होम /न्यूज /व्यवसाय /

Share Market में गिरावट का ट्रेंड साल 2000 जैसा, इस दिग्‍गज निवेशक को है बाजार क्रैश होने का डर

Share Market में गिरावट का ट्रेंड साल 2000 जैसा, इस दिग्‍गज निवेशक को है बाजार क्रैश होने का डर

कुछ दिनों से भारतीय शेयर बाजार (Stock Market) में अस्थिरता का दौर जारी है. नए जमाने की टेक कंपनियों के शेयर औंधे मुंह गिरे हैं.

कुछ दिनों से भारतीय शेयर बाजार (Stock Market) में अस्थिरता का दौर जारी है. नए जमाने की टेक कंपनियों के शेयर औंधे मुंह गिरे हैं.

कुछ दिनों से भारतीय शेयर बाजार (Stock Market) में अस्थिरता का दौर जारी है. नए जमाने की टेक कंपनियों के शेयर औंधे मुंह गिरे हैं. अमेरिकी बाजार में भी फेसबुक (Facebook) सहित अन्‍य टेक कंपनियों में गिरावट है. जेफरीज (Jefferies) के ग्‍लोबल इक्विटी हेड क्रिस्‍टोफर वुड (Christopher Wood) इसे अच्‍छा संकेत नहीं मान रहे हैं. उनका कहना है कि यह ट्रेंड साल 2000 में आई भयंकर गिरावट जैसे हैं.

अधिक पढ़ें ...

नई दिल्‍ली. जेफरीज (Jefferies) के ग्लोबल इक्विटीज हेड  क्रिस्टोफर वुड (Christopher Wood) हाल ही में भारत सहित दुनिया भर के बाजारों में आई गिरावट को एक खतरनाक संकेत मानते हैं. वुड का कहना है कि इस गिरावट और साल 2000 में आई गिरावट में कुछ ऐसी समानताएं हैं जिनके आधार पर कहा जा सकता है कि बाजारों में शुरू हुई यह गिरावट जल्‍द रुकने वाली नहीं है.

वुड ने अपने हालिया वीकली न्यूजलेटर में कहा कि साल 2000 में न्यूयॉर्क एक्सचेंज सहित दुनिया भर के बाजारों में आई भारी गिरावट से जोड़कर देखा जा सकता है. उस वक्त सबसे पहले डॉटकॉम कंपनियों के शेयरों में भारी गिरावट आई थी.  जबकि बाकी बाजार थोड़ी अस्थिरता के साथ कारोबार कर रहा था. लेकिन अगले छह महीनों में S&P500 इंडेक्स भी धराशायी हो गया.

ये भी पढ़ें :  इस बार प्‍याज नहीं रुलाएगा महंगाई के आंसू, कीमतों पर लगाम लगाने को सरकार ने उठाया यह कदम

इस बार भी टेक शेयर धराशायी

क्रिसटोफर वुड का कहना है कि अमेरिका और भारत सहित दुनिया भर में टेक कंपनियों या नए जमाने की कंपनियों के शेयरों (Tech Shares) में पिछले एक-दो महीने से भारी बिकवाली देखने को मिल रही है. अमेरिका में लगभग सभी प्रमुख टेक कंपनियों को शामिल करने वाला इंडेक्स Nasdaq 100 पिछले कुछ महीनों में 16 फीसदी से अधिक गिर चुका है.

भारत में भी पेटीएम (Paytm share price), जोमैटो (Zomato Share price), कार ट्रेड और पीबी फिनटेक समेत कई नए जमाने की कंपनियों के शेयर अपने सबसे निचले स्तर पर कारोबार कर रहे हैं. कुछ कंपनियों के शेयर तो अपने आईपीओ इश्यू प्राइस (IPO Issue Price) से भी नीचे हैं. अमेरिका में फेसबुक के शेयरों (Facebook Share Price) में गिरावट आई है. वीरवार को फेसबुक के शेयर गिरकर 565 अरब डॉलर के मार्केट वैल्यू पर बंद हुए और अब यह बड़ी कंपनियों की लिस्ट में खिसकर 11वें नंबर पर आ गई है. इस तरह फेसबुक के शेयरहोल्डरों की संपत्ति पिछले कुछ हफ्तों में घटकर आधी हो गई है.

ये भी पढ़ें :  लो कर लो बात : लाखों भारतीयों के पसंदीदा नई दिल्‍ली के इस बाजार को अमेरिका ने बताया कुख्‍यात

जल्‍द नहीं रुकेगी गिरावट

क्रिस्टोफर वुड ने अपने न्‍यूजलेटर में कहा है कि, “मुझे आज की स्थिति सन 2000 की याद दिलाती है. मेरा मानना है कि अब ये गिरावट नहीं रुकने वाली है और धीरे-धीरे इसका असर दूसरे सेक्टर में होगा.” फिलहाल बाजार एनालिस्‍ट्स का कहना है कि निवेशकों को इस समय आय में अच्छी ग्रोथ वाली मार्केट लीडर कंपनियों के साथ बने रहने की जरूरत है.

Tags: Facebook, Paytm, Share market, Stock market

विज्ञापन

विज्ञापन

टॉप स्टोरीज

अधिक पढ़ें

अगली ख़बर