बाइडन की जीत के बाद भारत-अमेरिका संबंध को लेकर उद्योग जगत को क्या है उम्मीद?

अमेरिका के न​वनिर्वाचित राष्ट्रपति जो बाइडन और उपराष्ट्रपति कमला हैरिस
अमेरिका के न​वनिर्वाचित राष्ट्रपति जो बाइडन और उपराष्ट्रपति कमला हैरिस

उद्योग जगत ने उम्मीद जताई कि बाइडन के नेतृत्व में भारत-अमेरिका के बीच संबंध और सहयोग और मजबूत हो सकेगा. दोनों देशों के बीच वस्तुओं और सेवाओं का द्विपक्षीय व्यापार 2019 में करीब 150 अरब डॉलर पर था.

  • News18Hindi
  • Last Updated: November 8, 2020, 7:26 PM IST
  • Share this:
नई दिल्ली. भारतीय उद्योग जगत ने अमेरिका के राष्ट्रपति चुनाव में जो बाइडन (Joe Biden) की जीत का स्वागत करते हुए कहा कि ‘एक लोकतांत्रिक प्रक्रिया ने बदलाव के लिए वोट किया’ है. इसके साथ ही उद्योग जगत ने उम्मीद जताई कि बाइडन के नेतृत्व में भारत-अमेरिका के बीच संबंध (Indo-US Relation) एवं सहयोग और मजबूत हो सकेगा.

भारतीय उद्योग परिसंघ (CII) के महानिदेशक चंद्रजीत बनर्जी ने निर्वाचित राष्ट्रपति बाइडन और निर्वाचित उपराष्ट्रपति कमला हैरिस (Kamala Harris) को बधाई देते हुए कहा, ‘‘हम राष्ट्रपति बाइडन और उनके प्रशासन के साथ एक बार फिर सहयोग की उम्मीद कर रहे हैं.’’





आने वाले वर्षोंग में द्विपक्षीय व्यापार बढ़ने की उम्मीद
उन्होंने कहा कि कोविड-19 की वजह से पैदा हुई अड़चनों से पहले दोनों देशों के बीच वस्तुओं और सेवाओं का द्विपक्षीय व्यापार (Bilateral Trade) 2019 में करीब 150 अरब डॉलर पर पहुंच गया था. हमें उम्मीद है कि आगामी वर्षों में यह और बढ़ेगा. बनर्जी ने कहा, ‘‘नए दौर में आर्थिक सहयोग में नई ऊर्जा का संचार कर हम इसमें 500 अरब डॉलर के साझा लक्ष्य को हासिल कर सकते हैं.’’ उन्होंने कहा कि ऊर्जा और हरित अर्थव्यवस्था ऐसे क्षेत्र हैं जिसमें दोनों देश आपसी संबंधों को और आगे बढ़ा सकते हैं.

यह भी पढ़ें: Post Office की इस स्कीम में सिर्फ 100 रुपए लगाकर बनें लखपति, जानिए कैसे करें शुरुआत

अमेरिका-भारत व्यापार परिषद (USIBC) ने कहा है कि बाइडेन ने बराक ओबामा प्रशासन में अमेरिका-भारत के रणनीतिक संबंधों को आगे बढ़ाने में महत्वपूर्ण भूमिका निभाई थी. परिषद ने कहा कि हम बाइडन-कमला हैरिस प्रशासन के साथ काम करने को लेकर उत्साहित हैं. हमें उम्मीद है कि उनके नेतृत्व में अमेरिका-भारत आर्थिक भागीदारी अपनी पूरी क्षमता हासिल कर पाएगी और इससे दोनों देशों के नागरिकों के लिए अवसर पैदा होंगे.

जेएसडब्ल्यू ग्रुप के चेयरमैन सज्जन जिंदल ने ट्वीट किया, ‘‘एक लोकतांत्रिक प्रक्रिया ने बदलाव के लिए वोट किया है. अमेरिकी समुदाय को इसके लिए बधाई जिसने एक कठिन बाहरी वातावरण में सुनिश्चित किया कि लोकतांत्रिक प्रक्रिया से किसी तरह का समझौता नहीं किया जा सके.

यह भी पढ़ें: LTC Cash Voucher Scheme: क्या परिवार के सदस्यों को भी मिलेगा इस योजना का लाभ? जानिए क्या है सरकार का कहना

इसी तरह जेएसपीाल के चेयरमैन नवीन जिंदल ने भी ट्वीट कर बाइडेन और हैरिस को बधाई दी है. उन्होंने कहा कि उम्मीद है कि इससे भारत और अमेरिका के बीच सहयोग और संबंध और मजबूत हो सकेगा.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज