इस राज्य में अब 13 रुपए में मिलेगी पानी की बोतल, बिसलेरी जैसे बड़े ब्रांड को होगा नुकसान

क्यों MRP से ज्‍यादा पानी के दाम वसूल सकते हैं होटल और रेस्‍टोरेंट मालिक

केरल सरकार ने पैकेज्ड ड्रिंकिंग वाटर को लेकर एक बड़ा फैसला लिया है. सरकार ने एसेंशियल कमोडिटीज कानून में शामिल करने के बाद इसकी कीमत पर लगाम लगाने का फैसला किया है.

  • Share this:
    नई दिल्ली. केरल सरकार ने पैकेज्ड ड्रिंकिंग वाटर को लेकर एक बड़ा फैसला लिया है. सरकार ने एसेंशियल कमोडिटीज कानून में शामिल करने के बाद इसकी कीमत पर लगाम लगाने का फैसला किया है. केरल सरकार के इस फैसले से राज्य के 250 करोड़ रुपये के पैकेज्ड वाटर कारोबार पर असर पड़ सकता है. बिसलेरी, कोका कोला और पेप्सिको जैसे बड़े ब्रांड देश भर में पानी की बोतल 20 रुपये प्रति लीटर के हिसाब से बेचते हैं.

    केरल सरकार ने हाल में ही इस बारे में एक कानून पास किया था. इसके बाद सरकार ने कहा था कि एक लीटर की पानी की बोतल 13 रुपये से अधिक कीमत में नहीं बेची जा सकती.

    ये भी पढ़ें: सैलरी खाते पर बैंक देते हैं ये 5 बड़े फायदे, बिल्कुल मुफ्त होती हैं ये सर्विस

    कंपनियां पानी की बोतल महंगे दर पर बेचकर ग्राहकों का शोषण कर रही हैं: केरल सरकार 
    राज्य सरकार का कहना है कि इस समय राज्य में कई कंपनियां पानी की बोतल महंगे दर पर बेचकर ग्राहकों का शोषण कर रही हैं. सरकारी अधिकारियों ने कहा कि पानी की बोतल की कीमत से संबंधित आदेश जल्द जारी किया जा सकता है. केरल बॉटल्ड वाटर मैन्यूफैक्चरर्स एसोसियेशन ने इस फैसले का स्वागत किया किया है.

    बड़ी कंपनियों का इस बारे में कहना है कि पानी लो मार्जिन कैटेगरी का प्रोडक्ट है. एंजेलो जॉर्ज ने अग्रेज़ी वेबसाइट ET को बताया कि पानी के बोतल की अधिकतम कीमत तय कर देने से इंडस्ट्री के लिए कारोबार करना मुश्किल हो सकता है. सरकार को इस तरह का कोई भी फैसला लेने से पहले कंपनियों से चर्चा जरूर करनी चाहिए. हम इंडियन बेवरेजेज एसोसियेशन के जरिये उपभोक्ता एवं नागरिक आपूर्ति मंत्रालय से इस संगठन के सदस्यों में नैरिश को, रेड बुल और टेट्रा पैक जैसी कंपनियां भी शामिल हैं.

    ये भी पढ़ें: खुशखबरी! अब तत्काल टिकट के लिए नहीं होगी कोई टेंशन, रेलवे ने उठाया ये कदम

    पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.