• Home
  • »
  • News
  • »
  • business
  • »
  • एक महीने में जियो ने जुटाए 67 हजार करोड़ रुपये, जानें किस कंपनी ने कितना किया निवेश

एक महीने में जियो ने जुटाए 67 हजार करोड़ रुपये, जानें किस कंपनी ने कितना किया निवेश

रिलायंस जियो ने 4 डील के जरिए 67 हजार करोड़ रुपये जुटाए हैं.

रिलायंस जियो ने 4 डील के जरिए 67 हजार करोड़ रुपये जुटाए हैं.

Reliance Jio Deals: टेलिकॉम सेक्टर में देश की सबसे बड़ी कंपनी रिलायंस जियो ने एक महीने में 4 बड़ी डील की है. जियो प्लेटफॉर्म्स में निवेश करने वाली कंपनियों की लिस्ट में फेसबुक, सिल्वर लेक और विस्टा इक्विटी पार्टनर्स के बाद अब जनरल अटलांटिक भी शामिल हो गई है.

  • Share this:
    नई दिल्ली. रिलायंस इंडस्ट्रीज (Reliance Industries) की स्वामित्व वाली रिलायंस जियो ने करीब एक महीने में 4 बड़ी ​डील की है. रिलायंस जियो (Reliance Jio) में निवेश करनी वाली कंपनियों की लिस्ट में फेबसुक, सिल्वर लेक, विस्टा इक्विटी के बाद अब न्यूयॉर्क की वैश्विक इक्विटी फर्म जनरल अटलांटिक (General Atlantic) भी शामिल हो गई है. इसी के साथ अब Jio Platforms ने करीब 67 हजार करोड़ रुपये की डील को पूरा कर लिया है. इन सभी डील के बाद अब जियो प्लेटफॉर्म्स की ​इक्विटी वैल्यू (Jio Equity Value) और एंटरप्राइज वैल्यू (Jio Enterprise Value) में भी जबरदस्त इजाफा हुआ है. आइए जानते हैं कि इन सभी डील्स के बारे में.

    फेसबुक ने की सबसे बड़ी डील
    जियो में निवेश करने के मामले में सबसे पहली और सबसे बड़ी कंपनी फेसबुक रही. मार्क जकरबर्ग (Mark Zuckerberg) की इस कंपनी ने जियो (Jio Platforms Limited) में 9.9 फीसदी की​ हिस्सेदारी के लिए 43,574 करोड़ रुपये का निवेश किया है.भारतीय टेक्नोलॉजी सेक्टर में यह सबसे बड़ा एफडीआई है.



    सिल्वर लेक ने जियों में​ निवेश किए 6,655 करोड़ रुपये
    जियो में दूसरा निवेश प्राइवेट इक्विटी फर्म सिल्वर लेक की है. सिल्वेर लेक (Equity Firm Silver Lake) ने जियो में 1.15 फीसदी की हिस्सेदारी खरीदी. इसके लिए कंपनी ने कुल 5,655.75 करोड़ रुपये का निवेश किया है. इस डील के बाद ब्रोकरेज फर्म एडलवाइस (Edelweiss) ने अपनी राय रखते हुए कहा है कि ये सौदा बेहद ही खास है. क्योंकि इस मुश्किल दौर में ये बिजनेस सेंटीमेंट को बेहतर करेगा.

    यह भी पढ़ें: Jio में 1.34 फीसदी हिस्सेदारी खरीदेगी जनरल अटलांटिक, 6,600 करोड़ रुपये की डील



    इक्विट फर्म विस्टा पार्टनर्स ने भी किया निवेश
    प्राइवेट क्षेत्र की एक और इक्विटी फर्म 'विस्ट इक्विटी' ने भी रिलायंस जियो में निवेश किया है. प्राइवेट इक्विटी विस्टा इक्विटी पार्टनर्स (Vista Equity Partners) ने जियो प्लेटफॉर्म्स लिमिटेड की 2.3 फीसदी हिस्सेदारी 11,367 करोड़ रुपये में खरीदने का ऐलान किया है. यह रिलायंस जियो का तीसरा हाई-प्रोफाइल निवेश है. भारत में विस्टा का यह पहला बड़ा निवेश है. विस्टा का शुरुआती चरण में तकनीकी कंपनियों में निवेश करने का एक ट्रैक रिकॉर्ड रहा है. इसका प्रत्येक निवेश 10 वर्षों में प्रॉफिटेबल रहा है.

    जनरल अटलांटिक ने की 6598 करोड़ रुपये की डील
    अब जियो प्लेटफॉर्म्स (Jio Platforms) में 1.34 फीसदी स्टेक के लिए न्यूयॉर्क की प्राइवेट इक्विटी फंड 'जनरल अटलांटिक' 6,598.38 करोड़ रुपये का निवेश करेगी. किसी भी एशियाई कंपनी में ​जनरल अटलांटिक (General Atlantic-Jio Deal) की यह सबसे बड़ी निवेश है. इस डील के बाद कंपनी ने अपने बयान में कहा कि इस इन्वेस्टमेंट के बाद एक बार फिर यह साबित होता है कि जियो नेक्स्ट जेनरेशन सॉफ्टवेयर प्रोडक्ट और प्लेटफॉर्म कंपनी के तौर पर उभरेगी. यह जियो की प्रोद्यौगिकी क्षमता को भी दर्शाता है.

    देश की सबसे बड़ी टेलिकॉम कंपनी है जियो
    गौरतलब है कि रिलायंस जियो देश की सबसे बड़ी टेलीकॉम कंपनी है. ट्राई के ताजा आंकड़ों के अनुसार दिसंबर 2019 तक रिलायंस जियो के पास 37 करोड़ ग्राहक थे. वहीं 33.2 करोड़ ग्राहकों के साथ दिसंबर महीने में वोडाफोन-आइडिया दूसरी सबसे बड़ी टेलीकॉम कंपनी थी. दिसंबर 2019 में 32.72 करोड़ ग्राहकों के साथ भारती एयरटेल तीसरी सबसे बड़ी कंपनी थी. पिछले एक महीने में रिलायंस जियो ने इन चार डील्स के माध्यम से करीब 67 हजार करोड़ रुपये जुटाए हैं.

    (डिस्केलमर- न्यूज18 हिंदी, रिलायंस इंडस्ट्रीज की कंपनी नेटवर्क18 मीडिया एंड इन्वेस्टमेंट लिमिटेड का हिस्सा है. नेटवर्क18 मीडिया एंड इन्वेस्टमेंट लिमिटेड का स्वामित्व रिलायंस इंडस्ट्रीज के पास ही है.)


    यह भी पढ़ें: Facebook डील से Reliance Jio देश की टॉप 5 कंपनियों में हुई शामिल, यहां देखें लिस्ट

    पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.

    विज्ञापन
    विज्ञापन

    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज