इमरान खान के राज में 'तबाह' हुआ पाकिस्तान का शेयर बाजार, डूबे 1 लाख करोड़ रुपये

भारत से कारोबारी 'दुश्मनी' पाकिस्तान को कितनी महंगी पड़ेगी, इसका अंदाजा शायद उसे नहीं था. यहीं वजह है कि धारा 370 के विरोध में उसने भारत के साथ कारोबारी रिश्ते तो खत्म कर दिए. लेकिन, इसका असर शेयर बाजार पर दिखा.

News18Hindi
Updated: August 9, 2019, 2:42 PM IST
इमरान खान के राज में 'तबाह' हुआ पाकिस्तान का शेयर बाजार, डूबे 1 लाख करोड़ रुपये
इमरान खान के राज में 'तबाह' हुआ पाकिस्तान का शेयर बाजार, डूबे 1 लाख करोड़ रुपये
News18Hindi
Updated: August 9, 2019, 2:42 PM IST
भारत (India) से कारोबारी 'दुश्मनी' पाकिस्तान (Pakistan) को कितनी महंगी पड़ेगी, इसका अंदाजा शायद उसे नहीं था. यहीं वजह है कि धारा 370 के विरोध में उसने भारत के साथ कारोबारी रिश्ते तो खत्म कर दिए. लेकिन, इसका असर शेयर बाजार (Stock Market) पर दिखा. भारत-पाकिस्तान (India-Pakistan) के साथ रिश्तों में तनाव बढ़ने के चलते निवेशकों ने जमकर बिकवाली की है. पिछले कारोबारी सत्र में पाकिस्तानी स्टॉक एक्सचेंज का प्रमुख बेंचमार्क इंडेक्स KSE-100 गिरकर 4 साल के निचले स्तर पर आ गया है. वहीं, पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान खान के राज में निवेशकों के 1 लाख करोड़ पाकिस्तानी रुपये (Pakistani Rupee) शेयर बाजार में डूब चुके है. पाकिस्तान के अखबार समाटीवी के मुताबिक, मार्च 2015 में केएसई-100 अपने उच्चतम स्तर पर पहुंचा था.

अपने घर में बढ़ती कंगाली को रोकने का कोई ठोस विकल्प नहीं मिला. पाकिस्तान पहले ही कंगाली से जूझ रहा है. बढ़ती महंगाई वहां की आवाम के लिए नासूर बन गई है.

ये भी पढ़ें-भारत से कारोबार बंद कर इमरान खान ने की सबसे बड़ी गलती!

क्यों आ रही है पाकिस्तान के शेयर बाजार में गिरावट- वर्ल्ड बैंक की ओर से जारी रिपोर्ट में कहा गया है कि पाकिस्तान की अर्थव्यवस्था इन दिनों बहुत सुस्त हो चुकी है. साल 2020 तक पाकिस्तान की GDP में सिर्फ 2.7 फीसदी की ग्रोथ का अनुमान है. वहीं, देश में बेरोज़गारी दर अपने उच्चतम स्तर पर पहुंच गई है. ऐसे में कंगाल पाकिस्तान में कोई भी निवेशक पैसे लगाने से बच रहा है.

पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान खान (फाइल फोटो)


पाकिस्तान के स्टॉक ब्रोकर्स कहते हैं कि भारत और पाकिस्तान के बीच बढ़ता तनाव शेयर बाजार को और कमजोर बना रहा है. इसीलिए पिछले 4 सत्र में KSE-100 इंडेक्स 5 फीसदी तक टूट गया है. आगे भी और बड़ी गिरावट की आशंका बनी हुई है.

इमरान खान के राज में तबाह हुआ स्टॉक मार्केट- पाकिस्तान के प्रधानमंत्री नए पाकिस्तान का नारा देकर प्रधानमंत्री बने. लेकिन बीते एक साल के दौरान देश में महंगाई 11 फीसदी हो गई है. वहीं, देश का विदेशी मुद्रा भंडार पूरी तरह से खाली हो चुका है.
Loading...

पाकिस्तान के प्रधानमंत्री नए पाकिस्तान का नारा देकर प्रधानमंत्री बने. लेकिन बीते एक साल के दौरान देश में महंगाई 11 फीसदी हो गई है. (फाइल फोटो)


इसीलिए बीते एक साल के दौरान पाकिस्तान के शेयर बाजार की मार्केट वैल्यू 1 लाख करोड़ पाकिस्तानी रुपये गिर गई है. इस दौरान KSE-100 इंडेक्स 12,596 अंक गिर गया है.

ये भी पढ़ें-भारत से सबसे ज्यादा कौन-कौन से सामान खरीदता है पाकिस्तान?

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए मनी से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: August 9, 2019, 2:36 PM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...