2021 की गर्मियों में फिर उड़ान भरेगी Jet Airways! 2019 में दिवाला प्रक्रिया के लिए भेजी गई थी एयरलाइंस

यूएई के मुरारी लाल जालान और ब्रिटेन की कालरॉक कैपिटल का कंसोर्टियम बंद पड़ी जेट एयरवेज को नई उड़ान देगा.

यूएई के मुरारी लाल जालान और ब्रिटेन की कालरॉक कैपिटल का कंसोर्टियम बंद पड़ी जेट एयरवेज को नई उड़ान देगा.

संयुक्‍त अरब अमीरात (UAE) के कारोबारी मुरारी लाल जालान (Murari Lal Jalan) और लंदन (London) की कालरॉक कैपिटल ने 2021 की गर्मियों में जेट एयरवेज (Jet Airways) की फ्लाइट्स शुरू हो जाएंगी. पिछले साल 17 अप्रैल को इस एयरलाइंस कंपनी का ऑपरेशन बंद कर दिवाला प्रक्रिया (Bankruptcy Process) के तहत भेज दिया गया था.

  • Share this:

मुंबई. कभी दिवाला प्रक्रिया (Bankruptcy Process) के तहत भेजी गई एयरलाइंस कंपनी जेट एयरवेज (Jet Airways) की फ्लाइट्स 2021 की गर्मियों में फिर शुरू हो जाएंगी. संयुक्त अरब अमीरात (UAE) के कारोबारी मुरारी लाल जालान और लंदन (London) की कालरॉक कैपिटल के संयुक्‍त उपक्रम ने कहा कि जेट एयरवेज (Jet Airways) का परिचालन 2021 की गर्मियों में फिर शुरू हो सकता है. इस संयुक्‍त उपक्रम ने जेट एयरवेज के रिवाइवल की बोली जीती है. अब गठजोड़ को नेशनल कंपनी लॉ ट्रिब्‍यूनल (NCLT) तथा अन्य नियामकीय मंजूरियों का इंतजार है.

कर्जदाताओं की समिति ने गठजोड़ के रिवाइवल प्‍लान को दे दी थी मंजूरी

जेट एयरवेज को नागर विमानन मंत्रालय (Civil Aviation Ministry) और नागर विमानन महानिदेशालय (DGCA) से फ्लाइट्स के लिए समय व द्विपक्षीय यातायात अधिकार की बहाली का इंतजार है. इसके अलावा गठजोड़ की योजना एयरलाइन का परिचालन फिर शुरू होने के बाद फ्रेट सर्विस शुरू करने की है. कर्जदाताओं की समिति (COC) अक्टूबर 2020 में ही गठजोड़ की ओर से जमा कराए गए रिवाइवल प्‍लान को मंजूरी दे चुकी है. नकदी संकट की वजह से जेट एयरवेज का परिचालन 17 अप्रैल 2019 को बंद हो गया था. इसके बाद जून 2019 में उसे दिवाला प्रक्रिया के तहत भेज दिया गया था.

ये भी पढ़ें- भारत ने चीन को दिया तगड़ा झटका! जनवरी-नवंबर 2020 में बीजिंग से आयात घटाकर बढ़ाया निर्यात
कंपनी पुराने डॉमेस्टिक और इंटरनेशनल रूट्स पर शुरू करेगी ऑपरेशन

समाधान योजना के तहत जेट एयरवेज का इरादा भारत में अपने सभी पुराने डॉमेस्टिक रूट्स और इंटरनेशनल ऑपरेशंस शुरू करने का है. जेट 2.0 कार्यक्रम का मकसद एयरलाइन के पुराने इतिहास को वापस लाना है. इसके तहत नई प्रक्रियाओं और प्रणालियों के जरिये सभी मार्गों पर दक्षता व उत्पादकता बढ़ाने का प्रयास किया जाएगा. गठजोड़ ने कहा है कि अगर सब कुछ योजना के मुताबिक रहता है और एनसीएलटी व अन्य नियामकीय मंजूरियां समय पर मिल जाती हैं तो 2021 की गर्मियों में जेट एयरवेज फिर उड़ान भर सकेगी. यही नहीं, नई एयरलाइन शुरू करने के विकल्प पर भी विचार किया गया, लेकिन जेट एयरवेज की ताकत को देखते हुए इसके रिवाइवल का फैसला किया गया.

अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज