कोरोना संकट के बीच इस सेक्टर में 1 लाख लोगों को मिलेगी नौकरी! देखें क्‍या आप भी हैं एलिजिबल

कोरोना संकट के बीच भारत में एक लाख स्क्ल्डि लोगों के लिए नई नौकरियों के मौके हैं.
कोरोना संकट के बीच भारत में एक लाख स्क्ल्डि लोगों के लिए नई नौकरियों के मौके हैं.

दुनियाभर में डाटा साइंस प्रोफेशनल्‍स (Data Science Professionals) की मांग तेजी से बढ़ रही है. भारत में अगस्‍त 2020 के दौरान इस सेक्‍टर में हजारों की संख्‍या में ओपनिंग (New Jobs) थीं. देश में बेंगलुरु इस सेक्‍टर में सबसे ज्‍यादा नौकरियों के अवसर (Job Opportunities) पैदा करता है. इसके बाद दिल्‍ली-एनसीआर दूसरे पायदान पर है.

  • News18Hindi
  • Last Updated: October 7, 2020, 9:06 PM IST
  • Share this:
नई दिल्‍ली. कोरोना वायरस (Coronavirus Crisis) के फैलने की रफ्तार पर रोक के लिए लगाए गए लॉकडाउन (Lockdown) के कारण देश में आर्थिक गतिविधियां ठप पड़ गईं. इसके बाद हर सेक्‍टर में कर्मचारियों की छंटनी (Layoffs) और वेतन कटौती (Salary Cut) की गई. हालांकि, अब धीरे-धीरे कारोबारी गतिविधियां (Business Activities) पटरी पर लौट रही हैं और कई सेक्‍टर्स लोगों को नौकरियां (New Jobs) दे भी रहे हैं. इसी कड़ी में एक ऐसा सेक्‍टर भी है, जिसमें करीब 1,00,000 लोगों के लिए ओपनिंग है. दरअसल, देश में डाटा साइंस सेक्‍टर (Data Science Sector) में इस समय एक लाख स्किल्‍ड लोगों (Skilled Employees) की दरकार है.

दुनियाभर में तेजी से बढ़ रही डाटा साइंस प्रोफेशनल्‍स की मांग
एजुकेशन टेक्‍नोलॉजी कंपनी ग्रेट लर्निंग (EdTech company Great Learning ) के मुताबिक, अगस्त 2020 के आखिर तक भारत में डाटा साइंस फील्ड में करीब 93,500 नौकरी थीं. इस समय डाटा साइंस प्रोफेशनल्‍स की मांग पूरी दुनिया में तेजी से बढ़ रही है. अगस्त 2020 में पूरी दुनिया में डाटा साइंस प्रोफेशनल्‍स की मांग का 9.8 फीसदी योगदान भारत की ओर से था. साल की शुरुआत यानी जनवरी, 2020 में यह आंकड़ा 7.2 फीसदी था. हालांकि, डाटा साइंस सेक्टर पर भी कोरोना संकट का असर दिखा है और वैकेंसी में गिरावट आई.

ये भी पढ़ें- Private Trains: रेलवे को BHEL-L&T समेत 15 कंपनियों की ओर से मिले 120 आवेदन
बेंगलुरु इस सेक्‍टर में पैदा करता है सबसे ज्‍यादा नौकरियां


भारत में कोरोना काल से पहले फरवरी, 2020 में डाटा साइंस सेक्टर में 1,09,000 प्रोफेशनल्‍स के लिए ओपनिंग थीं. मई 2020 में यह मांग घटकर 82,500 रह गई. इसमें फिर तेजी आई और अगस्त 2020 में यह संख्‍या 93,500 ओपनिंग पर पहुंच गई. डाटा साइंस सेक्टर में नई नौकरियां पैदा (Job Opportunities) करने के मामले में बेंगलुरु सबसे आगे है. इस मामले में बेंगलुरु का योगदान 23 फीसदी और दिल्ली-एनसीआर का योगदान 20 फीसदी है. वहीं, मुंबई का इस मामले में योगदान 15 फीसदी है.

ये भी पढ़ें- नवरात्रि से पहले पटरी पर लौटेगी नई दिल्‍ली से कटरा जाने वाली वंदेभारत, जल्‍द चलेंगी 39 नई स्पेशल ट्रेनें

डाटा साइंस प्रोफेशनल बनने के लिए चाहिए ये योग्‍यता
डाटा साइंस प्रोफेशनल के तौर पर करियर बनाने के लिए किसी भी कंप्‍यूटर प्रोग्रामिंग लैंग्‍वेज (Programming Language) की अच्‍छी नॉलेज होनी चाहिए. साथ ही 12वीं में गणित होना जरूरी है. डाटा साइंस से जुड़े प्रोग्राम एनआइईटी समेत कई संस्‍थानों में चलाए जा रहे हैं. कई इंस्‍टीट्यूट अब डाटा साइंस में बीटेक कोर्स (B.Tech) ऑफर कर रहे हैं.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज