IPO Listing : Kalyan Jewellers ने दिया घाटा, 15% डिस्काउंट के साथ 73.95 रु पर हुआ लिस्ट

कल्याण ज्वैलर्स (Kalyan Jewellers) के आईपीओ का इश्यू प्राइस 87 रुपए प्रति शेयर था.

कल्याण ज्वैलर्स (Kalyan Jewellers) के आईपीओ का इश्यू प्राइस 87 रुपए प्रति शेयर था.

शुक्रवार को शेयर बाजार में कल्याण ज्वैलर्स (Kalyan Jewellers) का शेयर डिस्काउंट पर लिस्ट हुआ. एनएसई (NSE)पर इसकी लिस्टिंग करीब 15 फीसदी डिस्काउंट पर हुई है.

  • News18Hindi
  • Last Updated: March 26, 2021, 11:19 AM IST
  • Share this:
नई दिल्ली. कल्याण ज्वैलर्स (Kalyan Jewellers) के आईपीओ (IPO) ने निवेशकों को निराश किया. शुक्रवार को शेयर बाजार में इसका शेयर डिस्काउंट पर लिस्ट हुआ. एनएसई (NSE)पर Kalyan Jewellers की लिस्टिंग करीब 15 फीसदी डिस्काउंट पर हुई है.

एनएसई पर कंपनी का शेयर 73.95 रुपए पर लिस्ट हुआ है. जबकि, बीएसई (BSE) पर ये शेयर 73.90 प्रति शेयर के भाव पर लिस्ट हुआ है. इसका इश्यू प्राइस 87 रुपए प्रति शेयर था. यानी कि निवेशकों को करीब 13 रुपए का घाटा हुआ है.

यह भी पढें : पत्नी, बेटी, बहन और मां के नाम पर घर खरीदेंगे तो मिलेंगे यह तीन फायदे, जाने सबकुछ

इश्यू के जरिए कंपनी ने 1175 करोड़ रुपए जुटाए
कल्याण ज्वैलर्स का IPO 2.61 गुना सब्सक्राइब हुआ था. कंपनी का इश्यू 16 मार्च को खुला था और 18 मार्च को बंद हुआ था. अपने इश्यू के जरिए कंपनी ने 1175 करोड़ रुपए जुटाए हैं. इश्यू खुलने से पहले ही कंपनी ने 15 मार्च को एंकर इनवेस्टर्स से 351.89 करोड़ रुपए जुटा लिए थे.

यह भी पढें :  नौकरी की बात: पुरानी कंपनी, बॉस और सहकर्मियों के संपर्क में रहिए, लग सकती है जॉब्स की लॉटरी 

सब्सक्राइब को देखते हुए निवेशकों को मुनाफा का था भरोसा



क्वालीफाइड इंस्टीट्यूशनल बायर्स के लिए रिजर्व हिस्सा 2.76 गुना सब्सक्राइब हुआ था. वही नॉन इंस्टीट्यूशनल इनवेस्टर्स का पोर्शन 1.91 गुना बुक हुआ था. रिटेल इनवेस्टर्स का हिस्सा 2.82 गुना भरा था. जबकि एंप्लॉयीज के लिए रिजर्व हिस्सा 3.74 गुना सब्सक्राइब हुआ था.

यह भी पढें : सबसे ज्यादा वाशिंग मशीन और डिशवाशर खरीदने के लिए लिया जा रहा है लोन, जानिए लोन लेने की ऐसी ही रोचक वजहें

आमदनी के लिहाज से सबसे बड़ी ज्वैलरी कंपनी

मार्च 2020 तक की आमदनी के लिहाज से कल्याण ज्वैलर्स देश की सबसे बड़ी ज्वैलरी कंपनी है. कंपनी इश्यू से जुटाए फंड का इस्तेमाल अगले दो साल तक कामकाज में करेगी. कल्याण ज्वैलर्स की प्रतिद्वंदी कंपनी की लिस्टिंग दिसंबर 2012 में हुई थी. उसके बाद पहली बार कोई ज्वैलरी कंपनी बाजार में लिस्ट होने जा रही है. कंपनी का नेटवर्क देखें तो 30 जून 2020 तक कल्याण ज्वेलर्स के पास देश के 21 राज्यों में 107 शोरूम थे. इसके अलावा विदेश में भी कंपनी के 30 शोरूम हैं.

यह भी पढें : 31 मार्च तक टैक्स सेविंग के लिए यह विकल्प है सबसे सुरक्षित, मिलेगा गारंटीड रिटर्न 
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज