मधू कपूर नहीं रहेंगी YES Bank की प्रोमोटर, राणा कपूर के पास केवल इतने शेयर बचे

यस बैंक

YES Bank ने एक्सचेंज फाइलिंग में जानकारी दी है कि सह—संस्थापक अशोक कपूर की पत्नी मधू कपूर और उनकी बेटियां अब प्रोमोटर नहीं रहेंगी. मधु कपूर ग्रुप ने बैंक में अपनी शेयरहोल्डिंग को नॉन प्रमोटर या पब्लिक शेयर होल्डर्स के तौर पर पुर्नवर्गीकृत करने की सहमित दे दी है.

  • Share this:
    मुंबई. देश के प्राइवेट बैंक यस बैंक (Yes Bank) में अब बड़ा बदलाव देखने को मिलेगा. बैंक के सह संस्थापक (Co-founder) अशोक कपूर की पत्नी मधु कपूर और उनके परिवार में शगुन कपूर, गोगिया और गौरव अशोक कपूर के साथ साथ मधु कपूर की कंपनी मैग्स फिनवेस्ट प्राइवेट लिमिटेड (Mags Finvest Pvt Ltd) को अब बैंक के प्रमोटर के तौर पर नहीं माना जाएगा.

    ​यस बैंक ने एक्सचेंज को दी जानकारी
    रेग्युलेटरी फाइलिंग (Regulatory filing) में, यस बैंक ने कहा है कि मधु कपूर ग्रुप ने बैंक में अपनी शेयरहोल्डिंग को नॉन प्रमोटर (Non-promoters) या पब्लिक शेयर होल्डर्स (Public shareholders) के तौर पर पुर्नवर्गीकृत करने की सहमित दे दी है. मधु कपूर, यस बैंक की फाउंडर अशोक कपूर की पत्नी हैं.

    मधु कपूर के पास कितनी हिस्सेदारी?
    31 मार्च तक मधु कपूर के पास 14 करोड़ 1.12 फीसदी शेयर्स हैं और मैग्स फिनवेस्ट के पास बैंक में 3.72 करोड़ या 0.30 फीसदी से अधिक शेयर हैं.

    यह भी पढ़ें: बड़ी खबर! 31 जुलाई तक रजिस्ट्रेशन कराने वाले किसानों के ही खाते में आएंगे पैसे

    28 मई को लिया फैसला
    यस बैंक ने शनिवार को रेग्युलेटरी फाइलिंग में कहा है कि बैंक को तारीख 28 मई, 2020 (29 मई, 2020 को प्राप्त) का मधु अशोक कपूर, शगुन कपूर गोगिया, गौरव अशोक कपूर और मैग्स फिनवेस्ट प्राइवेट लिमिटेड का लिखा पत्र मिला है. जिसमें लिखा है कि उन्होंने बैंक में अपने शेयरहोल्डिंग को नॉन-प्रमोटर शेयरहोल्डर्स यानी पब्लिक शेयरहोल्डर्स के तौर पर पुर्नवर्गीकृत करने के लिए सहमति दे दी है.

    10 हजार करोड़ रुपये इन्वेस्ट करेगा SBI
    जब रिजर्व बैंक ऑफ इंडिया ने यस बैंक के डॉयरेक्टर्स बोर्ड को भंग कर दिया था. उसके 3 महीने मधु कपूर और उसके परिवार का यह फैसला आया है. मार्च महीने में भारतीय स्टेट बैंक ने यस बैंक में निवेश के लिए अधिकतम 10,000 करोड़ रुपये की सीमा तय की थी.

    निवेश के बाद SBI की यस बैंक में हिस्सेदारी 49 फीसदी हो गई है. SBI के पूर्व चीफ फाइनेंशियल ऑफिसर (chief financial officer – CFO) प्रशांत कुमार यस बैंक में CEO हैं.

    यह भी पढ़ें: आज से इन ट्रेनों में बदल गए टिकट बुकिंग के नियम, बुक करने से पहले जानें यहां

    राणा कपूर पर ED का शिकंजा
    यस बैंक के संस्थापक राणा कपूर ED की जांच का सामना कर रहे हैं. हालांकि प्रमोटर के तौर पर राणा कपूर के पास केवल 900 शेयर हैं. बता दें कि राणा कपूर ने मधु कपूर के दिवंगत पति अशोक कपूर के साथ मिलकर साल 2004 में नए जमाने के प्राइवेट बैंक के रूप में यस बैंक की स्थापना की थी.

    राणा कपूर और अशोक कपूर की पत्नियां आपस में बहनें हैं. राणा कपूर लंबे समय तक यस बैंक के टॉप लेवल पर रहे. फिलहाल वह भ्रष्टाचार के मामले में पुलिस हिरासत में है. यस बैंक को इस समय स्टेट बैंक की अगुवाई में कई अन्य बैंकों द्वारा ऑपरेट किया जा रहा है.

    यह भी पढ़ें: क्या अब 10 से 11 डिजिट का हो जाएगा आपका मोबाइल नंबर? TRAI ने दी नई जानकारी