• Home
  • »
  • News
  • »
  • business
  • »
  • FIEO की चेतावनी-कोरोना की वजह से एक्सपोर्ट सेक्टर में जा सकती है 1.5 करोड़ नौकरियां

FIEO की चेतावनी-कोरोना की वजह से एक्सपोर्ट सेक्टर में जा सकती है 1.5 करोड़ नौकरियां

ऑर्डर्स कैंसल हो जाने से नौकरियों पर खतरा है.

ऑर्डर्स कैंसल हो जाने से नौकरियों पर खतरा है.

फेडरेशन ऑफ इंडियन एक्सपोर्ट ऑर्गनाइजेशन (FIEO-Federation of Indian Export Organisations) का कहना है कि कोरोना वायरस के कारण भारत के निर्यात क्षेत्र में करीब डेढ़ करोड़ लोगों की नौकरियां जा सकती हैं

  • Share this:
    नई दिल्ली. कोरोना महामारी (Coronavirus Impact) की वजह से एक्सपोर्ट सेक्टर (Export Sector) में काम करने वाले 1.5 लागों की नौकरियों (15 Million Jobs) पर खतरा मंडरा रहा है. फेडरेशन ऑफ इंडियन एक्सपोर्ट ऑर्गनाइजेशन (FIEO-Federation of Indian Export Organisations) का कहना है कि कोरोना वायरस के कारण भारत के एक्सपोर्ट में करीब डेढ़ करोड़ लोगों की नौकरियां जा सकती हैं. FIEO के अध्यक्ष शरद कुमार सर्राफ का कहना है कि आधे से अधिक ऑर्डर्स कैंसल  हो जाने और ग्लोबल व्यापार के खराब आउटलुक के चलते इन नौकरियों के जाने की आशंका है.

    एक्सपोर्ट सेक्टर को चाहिए सरकार की मदद- एक्सपोटर्स के लिये राहत पैकेज की मांग करते हुए  सर्राफ ने कहा कि एक्सपोटर्स के पास बेहद कम ऑर्डर बचे हैं.

    >> अगर कारखानों को न्यूनतम कामगारों के साथ चलाने की छूट नहीं दी गयी तो ऐसी क्षति होगी जिसकी भरपाई नामुमकिन है.

    >> छूट नहीं मिलने से ये कारखाने बंद होने के लिये बाध्य हो जाएंगे और जो नुकसान होगा, उन्हें ही झेलना होगा.

    ये भी पढ़ें-सरकार ने FCI के 80 हजार मजदूरों को दिया 15 लाख रुपये का मुफ्त बीमा

    >> उन्होंने कहा, 50 फीसदी से ज्यादा ऑर्डर कैसिंल हो जाने और आने वाले समय के लिए खराब आउटलुक से एक्सपोर्ट करने वाली कंपनियों में डेढ़ करोड़ लोगों के बेरोजगार हो जाने तथा एनपीए बढ़ने की आशंका है. इन सभी का असर देश की अर्थव्यवस्था पर  होगा.

    >> उन्होंने कहा कि लॉकडाउन से कपड़ा, रत्न एवं आभूषण, चमड़ा, हथकरघा, इंजिनियरिंगऔर कपड़ा उद्योग बुरी तरह प्रभावित हुए हैं.

    चीन हमारा बाजार हथिया रहा है. उन्होंने कारखाने शुरू कर दिए हैं इससे अब ऑर्डर उन्हें मिल रहे हैं. अगर हमने अभी कारखाने शुरू नहीं किये तो बहुत देरी हो जाएगी. बांग्लादेश और श्रीलंका जैसी छोटी अर्थव्यवस्थाओं ने भी राहत पैकेज की घोषणा की है.

    ये भी पढ़ें-न मांग बढ़ी, न प्रोडक्शन की कमी, फिर कौन बढ़ा रहा राशन और सब्जियों का दाम

    पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.

    हमें FacebookTwitter, Instagram और Telegram पर फॉलो करें.

    विज्ञापन
    विज्ञापन

    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज