Home /News /business /

दिवालिया हो चुकी Jet Airways के कर्जदाताओं ने अब यहां लगाई मदद की गुहार

दिवालिया हो चुकी Jet Airways के कर्जदाताओं ने अब यहां लगाई मदद की गुहार

जेट एयरवेज के ऋणदाताओं

जेट एयरवेज के ऋणदाताओं

दिवालिया हो चुकी जेट एयरवेज के ऋणदाताओं ने सोमवार को दक्षिण अमेरिकी समूह सिनर्जी ग्रुप के समक्ष अपनी बात रखी. एक सूत्र ने यह जानकारी दी.

    नई दिल्ली. दिवालिया हो चुकी जेट एयरवेज (Jet Airways) के ऋणदाताओं ने सोमवार को दक्षिण अमेरिकी समूह सिनर्जी ग्रुप के समक्ष अपनी बात रखी. एक सूत्र ने यह जानकारी दी. निजी क्षेत्र की एयरलाइन के अधिग्रहण के लिए सिनर्जी ग्रुप एकमात्र संभावित खरीदार के रूप में सामने आया है. सिनर्जी ग्रुप कॉर्प ने 10 अगस्त की समयसीमा के बाद एयरलाइन के अधिग्रहण में रुचि दिखाई थी. सिनर्जी ग्रुप (Synergy Group) के पास कोलंबिया की एयरलाइन एवियांस होल्डिंग्स की बहुलांश हिस्सेदारी है.

    एयरलाइन के लिए पहले ही ऊर्जा क्षेत्र के दिग्गज अनिल अग्रवाल के परिवार समर्थित ट्रस्ट वोल्कन इन्वेस्टमेंट, रूस के कोष ट्रेजरी आरए पार्टनर्स और पनामा के एवान्तुलो ग्रुप ने रुचि पत्र दिया था, जो बाद में वापस ले लिया गया.

    ये भी पढ़ें: आधार कार्ड पर खराब फोटो से न हों मायूस, अपडेट करने का ये है आसान तरीका

    एक सूत्र ने पीटीआई- भाषा से कहा कि जेट एयरवेज के ऋणदाताओं ने सिनर्जी ग्रुप के समक्ष प्रस्तुतीकरण दिया. उन्होंने एयरलाइन की संपत्तियों, श्रमबल, देनदारियों और अन्य सूचनाओं को साझा किया. सूत्र ने बताया कि यह प्रक्रिया मंगलवार को भी जारी रहेगी.

    इस बारे में संपर्क किए जाने पर सिनर्जी ग्रुप के कानूनी सलाहकार वाशिंगटन के ग्यूजेटी एसोसिएट्स के अध्यक्ष एंटानियो ग्यूजेटी ने कहा कि उन्हें इस घटनाक्रम की जानकारी नहीं है. एयरलाइन पर एसबीआई की अगुवाई वाले बैंकों के गठजोड़ का 8,500 करोड़ रुपये से अधिक का बकाया है. इनमें ब्याज और अन्य शुल्क आदि शामिल नहीं हैं.

    ये भी पढ़ें: छोटे कारोबारियों और बि​जनेस शुरू करने वालों को सरकार का तोहफा

    Tags: Fighter jet, Jet, Jet airways

    विज्ञापन

    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज

    अधिक पढ़ें

    अगली ख़बर