हो सकता है. केंद्र सरकार ने राहत देते हुए लाइफ सर्टिफिकेट जमा करने की तारीख को बढ़ाकर 31 दिसंबर 2020 कर दिया है.

कहां कराएं जमा?
लाइफ सर्टिफिकेट को पेंशनर अपने पेंशन अकाउंट वाली बैंक ब्रांच या किसी भी ब्रांच में जाकर फिजिकली/मैनुअली जमा कर सकते हैं. इसे डिजिटली किसी भी ब्रांच में, अपने PC/लैपटॉप/मोबाइल के जरिए https://jeevanpramaan.gov.in से, निकटतम आधार आउटलेट/CSC से, उमंग ऐप के जरिए जमा कर सकते हैं. डिजिटली लाइफ सर्टिफिकेट जमा करने के लिए आधार नंबर, मोबाइल नंबर, पेंशन पेमेंट ऑर्डर (PPO) नंबर व अकाउंट नंबर की जरूरत होगी. फिजिकल फॉर्म में लाइफ सर्टिफिकेट जमा करने के लिए इसे बैंकों की वेबसाइट से डाउनलोड कर भर के जमा किया जा सकता है.

जीवन प्रमाण सर्टिफिकेट सर्विस क्या है?
जीवन प्रमाण (Jeevan Pramaan) एक आधार बेस्ड डिजिटल लाइफ सर्टिफिकेट है. जीवन प्रमाण की मदद से पेंशनर्स को अब अपनी निकटतम बैंक ब्रांच, कॉमन सर्विस सेंटर यानी CSC या किसी भी सरकारी ऑफिस में जाकर लाइफ सर्टिफिकेट को आधार नंबर के जरिए बायोमैट्रिकली ऑथेंटिकेट करना होता है. साथ ही अपने पेंशन बैंक अकाउंट से जुड़ी कुछ अन्य पेंशन डिटेल्स भी देनी होती हैं. इसके बाद यह डिजिटली जमा हो जाता है. पेंशनर जिस बैंक ब्रांच से पेंशन लेता है, पहले अपने जीवित होने के सबूत के तौर पर उसे संबंधित ब्रांच में पेश होना पड़ता था.

साल 2014 में लॉन्च की थी ये सुविधा
पेंशनर्स की सहूलियत के लिए सरकार ने नवंबर 2014 में जीवन प्रमाण सुविधा लॉन्च की. इसके आने से अब पेंशनर्स को बैंक की उसी ब्रांच में जाकर लाइफ सर्टिफिकेट जमा करने की अनिवार्यता नहीं है, जहां से उनकी पेंशन आती है.

यह भी पढ़ें: 5-10 रुपए का ये वाला सिक्का आपको बनाएगा मालामाल! मिल सकते हैं 10 लाख रुपए

Umang App के जरिए कराएं जमा
उमंग ऐप पर जीवन प्रमाण सर्च करना होगा और जनरेट लाइफ सर्टिफिकेट पर क्लिक करना होगा. इसके बाद पेंशनर ऑथेंटिकेशन पेज खुल जाएगा. इसमें जरूरी इनफॉरमेशन भरकर डिजिटल लाइफ सर्टिफिकेट जनरेट किया जा सकता है.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज